ताज़ा खबर
 

नोटबंदी: सुप्रीम कोर्ट ने केंद्र को लिया आड़े हाथ, पूछा- क्या पॉलिसी गोपनीय थी ? इसका ठीक से पालन क्यों नहीं हो रहा ?

सुप्रीम कोर्ट ने केंद्र सरकार के नोटबंदी के फैसले को आड़े हाथ लिया।

Income Tax, demonetisation, demonetisation news, tax officersप्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी। PTI Photo / TV GRAB

सुप्रीम कोर्ट ने केंद्र सरकार के नोटबंदी के फैसले को आड़े हाथ लिया। शुक्रवार (9 दिसंबर) को सुप्रीम कोर्ट ने केंद्र सरकार ने पूछा, ‘आप लोगों ने नोटबंदी पर पॉलिसी कब बनाई थी, क्या वह गोपनीय रखी गई थीं?’ इसके साथ ही चीफ जस्टिस ऑफ इंडिया ने केंद्र सरकार ने यह भी पूछा कि जब केंद्र सरकार ने प्रतिदन 24,000 रुपए निकालने की इजाजत दी है तो फिर उसका पालन क्यों नहीं हो रहा है। सुप्रीम कोर्ट 14 दिसंबर को मामले की अगली सुनवाई करेगा। वहीं नोटबंदी के फैसले में केंद्र सरकार की तरफ से सुप्रीम कोर्ट को कहा गया कि सरकार पूरी तरह से कोशिश कर रही और 10-15 दिनों में समस्या खत्म हो जाएगी।

गौरतलब है कि सुप्रीम कोर्ट की तीन जजों की बेंच नोटबंदी से जुड़ी कुछ याचिकाओं पर सुनवाई कर रही थी। केंद्र की तरफ से अटोर्नी जनरल मुकुल रोहतगी ने सुप्रीम कोर्ट से कहा कि सरकार सभी जरूरी कदम उठा रही है। वहीं वकील प्रशांत भूषण ने सुप्रीम कोर्ट को कहा कि एटीम में कैश की किल्लत अबतक दूर नहीं हुई है।

सरकार की तरफ से यह भी कहा गया कि लोगों के बीच में असंतोष की वजह से किए गए प्रदर्शन का एक भी उदाहरण मौजूद नहीं है और सिर्फ राजनीतिक पार्टियां उसका मुद्दा बना रही हैं।

गौरतलब है कि मोदी सरकार ने 8 नवंबर को नोटबंदी का फैसला लिया था। ऐलान किया गया था कि 500 और 1000 रुपए के नोट चलने बंद हो जाएंगे और 2000 और 500 के नए नोट चलाए जाएंगे। पीएम मोदी ने कहा था कि उन्हें सब ठीक करने के लिए 50 दिन के लिए लोगों का साथ चाहिए। पीएम मोदी अपनी कई रैलियों के साथ-साथ कार्यक्रमों में भी इस बात का जिक्र कर चुके हैं।

Hindi News के लिए हमारे साथ फेसबुक, ट्विटर, लिंक्डइन, टेलीग्राम पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News AppOnline game में रुचि है तो यहां क्‍लिक कर सकते हैं।

Next Stories
1 नरेंद्र मोदी ने कहा था नोटबंदी फेल हुई तो पूरी जिम्मेदारी मेरी, अपने घर पर छह लोगों को रखकर बनाया था पूरा प्लान
2 सोनिया गांधी को खुद पर लिखे नॉवेल “द रेड साड़ी” के भारत में प्रकाशन पर क्यों था ऐतराज?
3 संसद का वीडियो बनाने के मामले में भगवंत मान शीतकालीन सत्र के लिए सस्पेंड
यह पढ़ा क्या?
X