ताज़ा खबर
 

Sushant Singh Case: ड्रग्स पैडलर के पिता ने की टीवी रिपोर्टर से बदसलूकी, सवाल पूछने पर कर दी पिटाई

सोशल मीडिया पर यह वीडियो वायरल हो रहा है। वीडियो में नजर आ रहा है कि जैद का पिता दरवाजा खोलता है रिपोर्टर उनसे सवाल करना चाहता है इसपर वह जवाब देने के बजाए रिपोर्टर के साथ बदसलूकी करता है।

Sushant Singh Rajpoot, CBI, NCBसुशांत सिंह राजपूत मामले में एनसीबी ड्रग्स एंगल से भी जांच कर रही है।

सुशांत सिंह राजपूत मामले में सीबीआई जांच कर रही है और इस मामले में नए मोड़ आते जा रहे हैं।आत्महत्या से शुरू हुआ ये मामला अब ड्रग्स की ओर मुड़ चुका है। इस मामले में एनसीबी ने दो लोगों को गिरफ्तार किया है। बताया जा रहा है कि रिया के भाई शोविक चक्रवर्ती का ड्रग पैडलर जैद विलात्रा के बीच संबंध था। जैद को मंगलवार को एनसीबी टीम ने मुंबई के बांद्रा इलाके से पकड़ा है।

इसी कड़ी में जैद विलात्रा के घर एक टीवी चैनल के रिपोर्टर ने बातचीत करनी चाही तो जैद के पिता ने रिपोर्टर के साथ बदतमीजी की और उनके साथ मारपीट भी की। सोशल मीडिया पर यह वीडियो वायरल हो रहा है। वीडियो में नजर आ रहा है कि जैद का पिता दरवाजा खोलता है रिपोर्टर उनसे सवाल करना चाहता है इसपर वह  जवाब देने के बजाए रिपोर्टर के साथ बदसलूकी करता है और फिर सीढ़ियों तक आते-आते उनके साथ मारपीट करने लगता है। वीडियो में जैद का पिता अपशब्द कहते भी नजर आ रहा है।

रिपोर्टर कहता सर आप कुछ कहना चाहेंगे आपका बेटा अरेस्ट हुआ है ड्रग्स पैडलिंग में।इस पर जैद का पिता बाहर आता है और कहता है मैं इज्जत से कह रहा हूं यहां से चले जाओ। इसके बाद वह रिपोर्टर को धक्का देने लगता है। रिपोर्टर के मना करने के बाद भी वह नहीं मानता और लगातार उनके साथ बदसलूकी करता है।

बता दें कि एनसीबी ने पूछताछ में पाया कि जैद विलात्रा बासित परिहार और सूर्यदीप मल्होत्रा के टच में था। ये दोनों लोग शौविक चक्रवर्ती के संपर्क में थे। इन दोनों के साथ शौविक की बातचीत को पुख्ता करने वाली चैट्स भी मिली हैं। इस मामले में अबतक तीन लोगों की गिरफ्तापी हुई है जिनमें करन ,अब्बास और जैद शामिल हैं।

Next Stories
1 नरेंद्र मोदी निर्मित त्रासदियों से जूझ रहा देश, GDP -23.9 हुई, 12 करोड़ नौकरियां गईं – राहुल गांधी का ट्वीट
2 आठ घंटे तक कंधे पर लाश ले 25KM पैदल चले ITBP के जवान, पेश की मानवता की मिसाल
3 नरेंद्र मोदी की तारीफ़ से प्रशांत भूषण जैसों को लोकतंत्र के लिए ख़तरा बताने तक…अक्सर चर्चा में रहे जस्टिस अरुण मिश्रा
यह पढ़ा क्या?
X