ताज़ा खबर
 

‘मैं जीना नहीं चाहती’, पुलिस का दावा- सुनंदा पुष्कर ने मरने से पहले शशि थरूर को किया था ईमेल

चार्जशीट में बताया गया है कि शशि थरुर, एक पति होने के नाते सुनंदा पुष्कर की उस वक्त अनदेखी करते रहे, जब वह तनाव से घिरी हुईं थी। दोनों के बीच अक्सर लड़ाईयां होती थी।

सुनंदा पुष्कर मौत मामले मं पुलिस ने चार्जशीट दाखिल की। (express photo by oinam anand)

सुनंदा पुष्कर की मौत के मामले में नया खुलासा हुआ है। इस खुलासे के तहत सुनंदा पुष्कर ने अपने पति और कांग्रेस नेता शशि थरुर को अपनी मौत के एक हफ्ते पहले ईमेल किए थे। इन ईमेल में सुनंदा पुष्कर ने आत्महत्या की बात कही थी। दरअसल दिल्ली पुलिस ने सुनंदा पुष्कर की मौत के मामले में आज अदालत में 3000 पन्नों की चार्जशीट दाखिल की। इस चार्जशीट में कहा गया है कि सुनंदा पुष्कर ने शशि थरुर को भेजे ईमेल में लिखा था कि “उनकी जीने की इच्छा खत्म हो चुकी है और वह अब अपनी मौत के लिए प्रार्थना कर रही हैं।” अपने मौत से 9 दिन पहले यानि कि 8 जनवरी को सुनंदा पुष्कर ने यह ईमेल शशि थरुर को भेजा था। इन ईमेल्स को पुलिस सुनंदा पुष्कर की मरने की घोषणा मान रही है। बता दें कि सुनंदा पुष्कर साल 2014 में 17 जनवरी के दिन दिल्ली के एक लग्जरी होटल के अपने कमरें में मृत पायी गईं थी।

चार्जशीट में शशि थरुर को आत्महत्या के लिए उकसाने का आरोपी बनाया गया है। पुलिस ने अदालत को बताया कि वह शशि थरुर को आरोपी के तौर पर समन भेजने पर विचार कर रही है। चार्जशीट के अनुसार, सुनंदा पुष्कर की मौत जहर के कारण हुई थी। एलप्रैक्स की करीब 27 गोलियां उनके कमरें से पायी गईं थी। हालांकि अभी तक यह साफ नहीं है कि सुनंदा पुष्कर ने कितनी गोलियां खायी थीं। पुलिस की स्पेशल इन्वेस्टीगेशन टीम ने चार्जशीट में बताया है कि शशि थरुर, एक पति होने के नाते सुनंदा पुष्कर की उस वक्त अनदेखी करते रहे, जब वह तनाव से घिरी हुईं थी। दोनों के बीच अक्सर लड़ाईयां होती थी। हालांकि सुनंदा पुष्कर की चोटें गंभीर नहीं थी, लेकिन इनसे पता चलता है कि दोनों के बीच अक्सर झगड़े होते थे। बताया गया है कि सुनंदा पुष्कर एंटी-डिप्रेशन दवाईयों का भी सेवन कर रही थी।

बताया गया है कि शशि थरुर के एक पाकिस्तानी पत्रकार के साथ कथित संबंधों को लेकर सुनंदा पुष्कर और शशि थरुर के बीच ट्विटर पर सार्वजनिक तौर पर बहस भी हुई थी। इस घटना के 2 दिन बाद ही सुनंदा पुष्कर मृत पायी गईं थी। जांच टीम का कहना है कि शशि थरुर ने सुनंदा पुष्कर की मौत के दिन भी उनकी कॉल की अनदेखी की थी। इसके बाद सुनंदा पुष्कर ने सोशल मीडिया के द्वारा भी शशि थरुर को संदेश भेजे, लेकिन शशि थरुर ने उन संदेशों को भी अनदेखा कर दिया था। जांच टीम को जानकारी मिली है कि सुनंदा पुष्कर की मौत से 2 दिन पहले ही तिरुवंतपुरम से दिल्ली आते हुए फ्लाइट में भी दोनों की खूब लड़ाई हुई थी। इसके बाद दिल्ली एयरपोर्ट पर भी दोनों में खूब बहस हुई थी। लोक अभियोजक पक्ष का कहना है कि सुनंदा के दोस्तों ने इस बात की जानकारी दी है और उनके बयान का वीडियो रिकॉर्ड भी उपलब्ध है। वहीं शशि थरुर ने उन पर लगे आत्महत्या के लिए उकसाने के आरोपों को साजिश करार दिया है।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App