ताज़ा खबर
 

CAPF कैंटीन्स में 1000 ‘इंपोर्टेड’ प्रोडक्ट्स को हटाने की जिस अफसर ने बनाई थी लिस्ट, उसे ही कर दिया गया शिफ्ट!

जिस अधिकारी ने गैर-स्वदेशी वस्तुओं को कैंटीनों से हटाने की सूची बनाई थी उन्हें उनके पद से हटाया जा सकता है। केवल स्वदेशी वस्तुओं को बेचने और सीएपीएफ कैंटीन से गैर-स्वदेशी वस्तुओं की बिक्री रोकने के आदेश एमएचए की सहमति से जारी किए गए थे।

गैर-स्वदेशी वस्तुओं को कैंटीनों से हटाने की सूची सार्वजनिक करने के कुछ घंटे बाद ही सरकार ने वापस ले ली थी।

केंद्रीय सशस्त्र पुलिस बलों (सीएपीएफ) की कैंटीनों में एक हजार से अधिक गैर-स्वदेशी वस्तुओं की बिक्री रोकने से संबंधित सूची को सार्वजनिक करने के कुछ घंटे बाद ही सरकार ने इसे वापस ले लिया था। केंद्रीय गृह मंत्रालय के अधिकारियों ने कहा था कि केंद्रीय पुलिस कल्याण भंडार द्वारा जारी की गई सूची में खामियां थीं, इसलिए इसे वापस ले लिया गया। एक सूत्र ने द इंडियन एक्सप्रेस को बताया है कि जिस अधिकारी ने इन प्रोडक्ट्स को हटाने की सूची बनाई थी उन्हें उनके पद से हटाया जा सकता है।

सूत्रों ने कहा कि केंद्रीय पुलिस कल्याण भंडार (केपीकेबी) के मुख्य कार्यकारी अधिकारी (सीईओ) डीआईजी आर मीना को वापस सीआरपीएफ़ में भेजे जाने की संभावना है। जब मीना से इस बारे में पूछा गया तो उन्होंने कहा, “मुझे अभी तक ऐसा कोई आदेश नहीं मिला है।” सूत्रों ने कहा कि केवल स्वदेशी वस्तुओं को बेचने और सीएपीएफ कैंटीन से गैर-स्वदेशी वस्तुओं की बिक्री रोकने के आदेश एमएचए की सहमति से जारी किए गए थे। मीना ने 29 मई को 1,026 वस्तुओं की सूची तैयार की थी।

एक वरिष्ठ सरकारी अधिकारी ने कहा कि एमएचए ने इस मामले को गंभीरता से लेते हुए इस सूची को तैयार करने के लिए जिम्मेदार KPKB सीईओ को सीआरपीएफ़ में वापस भेज दिया जाएगा। साथ ही जांच की जा रही है कि लिस्ट में आइटम्स को कैसे शामिल किया गया। अधिकारी ने कहा कि मेक इन इंडिया के लिए नोडल अधिकारियों के परामर्श के बाद जल्द ही एक नई सूची तैयार की जाएगी।

सीएपीएफ कैंटीनों के बोर्ड का प्रबंधन दायित्व देखने वाले केंद्रीय रिजर्व पुलिस बल (सीआरपीएफ) ने कहा कि सूची ‘गलती से’ जारी कर दी गई थी। सीआरपीएफ महानिदेशक के नाम से जारी बयान में कहा गया, ‘स्पष्ट किया जाता है कि केंद्रीय पुलिस कल्याण भंडार द्वारा कुछ वस्तुओं की बिक्री पर रोक के संबंध में 29 मई 2020 को जारी की गई सूची सीईओ स्तर पर गलती से जारी कर दी गई।’ केंद्रीय रिजर्व पुलिस बल के महानिदेशक कैंटीनों के नेटवर्क को देखने वाले कल्याण एवं पुनर्वास बोर्ड के अध्यक्ष हैं।

केंद्रीय गृह मंत्रालय ने 13 मई को घोषणा की थी कि घरेलू उद्योगों को बढ़ावा देने के प्रयास के तहत देश भर में सीएपीएफ की 1,700 से अधिक कैंटीनों में एक जून से केवल स्वदेशी उत्पादों की बिक्री ही होगी।

Hindi News के लिए हमारे साथ फेसबुक, ट्विटर, लिंक्डइन, टेलीग्राम पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News AppOnline game में रुचि है तो यहां क्‍लिक कर सकते हैं।

Next Stories
1 कोरोना, लॉकडाउन का प्रभावः 8 साल में पहली बार मई में NREGA की रही सर्वाधिक डिमांड, 2.19 करोड़ परिवारों ने लिया लाभ
2 दिल्ली में फ्लाइट, ट्रेन और बस से आने वालों के लिए 7 दिन होम क्वारेंटाइन जरूरी, केजरीवाल सरकार का फैसला
3 मोक्ष सेवा: एक बटन दबाने से होगी अंतिम संस्कार की सारी व्यवस्था