ताज़ा खबर
 

लालू तिलमिलाएं नहीं, यह बताएं कि चुनाव क्यों नहीं लड़ रहे हैं: सुशील मोदी

लालू प्रसाद पर तीखा प्रहार करते हुए भाजपा के वरिष्ठ नेता एवं पूर्व उपमुख्यमंत्री सुशील कुमार मोदी ने कहा कि चारा घोटाले में सजायाफ्ता लालू प्रसाद को तिलमिलाने की जगह...

Author पटना | October 14, 2015 11:07 PM
सुशील कुमार मोदी ने कहा कि चारा घोटाले में सजायाफ्ता लालू प्रसाद को तिलमिलाने की जगह प्रधानमंत्री के इस सवाल का जवाब बिहार की जनता को देना चाहिए कि वह चुनाव क्यों नहीं लड़ रहे हैं? (पीटीआई फाइल फोटो)

राजद अध्यक्ष लालू प्रसाद पर तीखा प्रहार करते हुए भाजपा के वरिष्ठ नेता एवं पूर्व उपमुख्यमंत्री सुशील कुमार मोदी ने कहा कि चारा घोटाले में सजायाफ्ता लालू प्रसाद को तिलमिलाने की जगह प्रधानमंत्री के इस सवाल का जवाब बिहार की जनता को देना चाहिए कि वह चुनाव क्यों नहीं लड़ रहे हैं?

सुशील मोदी ने बिहार के मुख्यमंत्री पर भी निशाना साधा और कहा, ‘‘मंत्री रिश्वतकांड में चुप्पी तोड़कर नीतीश कुमार को यह बताना चाहिए कि इस मामले में और चार पांच मंत्री कौन हैं? और उनके खिलाफ कौन सी कार्रवाई की जा रही है?’’

उन्होंने सोशल नेटवर्किंग साइट फेसबुक पर लिखा, ‘‘प्रथम चरण में मतदान के बढ़े प्रतिशत से यह साबित हो चुका है कि बिहार की जनता भ्रष्टाचार के प्रतीक और भ्रष्टाचारियों को संरक्षण देने वाले ‘बड़े और छोटे भाई’ को इस बार मौका नहीं देने वाली है।’’

लालू पर हमला जारी रखते हुए भाजपा नेता ने कहा कि 15 साल तक बिहार में जंगलराज कायम रखने वाले, लाखों पिछड़ों दलितों को आरक्षण के अधिकार से वंचित रखने वाले और तकनीक का मजाक उड़ाने वाले लालू अब प्रधानमंत्री के लिए ब्रह्मपिशाच और भाजपा नेताओं के खिलाफ अभ्रद शब्दों का प्रयोग कर रहे हैं। ऐसा करके वह अपने मानसिक दिवालियेपन को उजागर कर रहे हैं, साथ ही उनके कार्यकर्ता जंगलराज की झांकी पेश कर रहे हैं।

सुशील मोदी ने कहा कि लालू प्रसाद ने अपने 15 वर्ष के शासनकाल में बिहार की शिक्षा व्यवस्था को चौपट कर दिया। गरीबों को आरक्षण का लाभ लेने लायक नहीं छोड़ा। उन्होंने सवाल किया कि लालू प्रसाद बतायें कि 15 वर्षो तक शासन करने के बावजूद दलितों पिछड़ों को आरक्षण का लाभ क्यों नहीं मिला?

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App