ताज़ा खबर
 

बॉलीवुड में ड्रग्स: बाबा रामदेव ने जी न्यूज़ पर कहा- सही है कि आप एक ही खबर के पीछे नहीं पड़ते, रिपब्लिक पर बोले- अच्छा है, आप सफ़ाई में लगे हैं

बाबा ने कहा ये लोग किसी के कोई रोल मॉडल नहीं हैं। बाबा ने कहा सारे सारे जो ये ड्रग्स ले रहे हैं ये नशेड़ी हैं भंगेड़ी हैं। इन लोगों ने देश का बंटाधार कर दिया है।

Author Edited By सिद्धार्थ राय नई दिल्ली | Updated: September 27, 2020 6:40 PM
ramdev, sushant singh caseबाबा ने रिपब्लिक टीवी पर कहा कि बॉलीवुड में नशे करने वाले लोग सनातन धर्म के खिलाफ हैं। (file)

बॉलीवुड में ड्रग्स मामले पर जी न्यूज़ से बात करते हुए योग गुरु रामदेव बाबा ने कहा है कि एक्टर और एक्ट्रेस को लोग अपना रोल आइकन मानते हैं ये किसी के आदर्श नहीं हो सकते। बाबा ने ज़ी न्यूज़ की तारीफ की और कहा कि सही है कि आप एक ही खबर के पीछे नहीं पड़ते। बाबा ने कहा सुबह उठकर इन कलाकारों को प्राणायाम करना चाहिए।

बाबा ने कहा कि फिल्मों में दारू पीने सिगरेट पीने पर प्रतिबंध है। ऐसे ही फिल्मों में बुरी चीजों के महिमामंडन पर भी रोक लगना चाहिए। फिल्मों में जितना इनका महिमामंडन किया जाएगा, उतना ही समाज खराब होगा।इसलिए अच्छी चीजों और आदतों का महिमामंडन करना चाहिए।

बाबा ने रिपब्लिक टीवी पर कहा कि बॉलीवुड में नशे करने वाले लोग सनातन धर्म के खिलाफ हैं। ऐसे नशेड़ी लोग किसी के आदर्श नहीं हो सकते। रामदेव ने बॉलीवुड पर जमकर निशाना साधा। उन्होंने कहा कि सुशांत सिंह राजपूत एक जैसा लड़का आत्महत्या नहीं कर सकता उसके खिलाफ साजिश की गई है।

बाबा ने कहा ये लोग किसी के कोई रोल मॉडल नहीं हैं। बाबा ने कहा सारे सारे जो ये ड्रग्स ले रहे हैं ये नशेड़ी हैं भंगेड़ी हैं। इन लोगों ने देश का बंटाधार कर दिया है। ये नशे के नर्क में पले हुए नशीले कीड़े हैं। रामदेव ने रिपब्लिक से कहा कि अच्छा है, आप सफ़ाई में लगे हैं।

रामदेव ने आगे कहा कि कोई मुझे ड्रग्स की एक बूंद पिला दे, शराब पिला दे, गांजा पिला कर दिखाए। अगर मैं नहीं करूंगा तो किसी की हिम्मत नहीं कि पिला दे। मैं लोगों के सामने गलत आदर्श नहीं प्रस्तुत कर सकता। मेरे आह्वान पर हजारों साधुओं ने गांजा पीना छोड़ दिया।

रामदेव ने आगे कहा कि त्योहारों के नाम पर भांग पीने वाले, जुंआ खेलने वाले, गांजा पीने वाले अपने होली-दिवाली त्योहार को बदनाम करते हैं। रामदेव ने कहा “हम भगवान राम, कृष्ण, हनुमान की उपासना करते हैं. ये हमारी कौन-सी परंपरा है। हमारी परंपरा दिव्यता की है। किसी शास्त्र में नहीं लिखा है कि हमारे पूर्वज नशा करते थे। पूर्वजों की आड़ में नशा करन धर्म नहीं है, ये पाप है।”

Hindi News के लिए हमारे साथ फेसबुक, ट्विटर, लिंक्डइन, टेलीग्राम पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News AppOnline game में रुचि है तो यहां क्‍लिक कर सकते हैं।

Next Stories
1 तनातनी के बीच LAC पर भारत ने तैनात किए टैंक व सैन्य वाहन, -40 डिग्री सेल्सियस तक के हालात में दुश्मन को दे सकते हैं जवाब
2 इस वर्ष के अंत तक चारों श्रम संहिता लागू करेगी सरकार- केंद्रीय मंत्री संतोष गंगवार
3 SSR Case पर डिबेट में शोएब चौधरी के लिए बोले अरनब गोस्वामी- ये हंस रहे हैं, कल के प्रड्यूसर हैं; मिला पैनलिस्ट से जवाब- हिम्मत है तो ऑडियो ऑन रखना मेरा…
यह पढ़ा क्या?
X