सुप्रीम कोर्ट में बीच सुनवाई आई सारे स्टाफ के कोविड पॉज़िटिव होने की खबर, जज को लेना पड़ा ब्रेक, साथी जज ने दी एक और जानकारी

पिछले दिनों सुप्रीम कोर्ट के 44 कर्मचारी कोरोना संक्रमित पाए गए थे। जिसके बाद सुप्रीम कोर्ट ने पूरी तरह वर्चुअल सुनवाई करने का निर्णय लिया था।

justics shah, corona, supreme courtबृहस्पतिवार को सुप्रीम कोर्ट में सुनवाई के दौरान जस्टिस शाह ने कहा कि वर्चुअल हियरिंग में शामिल उनका पूरा स्टाफ कोरोना संक्रमित हो गया है। (इलस्ट्रेशन- इंडियन एक्सप्रेस)

देशभर में कोरोना संक्रमण के मामले काफी तेजी से बढ़ रहे हैं। बृहस्पतिवार को सुप्रीम कोर्ट के जस्टिस एम आर शाह के स्टाफ के सभी सदस्य कोरोना संक्रमित हो गए। बीच सुनवाई में जस्टिस शाह ने यह जानकारी दी। जिसके बाद जस्टिस शाह के साथी जज डी वाई चन्द्रचुड़ ने सुनवाई को बीच में ही रोक दिया। हालांकि जस्टिस शाह के साथी जज डी वाई चन्द्रचुड़ ने इस मामले में एक और जानकारी दी।    

बृहस्पतिवार को सुप्रीम कोर्ट के जस्टिस एम आर शाह और जज डी वाई चन्द्रचुड़ एक मामले की सुनवाई कर रहे थे। सुनवाई के दौरान ही जस्टिस शाह ने कहा कि वर्चुअल हियरिंग में शामिल उनका पूरा स्टाफ कोरोना संक्रमित हो गया है। जिसके बाद सुप्रीम कोर्ट में जस्टिस शाह के बेंच की सुनवाई रोक दी गई। 

हालांकि जस्टिस शाह के स्टाफ के सभी सदस्य के कोरोना संक्रमित होने के बाद साथी जज डी वाई चन्द्रचुड़ ने जानकारी देते हुए कहा कि जस्टिस शाह अभी घर से ही कुछ मुद्दों को देख रहे हैं। इसलिए वह दो बजे के बाद सुनवाई करेंगे। सूत्रों के मुताबिक सुप्रीम कोर्ट के कई जजों के घर में कई कोरोना संक्रमित पाए गए हैं। जस्टिस शाह के स्टाफ के कोरोना संक्रमित होने की खबर सामने आने के बाद बेंच ने पहले से तय कई मामलों की सुनवाई को भी टाल दिया।

पिछले दिनों सुप्रीम कोर्ट के 44 कर्मचारी कोरोना संक्रमित पाए गए थे। जिसके बाद सुप्रीम कोर्ट ने पूरी तरह वर्चुअल सुनवाई करने का निर्णय लिया था। कुछ दिनों से सुप्रीम कोर्ट सिर्फ वीडियो कांफ्रेंसिंग के जरिए ही मामलों की सुनवाई कर रहा है। इतना ही नहीं सुप्रीम कोर्ट के जज भी कोर्ट आने के बजाए घर से ही मुकदमों की वीडियो कांफ्रेंसिंग के माध्यम से सुनवाई कर रहे हैं। साथ ही सुप्रीम कोर्ट में कई जगहों पर लोगों की आवाजाही बंद कर दी गई है।

इसके अलावा सुप्रीम कोर्ट प्रशासन ने कोरोना के बढ़ते संक्रमण से निपटने के लिए कड़े कदम उठाए हैं। सुप्रीम कोर्ट के द्वारा जारी किए गए सर्कुलर के अनुसार कोरोना के लक्षणों वाले व्यक्ति को कोर्ट में नहीं आने को कहा गया है। साथ ही सुप्रीम कोर्ट में आने वाले लोगों के लिए आरटीपीसीआर टेस्ट करवाना अनिवार्य कर दिया गया है।

Next Stories
1 RR vs DC: स्मिथ को बाहर बिठाने से पंत पर भड़के लोग, बोले- हार डिजर्व करती है दिल्ली कैपिटल्स
2 कोरोना से यूपी हलकान, सरकार ने टिन से ढंका लखनऊ का सबसे बड़ा श्मशान
3 कोरोना: ऑक्सीजन पर केंद्र के दो बयान; एक में कहा- पूरा उत्पादन हो रहा, दूसरे में बताई 12 राज्यों में किल्लत की बात
यह पढ़ा क्या?
X