ताज़ा खबर
 

सुप्रीम कोर्ट ने इलाहाबाद का नाम प्रयागराज करने के मामले में यूपी सरकार को जारी किया नोटिस

इस संबंध में निर्णय मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ की अध्यक्षता में हुई कैबिनेट मीटिंग में लिया गया था। सरकार के प्रवक्ता और कैबिनेट मंत्री सिद्धार्थ नाथ सिंह ने कहा कि लोग लंबे समय से नाम बदलने की मांग कर रहे थे।

योगी सरकार के फैसले के खिलाफ यह जनहित याचिका ‘इलाहाबाद हेरिटेज सोसायटी’ की ओर से जारी की गई है। (फाइल फोटो)

सुप्रीम कोर्ट ने इलाहाबाद का नाम बदल कर प्रयागराज किए जाने को चुनौती देने वाली एक जनहित याचिका पर उत्तर प्रदेश सरकार को सोमवार को नोटिस जारी कर जवाब मांगा। यह जनहित याचिका ‘इलाहाबाद हेरिटेज सोसायटी’ की ओर से जारी की गई है।

चीफ जस्टिस एस. ए. बोबडे और जस्टिस बी. आर गवई और जस्टिस सूर्यकांत की एक पीठ ने राज्य को नोटिस जारी किया। केन्द्र सरकार ने पिछले साल 1 जनवरी को इलाहाबाद का नाम बदल कर प्रयागराज करने की मंजूरी दी थी।

सरकार की तरफ से जारी बयान में कहा गया था कि बोर्ड ने दस्तावेजों का शोध करने पर पाया कि देश में 14 प्रयाग थे लेकिन यहां जो प्रयाग था उसे प्रयागों के राजा के रूप में जाना जाता था। बाद में उसका नाम बदल कर इलाहाबाद कर दिया गया। इस बात का भ्रम है कि इस स्थान का नाम हमेशा से ही इलाहाबाद था।

इसलिए राजस्व बोर्ड ने सुझाव दिया था कि इस भ्रम को दूर करने के लिए, यह तर्कसंगत होगा कि इसका मौजूदा नाम को वास्तविक नाम से बदल दिया जाए। इलाहाबाद यूनिवर्सिटी के साथ ही इलाहाबाद हाईकोर्ट का नाम बदलने के संकेत देते हुए सिंह ने कहा, कुछ केंद्रीय विश्वविद्यालय, संस्थानों के नाम भी इलाहाबाद के नाम पर है…इस नाम से हाईकोर्ट, रेलवे स्टेशन है। इस संबंध में इस संबंध में प्रक्रिया को आगे बढ़ाया जाएगा।

राज्य सरकार के इस फैसले की विपक्षी दलों ने आलोचना की थी। इसे पहले कांग्रेस ने कहा था कि सरकार का यह कदम इतिहास के साथ छेड़छाड़ करने जैसा होगा। वहीं समाजवादी पार्टी प्रमुख ने ट्वीट कर कहा था कि भाजपा सरकार नाम बदलकर दिखाना चाहती हैं कि वह काम कर रही है। वहीं तत्कालीन उत्तर प्रदेश कांग्रेस प्रमुख राज बब्बर ने कहा था कि भाजपा को इस तरह की तेजी गंगा की सफाई को लेकर दिखानी चाहिए।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ लिंक्डइन पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App

Next Stories
1 आंध्र प्रदेश में अब 3 राजधानियांः रेड्डी सरकार ने अमरावती के साथ-साथ कुरनूल और विशाखापटनम को दिया दर्जा, जानें पूरा फॉर्मूला
2 प्रयागराजः आज तय हो सकती है राम मंदिर निर्माण की तारीख, माघ मेले में VHP की मीटिंग में जुटे साधु-संत
3 ट्रांसपोर्ट ऑफिस में लगी आग तो कुमार विश्वास ने AAP सरकार पर कसा तंज, कहा- ‘सबूत जलने लगे गुनाहगारों के’
ये पढ़ा क्या?
X