ताज़ा खबर
 

दिल्ली दंगा के आरोपी छात्रों की ज़मानत पर बोला सुप्रीम कोर्ट, दूसरे केस में इसे न बनाएं मिसाल, हाई कोर्ट ने पलटा UAPA

सुप्रीम कोर्ट ने कहा है कि फिलहाल तीनों स्टूडेंट की ज़मानत पर तो रोक नहीं लगाई जा सकती लेकिन इस मामले को अन्य केस में मिसाल के दौर पर नहीं इस्तेमाल किया जा सकेगा।

तिहाड़ से रिहा होने के बाद नताशा नरवाल और देवांगना कलिता। फोटो- ट्विटर @xavi_galiana

दिल्ली दंगा के आरोपी स्टूडेंट्स को दिल्ली हाई कोर्ट से ज़मानत मिलने के बाद पुलिस की याचिका पर सुप्रीम कोर्ट ने तीनों आरोपियों को नोटिस जारी किया है। सुप्रीम कोर्ट ने यह भी कहा है कि इस मामले को दूसरे किसी केस में मिसाल के तौर पर न इस्तेमाल किया जाए। उच्चतम न्यायालय ने शुक्रवार को कहा कि आतंकवाद रोधी कानून यूएपीए को इस तरह से सीमित करना एक महत्वपूर्ण मुद्दा है और इसके पूरे भारत पर असर हो सकते हैं।

जस्टिस हेमंत गुप्ता और जस्टिस वी रामसुब्रमण्यम की अवकाशकालीन पीठ ने हालांकि यह स्पष्ट कर दिया कि अभी के लिए इन छात्र कार्यकर्ताओं को मिली जमानत पर कोई असर नहीं पड़ेगा। सॉलिसिटर जनरल तुषार मेहता ने यह दलील दी कि उच्च न्यायालय ने तीन छात्र कार्यकर्ताओं को जमानत देते हुए पूरे आतंकवादी रोधी कानून यूएपीए को पलट दिया है। इस पर गौर करते हुए पीठ ने कहा कि हमारी परेशानी यह है कि उच्च न्यायालय ने जमानत के फैसले में पूरे यूएपीए पर चर्चा करते हुए ही 100 पृष्ठ लिखे हैं।

दिल्ली हाई कोर्ट ने 15 जून को जेएनयू छात्र नताशा नरवाल और देवांगना कालिता और जामिया के छात्र आसिफ इकबाल तन्हा को जमानत दी थी। उच्च न्यायालय ने तीन अलग-अलग फैसलों में छात्र कार्यकर्ताओं को जमानत देने से इनकार करने वाले निचली अदालत के आदेश को रद्द कर दिया था।

दिल्ली पुलिस की तरफ से पेश हुए सॉलिसिटर जनरल तुषार मेहता ने दिल्ली हाई कोर्ट के फैसले पर रोक लगाने की मांग की थी। मेहता ने कहा कि ये आरोपी डोनाल्ड ट्रंप के दौरे के समय दंगा भड़काने की साजिश रच रहे थे। अडिशनल सॉलिसिटर जनरल अमान लेखी ने कहा कि हाई कोर्ट ने UAPA के सेक्शन 15 को अपने तरीके से परिभाषित किया है।

SG ने कहा कि इन दंगों में सैकडों लोग घायल हुए थे लेकिन कोर्ट का कहना है कि दंगे नियंत्रित हो गए थे इसलिए यह कोई अपराध नहीं है। यह तो उसी तरह है जैसे कि कोई बम लगा दे और फिर बम निरोधी दस्ता इसे निष्क्रिय कर दे तो कहा जाए कि बम लागने वाला अपराधी नहीं है। (भाषा से इनपुट्स के साथ)

Next Stories
1 मास्क न पहनने पर BJP विधायक का पुलिस ने काटा चालान, तो फेंककर दिए नोट, दारोगा का ट्रांसफर
2 PM की काशी बारिश के बाद जलमग्न! फोटो शेयर कर येचुरी ने कसा तंज- PM अब वाराणसी को वेनिस बनाने का दावा करेंगे
3 दिल्ली को मानसून की बौछारों के लिए करना होगा इंतजार, 27 जून तक पहुंचने का है अनुमान
ये पढ़ा क्या ?
X