ताज़ा खबर
 

सावधान: स्वाइन फ्लू से देश में अब तक 624 मौतें

स्वाइन फ्लू से लोगों की मौत का सिलसिला जारी है। इसकी चपेट में आकर मरने वालों की संख्या 620 को पार कर गई है। इसे देखते हुए देश के दवा प्राधिकरण ने मंगलवार को दवा दुकानदारों से पर्याप्त मात्रा में टेमी फ्लू दवा रखने का निर्देश दिया। प्राधिकरण ने दुकानदारों को बिना चिकित्सकीय सलाह के […]

Author February 18, 2015 10:15 AM
स्वाइन फ्लू से अब तक 624 की मौत (फोटो: जनसत्ता)

स्वाइन फ्लू से लोगों की मौत का सिलसिला जारी है। इसकी चपेट में आकर मरने वालों की संख्या 620 को पार कर गई है। इसे देखते हुए देश के दवा प्राधिकरण ने मंगलवार को दवा दुकानदारों से पर्याप्त मात्रा में टेमी फ्लू दवा रखने का निर्देश दिया। प्राधिकरण ने दुकानदारों को बिना चिकित्सकीय सलाह के यह दवा न बेचने की सलाह दी है।

स्वाइन फ्लू के विषाणु ने 15-16 फरवरी को 39 और लोगों की जान ले ली। इसके साथ ही इस साल इस रोग से मरने वालों की संख्या 624 हो गई। अबतक 9311 लोग इस बीमारी के चपेट में आए हैं। यह संख्या पिछले कुछ सालों की तुलना में बहुत ज्यादा है। स्वाइन फ्लू से जिस तेजी से रोगियों की मौत हो रही है, उससे मौत का शिकार होने वाले रोगियों की संख्या 2013 के आंकड़े को पार सकती है। वर्ष 2013 में स्वाइन फ्लू से 699 लोगों की मौत हुई थी। पिछले साल 218 लोग इस बीमारी की भेंट चढ़ गए थे। वर्ष 2012 में इस बीमारी से 405 लोगों की मौत हुई थी।

सूत्रों ने बताया कि स्वास्थ्य मंत्री जेपी नड्डा ने इस संकट का जायजा लेने के लिए मंगलवार को यहां एक उच्च स्तरीय समीक्षा बैठक की अध्यक्षता की। अधिकारियों ने राज्यों से प्राप्त रिपोर्ट और इस संक्रामक बीमारी से निबटने के तौर तरीकों का मूल्यांकन किया।

PICS: SWINE FLU का कहर

सूत्रों के मुताबिक कुछ स्थानों पर दवाओं की कमी की रिपोर्ट मिलने पर भारतीय दवा महानियंत्रक ने 10 हजार से अधिक दवा दुकानदारों को पर्याप्त मात्रा में ओसेलटामिविर दवा रखने को कहा है। इसके साथ ही उन्हें बिना चिकित्सकीय परामर्श के दवा नहीं बेचने को भी कहा गया है। महानियंत्रक ने दवा दुकानदारों से कहा कि वे यह दवा बेचते समय उस परामर्श पत्र की एक छाया प्रति अपने पास रख लें जिसके आधार पर वे यह दवा बेच रहे हों।
स्वाइन फ्लू से सबसे अधिक प्रभावित राज्यों राजस्थान और गुजरात में 16 फरवरी तक इस रोग से मरने वालों की संख्या क्रमश: 176 और 150 हो गई। राजस्थान में सर्वाधिक मौतों की खबर राजधानी जयपुर से है। इस बीच मंगलवार को जोधपुर के राष्ट्रीय विधि विश्वविद्यालय को एक छात्र के स्वाइन फ्लू के पाजिटिव पाए जाने के बाद संस्थान को दस दिन के लिए बंद कर दिया गया।

मध्य प्रदेश में 81 लोगों की स्वाइन फ्लू से मौत हो चुकी है। इंदौर में सबसे अधिक 15 मौतें हुई हैं।

शिमला से मिली खबर के मुताबिक हिमाचल प्रदेश में स्वाइन फ्लू से एक मरीज की जान चली गई। मुख्यमंत्री वीरभद्र सिंह ने स्वास्थ्य विभाग को इस रोग से निबटने के लिए अतिरिक्त कदम उठाने का निर्देश देते हुए कहा कि घबराने की कोई जरूरत नहीं है।

इस बीच दो वरिष्ठ अधिकारियों को स्थिति का मूल्यांकन करने के लिए राष्ट्रीय राजधानी के राममनोहर लोहिया अस्पताल भेजा गया है। जहां से स्वाइन फ्लू रोगियों को दवा हासिल करने में मुश्किलें आने की खबरें मिली हैं।

 

 

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App