ताज़ा खबर
 

आतंक, नौकरी और भ्रष्टाचार को लेकर सबसे ज्यादा चिंतित भारतीय: सर्वे

सर्वे में कहा गया है कि पुलवामा आतंकवादी हमले के बाद भारत में आतंकवाद एक प्रमुख मुद्दा बनकर उभरा है। भारतीय आतंकवाद को लेकर सबसे अधिक चिंतित हैं।

Author April 15, 2019 10:19 PM
तस्वीर का प्रयोग प्रतीकात्मक तौर पर किया गया है। (Photo: Freepik)

भारतीय आतंकवाद, बेरोजगारी और वित्तीय तथा राजनीतिक भ्रष्टाचार को लेकर सबसे अधिक चिंंतित हैं। इप्सॉस के ‘व्हॉट वरीज द वर्ल्ड ग्लोबल सर्वे’ में कहा गया है कि 73 भारतवासी इस बात को लेकर आशान्वित हैं उनका देश सही दिशा में जा रहा है। चिंताओं के बावजूद भारत के लोग निराश नहीं हैं। इस सर्वे में 28 में से 22 देशों के लोग मानते हैं कि उनका देश गलत दिशा में जा रहा है। दुनिया के 28 बाजारों में किए गए सर्वे में मुद्दे भिन्न-भिन्न हैं। दुनिया के लोगों की प्रमुख चिंता वित्तीय और राजनीतिक भ्रष्टाचार और गरीबी तथा सामाजिक असमानता जैसे मुद्दे शीर्ष पर है। उसके बाद बेरोजगारी, अपराध और हिंसा और स्वास्थ्य देखभाल का नंबर आता है।

सर्वे में कहा गया है कि पुलवामा आतंकवादी हमले के बाद भारत में आतंकवाद एक प्रमुख मुद्दा बनकर उभरा है। भारतीय आतंकवाद को लेकर सबसे अधिक चिंतित हैं। इप्सॉस जन मामले, ग्राहक अनुभव और कॉरपोरेट प्रतिष्ठा के सर्विस लाइन लीडर परिजात चक्रवर्ती का कहना है कि इसके अलावा भारतीय रोजगार को लेकर भी खासे चिंतित हैं। यह एक मासिक आनलाइन सर्वे हैं जिसमें 28 देशों के 65 वर्ष की आयु तक के बालिग लोगों की राय ली गई। यह सर्वे भारत, चीन, फ्रांस, जर्मनी, सऊदी अरब और अमेरिका सहित अन्य देशों में किया गया।

भारत में नौकरी की जरूरत लाेगों को इतनी ज्यादा है कि लोकसभा चुनाव में मुख्य विपक्षी पार्टी कांग्रेस ने इसे चुनावी मुद्दा बना लिया है। कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी ने सोमवार को महाराष्ट्र के नांदेड़ में चुनावी रैली को सोमवार को संबोधित करते हुए कहा कि भारत में पिछले 45 वर्षों में बेरोजगारी अपने चरम पर है। भारत के युवाओं को दो करोड़ नौकरियां देने का वादा नरेंद्र मोदी पूरा नहीं कर पाए। कांग्रेस के सत्ता में आने पर हम हर साल 22 लाख नौकरियां देंगे। कांग्रेस ने अपने चुनावी अभियान में ‘न्याय’ योजना, गरीबी उन्मूलन, युवाओं के लिए नौकरियां, किसान, महिला आरक्षण, सरलीकृत जीएसटी, सार्वभौमिक स्वास्थ्य सेवा, शिक्षा एवं उद्यम जैसे मुद्दों को शामिल किया है।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ लिंक्डइन पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App