ताज़ा खबर
 

SSR Case: सामने आई थ्योरी- ऐक्टर की नहीं हुई हत्या, डिबेट में बोले रिया के वकील- सुशांत के परिवार ने इस लड़की की जिंदगी कर दी तबाह

AIIMS के डॉक्टरों के एक पैनल ने शनिवार को बताया की सुशांत सिंह राजपूत की हत्या नहीं हुई थी। इसपर रिया के वकील विकास गुप्ता ने कहा कि सुशांत के परिवार ने अभिनेत्री की जिंदगी तबाह कर दी है।

Author Edited By सिद्धार्थ राय नई दिल्ली | Updated: October 3, 2020 11:08 AM
SSR Death Case, AIIMS pannel Report, Sushant Death Cases,Sushant singh rajput case: डॉक्टरों की पैनल ने अभिनेता के परिवार और उनके वकीलों की हत्या की थ्योरी को खारिज कर दिया है। (file)

बॉलीवुड अभिनेता सुशांत सिंह राजपूत की अत्महत्या के मामले में एक नया खुलासा हुआ है। पिछले कई महीनों से कुछ मीडिया रिपोर्ट्स और सोशल मीडिया पर दावा किया जा रहा था कि सुशांत की हत्या हुई है। अखिल भारतीय आयुर्विज्ञान संस्थान (AIIMS) के डॉक्टरों के एक पैनल ने शनिवार को बताया की सुशांत सिंह राजपूत की हत्या नहीं हुई थी। मीडिया रिपोर्ट के मुताबिक डॉक्टरों की पैनल ने अभिनेता के परिवार और उनके वकीलों की थ्योरी को खारिज कर दिया है कि उन्हें जहर दिया गया था और गला दबाकर मारा गया था।

इसपर एनडीटीवी न्यूज़ चैनल में हो रही एक डिबेट के दौरान अभिनेत्री रिया चक्रवर्ती के वकील ने अभिनेता के परिवार पर गंभीर आरोप लगाए हैं। रिया के वकील विकास गुप्ता ने कहा कि सुशांत के परिवार ने अभिनेत्री की जिंदगी तबाह कर दी है। वकील ने कहा कि जिस दिन सुशांत के वकील विकास सिंह ने यह बयान दिया था कि उनकी हत्या हुई है। मैंने उनसे पूछा था कि इसके पीछे का सोर्स क्या है? पीड़ित परिवार एफ़आईआर कर मुकदमा दर्ज़ कर सकते हैं। लेकिन जांच कैसे होने चाहिए यह तय नहीं कर सकते।

रिया के वकील ने कहा यह पहली बार नहीं है जब ऐसा हुआ है। कुछ इंग्लिश मीडिया चैनल #rheaarrest चला रहे थे। मीडिया के एक वर्ग ने और सुशांत के परिवार ने रिया की जिंदगी बर्बाद कर दी है। मीडिया ने दिशा के केस को इससे जोड़ा, गवाहों को लाइव शो में बुलाकर उनके बयान लिए।

बता दें एम्स पैनल ने मुंबई के उस अस्पताल की राय पर अपनी सहमति जाहिर की है, जिसने अभिनेता का पोस्टमार्टम किया था। मुंबई के अस्पताल ने शव परीक्षण रिपोर्ट में मौत के कारण के रूप में “फांसी के कारण श्वास अवरोध” का जिक्र किया था।

34 वर्षीय फिल्म स्टार 14 जून को अपने मुंबई स्थित अपार्टमेंट में मृत पाए गए थे। मुंबई पुलिस ने शव परीक्षण के आधार पर इसे आत्महत्या का मामला करार दिया था लेकिन सोशल मीडिया पर लगे आरोपों, सुशांत को न्याय दिलाने के लिए चलाए गए अभियानों और राजपूत परिवार के संदेह के आरोपों के बाद ये मामला सीबीआई को सौंप दिया गया है।

Next Stories
1 COVID-19: लोन लेने वालों को ब्याज पर मिलेगी बड़ी राहत- नरेंद्र मोदी सरकार ने SC में किया लिखित वादा
2 दुनिया की सबसे लंबी हाईवे सुरंग है Atal Tunnel, PM नरेंद्र मोदी ने किया उद्घाटन, जानें खासियत
3 हाथरस कांड: पहली बार BJP के किसी बड़े नेता ने की योगी आदित्यनाथ की खिंचाई, उमा भारती ने कार्रवाई पर दागे सवाल
यह पढ़ा क्या?
X