ताज़ा खबर
 

कांगो में शहीद जवान के शव में परिवार वाले, केंद्रीय मंत्री ने सुषमा स्‍वराज से मांगी मदद

दार्जिलिंग से सांसद और संसदीय कार्य राज्‍य मंत्री एसएस आहलूवालिया ने विदेश मंत्री सुषमा स्‍वराज से कांगो में शहीद हुए गोरखा जवान के शव को जल्‍दी लाने के लिए मदद करने को कहा है।

Author Updated: November 7, 2016 4:58 PM
विदेश मंत्री सुषमा स्‍वराज। (Source: Express Photo by Praveen Khanna)

दार्जिलिंग से सांसद और संसदीय कार्य राज्‍य मंत्री एसएस आहलूवालिया ने विदेश मंत्री सुषमा स्‍वराज से कांगो में शहीद हुए गोरखा जवान के शव को जल्‍दी लाने के लिए मदद करने को कहा है। मीडिया को भेजे गए खत में लिखा है कि 4/5 गोरखा राइफल्‍स के ब्रजेश थापा को संयुक्‍त राष्‍ट्र शांति सेना के सदस्‍य के रूप में कांगो भेजा गया था। पिछले सप्‍ताह उनकी मौत हो गई थी। थापा कलिमपोंग जिले के तयांग दांग बस्‍ती के रहने वाले थे। उनका परिवार और गांव शव का इंतजार कर रहे हैं लेकिन इस बारे में उन्‍हें अभी तक कोई जानकारी नहीं मिली है। आहलूवालिया ने स्‍वराज से कहा कि शव को सम्‍मान के साथ लाने के लिए जरूरी कदम उठाए जाएं, जिससे कि परिवार उनका जल्‍द से जल्‍द अंतिम संस्‍कार कर सके। उन्‍होंने स्‍वराज से जवान के परिवार वालों से बात करने को भी कहा।

गौरतलब है कि भारत संयुक्‍त राष्‍ट्र शांति सेना में बड़ा योगदान देता है। आजादी के बाद से भारतीय सैनिक पीसकीपिंग फोर्स के सदस्‍य रहे हैं। सुषमा स्‍वराज विदेश में फंसे भारतीयों को स्‍वदेश लाने के कार्यों को प्राथमिकता देती हैं। सोशल मीडिया के जरिए वे इस तरह के मुद्दों का त्‍वरित निवारण करती हैं। भारत का एक अन्‍य जवान इस समय पाकिस्‍तान की गिरफ्त में है। वह जवान सेना की सर्जिकल स्‍ट्राइक के बाद पाक सीमा में चला गया था।

जम्मू-कश्मीर के शोपियां में मुठभेड़; एक आतंकी ढेर, 2 जवान घायल, देखें वीडियो: 

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ लिंक्डइन पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App

Next Stories
1 अरनब गोस्‍वामी ने किया खुलासा- 2003 में छोड़ना चाहता था पत्रकारिता, अब आगे क्‍या करेंगे यह भी बताया
2 ब्रिटेन जाने वाले छात्रों के लिए वीजा नियम उदार हों: पीएम मोदी
3 जिस जानकारी के चलते एनडीटीवी पर लगा बैन, वैसी बातें चैनल से पहले सेना कर चुकी थी सार्वजनिक, अखबारों और दूसरे चैनलों पर भी आई थीं