ताज़ा खबर
 

सर्वे: देश के 10 लोकप्रिय मुख्यमंत्रियों में भाजपा का सिर्फ एक चेहरा, टॉप पर योगी आदित्यनाथ, जानें- सबसे नीचे कौन?

खास बात ये है कि सर्वे में जो 7 सबसे लोकप्रिय सीएम चुने गए हैं, उनमें से 6 सीएम गैर-बीजेपी और गैर -कांग्रेसी हैं।

yogi adityanath uttar pradesh best cm mamata banerjee arvind kejriwalउत्तर प्रदेश के सीएम योगी आदित्यनाथ। (एक्सप्रेस फोटो)

एक सर्वे में उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ देश के सबसे लोकप्रिय मुख्यमंत्री चुने गए हैं। गौरतलब है कि योगी आदित्यनाथ लगातार तीसरी बार सबसे लोकप्रिय सीएम चुने गए हैं। बता दें कि इंडिया टुडे और कार्वी ने मूड ऑफ द नेशन (MOTN) नाम से सर्वे किया था। इसी सर्वे में योगी आदित्यनाथ को सबसे ज्यादा 24 फीसदी मत मिले हैं। यह सर्वे ऐसे समय हो रहा है, जब उत्तर प्रदेश की योगी सरकार कानपुर एनकाउंटर और अपहरण की घटनाओं को लेकर आलोचकों के निशाने पर है।

खास बात ये है कि सर्वे में जो 7 सबसे लोकप्रिय सीएम चुने गए हैं, उनमें से 6 सीएम गैर-बीजेपी और गैर -कांग्रेसी हैं। पश्चिम बंगाल की सीएम ममता बनर्जी जो कि पहले के सर्वे में देश की सबसे लोकप्रिय सीएम चुनी गई थीं, वो अब लुढ़कर चौथे पायदान पर आ गई हैं। योगी आदित्यनाथ के बाद दूसरे स्थान पर दिल्ली के सीएम अरविंद केजरीवाल हैं।

वहीं आंध्र प्रदेश के सीएम जगन रेड्डी तीसरे स्थान पर काबिज हैं। इस सर्वे में पांचवें स्थान पर अन्य सीएम को रखा गया है। वहीं छठे स्थान पर बिहार के सीएम नीतीश कुमार का नाम शामिल है। सातवें नंबर पर महाराष्ट्र के सीएम उद्धव ठाकरे हैं। वहीं आठवां नंबर ओडिशा के सीएम नवीन पटनायक का है।

इनके बाद तेलंगाना के सीएम केसीआर, राजस्थान के सीएम अशोक गहलोत, कर्नाटक के बीएस येदियुरप्पा, छत्तीसगढ़ के सीएम भूपेश बघेल और शिवराज सिंह चौहान का नाम है। गुजरात के सीएम विजय रुपाणी सबसे निचले पायदान पर हैं।

जनवरी 2020 के सर्वे में भी योगी आदित्यनाथ टॉप पर रहे थे और उन्हें 18 फीसदी मत मिले थे। जबकि अरविंद केजरीवाल और ममता बनर्जी 11-11 फीसदी मत पाकर दूसरे स्थान पर रहे थे। अगस्त 2019 के सर्वे में भी योगी आदित्यनाथ सबसे लोकप्रिय सीएम चुने गए थे।

बता दें कि यह सर्वे विभिन्न लोगों के इंटरव्यू करके पारंपरिक तौर पर किया जाता है। हालांकि इस बार कोरोना माहमारी के चलते इस बार यह सर्वे टेलीफोन पर बात करके किया गया है। सर्वे के दौरान 12021 लोगों से बात की गई। इनमें से 67 फीसदी ग्रामीण और 33 फीसदी शहरी इलाकों के लोक शामिल थे।

सर्वे के दौरान 19 राज्यों आंध्र प्रदेश, असम, बिहार, छत्तीसगढ़, दिल्ली, गुजरात, हरियाणा, झारखंड, कर्नाटक, केरल, मध्य प्रदेश, महाराष्ट्र, ओडिशा, पंजाब, राजस्थान, तमिलनाडु, तेलंगाना, उत्तर प्रदेश और पश्चिम बंगाल के लोगों से बात की गई। इसके साथ ही 97 संसदीय क्षेत्र और 194 विधानसभा के लोगों को इस सर्वे में शामिल किया गया।

Next Stories
1 किसे मिलेगी सबसे पहले वैक्सीन? ये मुल्क हैं रेस में सबसे आगे, जानें
2 लोग हमेशा हिन्दू रूढ़िवाद की आलोचना करते हैं पर बुर्का, शरिया, मदरसा और मौलाना पर साध लेते हैं चुप्पी, SC के पूर्व जज का पत्रकारों पर निशाना
3 राजस्थान में कांग्रेस की फूट का फायदा नहीं लेना चाह रही बीजेपी? वसुंधरा के दिल्ली दौरे के बाद सियासी गलियारों में चर्चा
यह पढ़ा क्या?
X