ताज़ा खबर
 

‘सबका साथ सबका विकास’ कार्यक्रम में बोलीं सुषमा स्वराज- देश को स्वावलंबी बना रहे हैं प्रधानमंत्री मोदी

सबसिडी इंसान को क्षणिक लाभ तो देती है पर आखिरकार वह व्यक्ति का स्वाभिमान कमजोर करती है।

Author नई दिल्ली | June 13, 2017 04:36 am
विदेश मंत्री सुषमा स्वराज।(Photo Source: AP/File)

केंद्रीय विदेश मंत्री सुषमा स्वराज का कहना है कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी भारत को एक स्वावलंबी समाज के रूप में विकसित करने के लिए काम कर रहे हैं और इसके लिए वे देश की जनता के सबसिडी पर निर्भर करने के बजाय उन्हें विकास के मौके उपलब्ध कराने में विश्वास करते हैं। सुषमा स्वराज ने केंद्र की भाजपा सरकार के तीन साल पूरे होने के मौके पर सोमवार को दक्षिणी दिल्ली संसदीय क्षेत्र में आयोजित ‘सबका साथ सबका विकास’ कार्यक्रम में ये बातें कहीं। उन्होंने कहा कि सबसिडी इंसान को क्षणिक लाभ तो देती है पर आखिरकार वह व्यक्ति का स्वाभिमान कमजोर करती है। कार्यक्रम में दिल्ली भाजपा अध्यक्ष मनोज तिवारी, प्रदेश प्रभारी श्याम जाजू और क्षेत्रीय सांसद रमेश बिधूड़ी भी मौजूद थे।

प्रदेश अध्यक्ष मनोज तिवारी ने इस मौके पर सीरी फोर्ट सभागार में केंद्र सरकार के तीन साल के कार्यों की एक प्रदर्शनी का उद्घाटन किया। कार्यक्रम की शुरुआत में दो लघु फिल्में भी दिखाई गर्इं, जिनमें से एक में मोदी सरकार की उपलब्धियों का जिक्र था, तो दूसरे में सांसद रमेश बिधूड़ी के तीन साल में क्षेत्र में किए गए विकास कार्यों को दर्शाया गया। कार्यक्रम के दौरान केंद्र सरकार की विभिन्न योजनाओं के लगभग 1000 लाभार्थी भी सभागार में मौजूद थे। सुषमा स्वराज ने कहा कि 1970 के दशक में बैंकों का राष्टÑीयकरण किया गया, लेकिन बैंक आम नागरिकों के घर तक चार दशक बाद प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के अथक प्रयासों के बाद पहुंचे। अब लोग जनधन खातों के माध्यम से सरकारी योजनाओं का लाभ तो ले ही रहे हैं और भीम ऐप को इन खातों से जोड़ कर अपने दैनिक जीवन को भी आसान बना रहे हैं।

स्वराज ने कहा कि लाल बहादुर शास्त्री के बाद प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी पहले प्रधानमंत्री हैं जिनके आह्वान पर नागरिकों ने सुविधाएं छोड़ीं। 1960 के दशक में खाद्यान्न की कमी के समय शास्त्री जी के कहने पर करोड़ों लोगों ने हफ्ते में एक दिन का उपवास किया था और आज मोदी जी के कहने पर करोड़ों लोगों ने गैस सबसिडी छोड़कर गरीबों का जीवन आसान किया है। उन्होंने भाजपा कार्यकर्ताओं से केंद्र सरकार की स्टैंडअप योजना का लाभ देश के अनुसूचित जाति व अनुसूचित जनजाति के लोगों तक पहुंचाने और उन्हें अपने पैरों पर खड़ा करने में मदद करने को कहा। केंद्रीय मंत्री ने कहा कि हमारे लिए गर्व का विषय है कि सरकार ने विदेशों में संकट में फंसे 80 हजार से अधिक भारतीयों को सकुशल बाहर निकाला है। प्रधानमंत्री मोदी की इच्छा के तहत मात्र 75 दिनों में संयुक्त राष्टÑ की ओर से 21 जून को अंतरराष्टÑीय योग दिवस घोषित करना, भारत के बढ़ते प्रभाव का परिचायक है।

 

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App