ताज़ा खबर
 

काबुल में अगवा की गई भारतीय महिला स्वदेश पहुंची, नरेंद्र मोदी-सुषमा स्वराज से की मुलाकात

आगा खान फाउंडेशन में काम करने वाली 40 वर्षीय जुडिथ डीसूजा को काबुल से उनके कार्यालय से बाहर नौ जुलाई को अगवा कर लिया गया था।

Author नई दिल्ली | Updated: July 24, 2016 1:19 AM
Sushma Swaraj, Judith D'Souza, Sushma Meet Judith, Judith D'Souza in Kabul, Judith D'Souza news, Judith D'Souza latest newsभारतीय सहायताकर्मी कोलकाता की जूडिथ डिसूजा से मुलाकात करतीं विदेश मंत्री सुषमा स्वराज। (पीटीआई फोटो)

पिछले महीने काबुल में संदिग्ध आतंकवादियों द्वारा अगवा कर ली गईं भारतीय सहायता कर्मी जुडिथ डिसूजा मुक्त कराए जाने के बाद शनिवार (23 जुलाई) को अपने घर लौट आईं। काबुल से लौटने के तुरंत बाद जुडिथ ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और विदेश मंत्री सुषमा स्वराज से मुलाकात की। मोदी ने जुडिथ का भारत में स्वागत किया और उन्हें मुक्त कराने में सहयोग के लिए अफगान राष्ट्रपति अशरफ गनी का शुक्रिया अदा किया। जुडिथ से मिलने के बाद पीएम मोदी ने ट्वीट किया, ‘जुडिथ को घर लाने में सहयोग करने के लिए अफगानिस्तान की सरकार, खासकर राष्ट्रपति अशरफ गनी, का शुक्रिया अदा करना चाहूंगा।’

आगा खान फाउंडेशन में वरिष्ठ तकनीकी सलाहकार के रूप में काम करने वाली 40 वर्षीय जुडिथ डिसूजा को काबुल से उनके कार्यालय से बाहर नौ जुलाई को अगवा कर लिया गया था। अफगानिस्तान में भारत के राजदूत मनप्रीत वोहरा के साथ जुडिथ शनिवार (23 जुलाई) को शाम छह बजे यहां इंदिरा गांधी अंतरराष्ट्रीय हवाई अड्डा पहुंचीं और इसके बाद वह सीधा सुषमा के आवास पर गईं। काफी भावुक नजर आ रही सुषमा ने जुडिथ को गले लगाते हुए कहा, ‘बेटी घर लौट आई है।’

विदेश मंत्रालय में राज्य मंत्री वी के सिंह और एम जे अकबर भी इस मौके पर मौजूद थे। बाद में सुषमा अपने साथ जुडिथ को लेकर मोदी से मिलने गईं। सुषमा ने सुबह के वक्त ट्वीट कर कहा, ‘मुझे आपको बताते हुए खुशी हो रही है कि जुडिथ डिसूजा को मुक्त करा लिया गया है।’ उन्होंने जुडिथ की रिहाई सुनिश्चित करने में अफगान अधिकारियों की ‘मदद और समर्थन’ के लिए उन्हें भी धन्यवाद दिया। विदेश मंत्रालय कोलकाता की रहने वाली जुडिथ की रिहाई सुनिश्चित करने के लिए अफगान अधिकारियों के साथ लगातार संपर्क में था। अभी यह पता नहीं चल सका है कि जुडिथ को किसने अगवा किया था और उन्हें कैसे मुक्त कराया गया। दो अन्य लोगों के साथ उन्हें अगवा किया गया था।

जब जुडिथ हवाई अड्डे पर पहुंची, उस वक्त नई दिल्ली संसदीय क्षेत्र से भाजपा सांसद मीनाक्षी लेखी भी वहां मौजूद थीं। लेखी ने पत्रकारों को बताया कि अगवा करने वालों ने जुडिथ को बहुत अपमानित किया। जुडिथ की रिहाई में वोहरा की कोशिशों की भी विदेश मंत्री ने तारीफ की। कोलकाता में जुडिथ के परिवार ने उन्हें मुक्त कराने के लिए की गई कोशिशों की खातिर सरकार का शुक्रिया अदा किया। जुडिथ की बहन एग्नेस ने पीटीआई-भाषा को बताया, ‘हम अपनी बहन को मुक्त कराने के लिए भारत सरकार के शुक्रगुजार हैं। अब हम उनके घर आने का इंतजार कर रहे हैं । हम मीडिया से अनुरोध करते हैं कि वह हमारी निजता का सम्मान करे।’ जुडिथ रविवार (24 जुलाई) को कोलकाता जाएंगी।

Hindi News के लिए हमारे साथ फेसबुक, ट्विटर, लिंक्डइन, टेलीग्राम पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News AppOnline game में रुचि है तो यहां क्‍लिक कर सकते हैं।

Next Stories
1 सुषमा का नवाज शरीफ पर पलटवार, कहा- पाक का कभी नहीं होगा कश्मीर, ना देखें सपना
2 विजय माल्या की 8 कारें 14 लाख में नीलाम करेगा SBI, 6963 करोड़ का है कर्ज
3 कश्मीर पहुंचे राजनाथ सिंह करें घोषणा नहीं होगा पैलेट गन का इस्तेमाल: कांग्रेस
ये पढ़ा क्या?
X