ताज़ा खबर
 

उर्जित पटेल के ‘टीचर’ ने उठाए नोटबंदी पर सवाल, कहा – इससे भ्रष्टाचार के खिलाफ लड़ाई में मदद नहीं मिलेगी

अमेरिका में रहने वाले प्रमुख अर्थशास्त्री टी एन श्रीनिवासन ने नोटबंदी के कदम के प्रभावी होने पर गंभीर संदेह जताया।

रिजर्व बैंक के गवर्नर उर्जित पटेल। (File Photo)

अमेरिका में रहने वाले प्रमुख अर्थशास्त्री टी एन श्रीनिवासन ने नोटबंदी के कदम के प्रभावी होने पर गंभीर संदेह जताते हुए कहा है कि इससे कालेधन की समस्या से लड़ने में मदद नहीं मिलेगी। येल यूनिवर्सिटी से जुड़े श्रीनिवासन ने कहा कि सरकार द्वारा भ्रष्टाचार से निपटने के लिए ‘बहुत सोची समझी’ नीति अपनाए जाने की जरूरत है। एक समय रिजर्व बैंक के गवर्नर उर्जित पटेल को पढ़ाने वाले श्रीनिवासन ने पीटीआई भाषा से कहा, ‘भ्रष्टाचार से लड़ने की कोई सोची समझी भ्रष्टाचार निरोधक नीति न तो थी और न है। भारत में कार्यान्वित नोटबंदी जैसी नीति से भ्रष्टाचार से निपटे जाने और पारदर्शिता बढाया जाने की संभावना नहीं है।’

उन्होंने कहा, ‘हालांकि नोटबंदी की कोई पूर्व घोषणा नहीं की गई लेकिन सरकार के कार्यान्वयन में तैयारी का अभाव व सोच की कमी दिखी।’ श्रीनिवासन ने कहा कि सरकार ने 500 व 1000 रुपयों के नोटों को चलन से बाहर तो कर दिया लेकिन इसका कोई स्पष्ट उद्देश्य नहीं बताया।

प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने 8 नवंबर 2016 को 500, 1,000 रुपए के नोटों को अमान्य कर दिया था। इससे चलन में रही 86 प्रतिशत मुद्रा बाहर हो गई। तब कहा गया था कि इससे देश में भ्रष्टाचार कम होगा। नकली नोटों, आतंकवाद पर भी नकेल लगाने की बात कही गई थी। हालांकि, अबतक बड़े पैमाने पर ऐसा देखने को नहीं मिला है। पाकिस्तान से कश्मीर में घुसने वाले कई आतंकियों के पास से 2000 रुपए के नए नोट मिले थे।

हाल में यूपी के लखनऊ में कथित रूप से आतंकी संगठन ISIS से जुड़ जिस शख्स का एनकाउंटर किया गया था उसके पास से भी 2000 के कुछ नए नोट मिले थे।

देखिए संबंधित वीडियो

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ लिंक्डइन पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App

Next Stories
1 गोवा में आम आदमी पार्टी की हार जितनी ऊपर से दिख रही है उससे कहीं ज्यादा ‘कड़वी’ है…
2 गोवा का सीएम बनते ही मनोहर पर्रिकर ने साधा कांग्रेस पर निशाना – कोई भी विधायक उनको समर्थन नहीं करना चाहता था
3 90 वोट के लिए जनता को शुक्रिया कहने के बाद अब मणिपुर से बाहर एकांतवास पर जाना चाहती हैं इरोम शर्मिला
ये पढ़ा क्या?
X