ताज़ा खबर
 

‘चौकीदार चोर है’ कांग्रेस का नारा, सुप्रीम कोर्ट का जवाब- हमारी कोई दिलचस्पी नहीं, इसे अपने पास रखें

सिंघवी ने कहा कि चौकीदार चोर है, यह कांग्रेस का प्रधानमंत्री मोदी के खिलाफ चुनावी नारा है। यह उनका राजनैतिक स्टैंड है, जिसे राहुल प्रचारित कर रहे हैं।

Loksabha Elections 2019, SC, Angry, Affadavit, Congress, Contempt Case, Rahul Gandhi, Lawyer, Abhishek Manu Singhvi, Sorry, New Delhi, State News, National News, Hindi Newsसुप्रीम कोर्ट।

राफेल मामले पर सुप्रीम कोर्ट की टिप्पणी को गलत तरीके से पेश करने के लिए राहुल गांधी के खिलाफ सुप्रीम कोर्ट में अवमानना केस की सुनवाई चल रही है। मंगलवार को राहुल गांधी की तरफ से पेश हुए वकील अभिषेक मनु सिंघवी ने हलफनामा पेश किया। इस पर चीफ जस्टिस रंजन गोगोई ने अभिषेक मनु सिंघवी से सवाल किया कि आपके क्लाइंट बयान भी देते हैं और उसे उचित भी ठहराने की कोशिश कर रहे हैं। हमने अपने फैसले में यह सब कब कहा? इस पर सिंघवी ने कहा कि चौकीदार चोर है, यह कांग्रेस का प्रधानमंत्री मोदी के खिलाफ चुनावी नारा है। यह उनका राजनैतिक स्टैंड है, जिसे राहुल प्रचारित कर रहे हैं।

इस पर चीफ जस्टिस ने कहा कि आपके राजनैतिक स्टैंड में हमारी कोई दिलचस्पी नहीं है। इसे अपने पास रखें। माफी को लेकर आपका बयान कहां हैं? सुप्रीम कोर्ट ने कहा कि हलफनामे में विरोधाभास है। एक जगह वो कहते हैं कि बयान दिया है और दूसरी जगह ऐसा करने से मना करते हैं। इस पर अभिषेक मनु सिंघवी ने सोमवार यानी कि 6 मई को नया हलफनामा दायर करने की इजाजत मांगी है। अवमानना केस की सुनवाई चीफ जस्टिस रंजन गोगोई, जस्टिस एसके कौल और केएम जोसेफ की पीठ कर रही है।

बता दें कि बीते दिनों सुप्रीम कोर्ट ने राफेल मामले पर पुनर्विचार याचिका का स्वीकार किया था। जिस पर राहुल गांधी ने बयान दिया था कि अब तो सुप्रीम कोर्ट ने भी मान लिया है कि चौकीदार चोर है। राहुल गांधी के इस बयान के खिलाफ भाजपा सांसद मीनाक्षी लेखी सुप्रीम कोर्ट चली गई थीं। मीनाक्षी लेखी ने अपनी याचिका में राहुल गांधी द्वारा सुप्रीम कोर्ट की अवमानना करने का आरोप लगाया। जिस पर कोर्ट ने राहुल गांधी को नोटिस जारी कर जवाब मांगा था। राहुल गांधी ने अपने पहले हलफनामे में कोर्ट से माफी मांगी थी। लेकिन कोर्ट इससे संतुष्ट नहीं हुआ और नया हलफनामा देने का आदेश दिया था। जिस पर राहुल गांधी के वकील अभिषेक मनु सिंघवी ने मंगलवार को दूसरा हलफनामा दाखिल किया। कोर्ट ने इसे भी विरोधाभासी बताया। इस पर अभिषेक मनु सिंघवी ने नया हलफनामा दाखिल करने की इजाजत मांगी, जिसे कोर्ट ने मान लिया है। अब इस मामले पर 6 मई को अगली सुनवाई होगी।

Hindi News के लिए हमारे साथ फेसबुक, ट्विटर, लिंक्डइन, टेलीग्राम पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News AppOnline game में रुचि है तो यहां क्‍लिक कर सकते हैं।

Next Stories
1 राहुल गांधी की नागरिकता पर बवाल: इन 7 कारणों से सवालों के घेरे में मोदी सरकार का नोटिस
2 शिवसेना और हिंदू सेना ने मोदी से की बुर्के पर बैन लगाने की मांग, एनडीए सरकार के मंत्री बोले- हर बुर्काधारी महिला आतंकी नहीं
3 जैन मुनि पर आपत्तिजनक टिप्पणी का आरोप, विशाल डडलानी और तहसीन पूनावाला पर हाई कोर्ट ने लगाया 10 लाख का जुर्माना