ताज़ा खबर
 

टीम इंडिया की हार: श्रीनगर के बाद अब राजस्‍थान में भी भिड़े J&K के स्‍टूडेंट्स, दो घायल, सभी दस आरोपी जेल में

इसी यूनिवर्सिटी के हॉस्‍टल रूम में बीफ पकाने की अफवाहों के बाद पिछल महीने चार कश्‍मीरी स्‍टूडेंट्स को गिरफ्तार कर लिया गया था। बाद में इन स्‍टूडेंट्स की ओर से अच्‍छा बर्ताव करने का हलफनामा दिए जाने पर रिहा कर दिया गया था।
शुक्रवार को इन स्‍टूडेंट्स को मजिस्‍ट्रेट के सामने पेश किया गया, जिसके बाद उन्‍हें जेल भेज दिया गया। (Photo Source: University Website)

टी20 वर्ल्‍ड कप सेमीफाइनल में गुरुवार को वेस्‍टइंडीज के हाथों भारत की हार के बाद कश्‍मीर के एनआईटी में स्‍टूडेंट्स के बीच हुई मारपीट जैसा एक और मामला सामने आया है। राजस्‍थान की राजधानी जयपुर से 300 किमी दूर चित्‍तौड़गढ़ में एक प्राइवेट यूनिवर्सिटी में पढ़ने वाले कश्‍मीरी स्‍टूडेंट्स के भी मैच खत्‍म होने के बाद मारपीट करने का मामला सामने आया है। इससे पहले की मामला बिगड़ता, पुलिस ने कार्रवाई की और 10 छात्रों को गिरफ्तार कर लिया। इनमें से पांच जम्‍मू जबकि पांच कश्‍मीर से हैं। ये सभी स्‍टूडेंट्स मेवाड़ यूनिवर्सिटी के हैं। बता दें कि यह वही यूनिवर्सिटी है, जहां बीते महीने हॉस्‍टल रूम में बीफ पकाने की अफवाहों के बाद चार कश्‍मीरी स्‍टूडेंट्स को गिरफ्तार कर लिया गया था। बाद में इन स्‍टूडेंट्स की ओर से अच्‍छा बर्ताव करने का हलफनामा दिए जाने के बाद उन्‍हें रिहा कर दिया गया था।

Read Also: कश्मीरी मेडिकल छात्र पर आरोप-भारत की हार के बाद छात्रा से तिरंगा छीनकर हीटर पर जलाया, हिरासत में

Read Also: World-T20 से भारत के बाहर होने पर भिड़े छात्र, बंद कर दिया गया NIT Srinagar

मारपीट की घटना भारत और वेस्‍टइंडीज के मैच के बाद हुई। जम्‍मू के पांच स्‍टूडेंट और कश्‍मीर के पांच स्‍टूडेंट के बीच तीखी बहस हुई, जो बाद में हाथापाई में बदल गई। इसमें जम्‍मू के दो स्‍टूडेंट घायल हो गए। चित्‍तौडगढ़ के एसपी पीके खामेसरा ने द इंडियन एक्‍सप्रेस को बातचीत में बताया, ”हमें स्‍टूडेंट्स के बीच मारपीट की सूचना मिली। हम यूनिवर्सिटी पहुंचे और मामला बिगड़ने से पहले स्‍टूडेंट्स को गिरफ्तार किया गया। सभी दस आरोपियों को शांति भंग के मामले में सीआरपीसी की धारा 151 के तहत गिरफ्तार किया गया है। इस घटना में माणिक और रजित नाम के स्‍टूडेंट घायल हो गए, जिन्‍हें कुछ वक्‍त के लिए अस्‍पताल में भर्ती कराना पड़ा।” शुक्रवार को इन स्‍टूडेंट्स को मजिस्‍ट्रेट के सामने पेश किया गया, जिसके बाद उन्‍हें जेल भेज दिया गया। पुलिस के मुताबिक, इन स्‍टूडेंट्स की जमानत से जुड़ी अर्जियां तैयार न होने की वजह से इन्‍हें जेल भेजा गया। यूनिवर्सिटी प्रशासन ने इस मामले को ज्‍यादा तरजीह नहीं दी है। यूनिवर्सिटी के मीडिया कॉर्डिनेटर हरीश गुरनानी ने कहा, ”यह एक मामूली सी घटना थी। युवा स्‍टूडेंट्स में जोश होता है और क्रिकेट मैच के दौरान हर कोई उत्‍साहित हो जाता है, जिसकी वजह से मामूली लड़ाई हो गई।”

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App

  1. No Comments.