ताज़ा खबर
 

सर्जिकल स्ट्राइकः रविशंकर प्रसाद ने कहा, ‘आतंकियों का हौसला बढ़ा रही कांग्रेस, PAK से मिलेगा सर्टिफिकेट’

प्रसाद ने ये बातें हाल ही में सामने आए सर्जिकल स्ट्राइक के वीडियो को लेकर कहीं। उन्होंने यह भी कहा कि इस वीडियो पर राजनीति नहीं की जानी चाहिए।

केंद्रीय मंत्री रविशंकर प्रसाद। (फोटोः पीटीआई)

केंद्रीय मंत्री रविशंकर प्रसाद ने कहा है कि कांग्रेस आतंकियों का हौसला बढ़ा रही है। ऐसा कर वह भारतीय सेना के मनोबल को तोड़ने का प्रयास कर रही है। कांग्रेस नेताओं के बयानों से पाकिस्तान खुश होता है। वही पार्टी को सर्टिफिकेट देगा। प्रसाद ने ये बातें हाल ही में सामने आए सर्जिकल स्ट्राइक के वीडियो को लेकर कहीं। उन्होंने यह भी कहा कि इस वीडियो पर राजनीति नहीं की जानी चाहिए।

प्रसाद ने गुरुवार (28 जून) को प्रेस कॉन्फ्रेंस की। उन्होंने बताया, “सेना पर सवाल उठाना बंद किया जाना चाहिए। कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी ने सर्जिकल स्ट्राइक को खून की दलाली करार दिया था। कांग्रेस नेताओं ने सेना प्रमुख के बारे में अपमानजनक शब्द इस्तेमाल किए थे। राहुल से इससे अधिक उम्मीद नहीं की जा सकती है। कारण- उनकी मां सोनिया ने भी पीएम मोदी को एक बार मौत का सौदागर बताया था।”

केंद्रीय मंत्री आगे बोले, “कांग्रेसी नेता गुलाम नबी आजाद कहते हैं कि सेना आतंकियों को कम और आम नागरिकों को अधिक मारती है। कांग्रेस के ऐसे बयानों से पाकिस्तान ही खुश होगा। हमें इस प्रकार की चीजों से ऊपर उठकर सोचना होगा।

बकौल प्रसाद, “कांग्रेस बार-बार अपनी हार से हताश हो चुकी, जिसकी वजह से वह देश की सेना का मनोबल गिराने का प्रयास कर रही है। सेना का बजट कम करने का कांग्रेस का आरोप भी गलत है। सर्जिकल स्ट्राइक के वीडियो पर राजनीति करना ठीक बात नहीं है।

यह है पूरा मसलाः 2016 में जम्मू-कश्मीर के उड़ी में सर्जिकल स्ट्राइक हुई थी। अब उसी का वीडियो सामने आया है। कांग्रेस ने उसी को लेकर बीजेपी पर सवाल खड़े किए। कहा कि मोदी सरकार सेना के साहस को वोट के तौर पर भुनाने का प्रयास न करे। बता दें कि भारतीय सेना ने तब 29 सितंबर को लाइन ऑफ कंट्रोल पार कर के पाकिस्तान अधिकृत कश्मीर (पीओके) में आतंकी ठिकानों को तबाह किया था। हालांकि, अभी तक सेना ने उस वीडियो पर कोई पुष्टि नहीं की है।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ लिंक्डइन पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App