ताज़ा खबर
 

ईवीएम पर विपक्ष को झटका, सुप्रीम कोर्ट ने खारिज की 50 फीसदी पर्चियों के मिलान की याचिका

21 विपक्षी पार्टियों ने कोर्ट में याचिका दाखिल कर मांग की थी कि मौजूदा लोकसभा चुनावों में ईवीएम में वीवीपैट वैरिफिकेशन को 5 मशीनों से बढ़ाकर 50% मशीनों तक किया जाए।

सुप्रीम कोर्ट ।

ईवीएम में कथित धांधली का आरोप लगाने वाली विपक्षी पार्टियों को बड़ा झटका लगा है। दरअसल सुप्रीम कोर्ट ने विपक्षी पार्टियों की इससे संबंधी याचिका खारिज कर दी है। बता दें कि 21 विपक्षी पार्टियों ने कोर्ट में याचिका दाखिल कर मांग की थी कि मौजूदा लोकसभा चुनावों में ईवीएम में वीवीपैट वैरिफिकेशन को 5 मशीनों से बढ़ाकर 50% मशीनों तक किया जाए। लेकिन सुप्रीम कोर्ट ने याचिका खारिज कर दी है। बताया जा रहा है कि सुप्रीम कोर्ट ने इस याचिका का खारिज करने में ज्यादा देर भी नहीं लगायी। 21 विपक्षी राजनैतिक पार्टियों की तरफ से आंध्र प्रदेश के सीएम चंद्रबाबू नायडू, आम आदमी पार्टी के राज्यसभा सांसद संजय सिंह, सीपीआई सांसद डी.राजा और नेशनल कॉन्फ्रेंस के नेता फारुख अब्दुल्ला भी सुप्रीम कोर्ट पहुंचे थे।

बता दें कि इससे पहले विपक्षी पार्टियों के नेताओं ने चुनाव आयुक्त से भी मुलाकात की थी और मांग की कि लोकसभा चुनावों के अंतिम परिणाम घोषित करने से पहले 50 फीसदी इलेक्ट्रॉनिक वोटिंग मशीनों और वीवीपैट मशीनों की पर्चियों का मिलान कराया जाए। हालांकि पूर्व मुख्य चुनाव आयुक्त टीएस कृष्णमूर्ति ने ही विपक्षी पार्टियों की इस मांग को यह कहते हुए खारिज कर दिया था कि ईवीएम विश्वसनीय है। उन्होंने कहा कि मुझे लगता है कि चुनाव आयोग ने इस बात के संकेत पहले ही दे दिए थे कि रातों रात यह व्यवस्था लागू नहीं हो सकती। हालांकि उन्होंने यह भी कहा कि वह यह नहीं कह रहे हैं कि विपक्षी पार्टियों की मांग जायज नहीं है या फिर अवांछनीय है, लेकिन इस नई व्यवस्था के लिए चुनाव आयोग को कुछ समय देना होगा।

प्रधान न्यायाधीश रंजन गोगोई, न्यायमूर्ति दीपक गुप्ता और न्यायमूर्ति संजीव खन्ना की पीठ ने कहा, ‘‘हम अपने आदेश को संशोधित करने के इच्छुक नहीं हैं।’’ याचिकाकर्ताओं की ओर से वरिष्ठ अधिवक्ता अभिषेक मनु सिंघवी ने पीठ को बताया कि शीर्ष अदालत ने प्रत्येक विधानसभा क्षेत्र में वीवीपैट र्पिचयों के ईवीएम के साथ औचक मिलान को बढ़ा कर पांच मतदान केंद्र तक कर दिया था लेकिन अब वे मांग कर रहे हैं कि इसे कम से कम 25 प्रतिशत तक बढ़ाया जाए। सिंघवी ने पीठ से कहा, ‘‘ यह भरोसा बनाने के कदमों की संतुष्टि के लिए होगा।’’

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ लिंक्डइन पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App