ताज़ा खबर
 

‘हटाओ इसे, राम जी का दे रहे हो और हरा रंग लगाके!’, बीच सड़क फोटो सेशन, पुलिस भी साथ

पत्रकार @vijaita ने लिखा, "यह तो देश की पुलिस का हाल है। निराशाजनक।" @TrueInd26978997 के हैंडल से कहा गया- जब हरे रंग के पेड़-पौधे दिखते होंगे, तब इनके दिल पर क्या गुजरती होगी भला?

Sudarshan News, Editor, Troll, Green, Orange, Lord Ramचव्हाण के यह कहते ही उनके साथ मौजूद लोग और अन्य हंसने लगे। फौरन भेंट देने वाले शख्स ने हरे रंग की पन्नी को फाड़कर फेंक दिया और उसके बाद बीच सड़क पर फोटो सेशन होने लगा। (फोटोः टि्वटर/वीडियो स्क्रीनग्रैब)

अयोध्या में राम मंदिर के भूमि पूजन से पहले इस मुद्दे पर फिलहाल सियासत गर्माई है। पहले प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के प्रस्तावित दौरे और मुहूर्त को लेकर सवाल हुए। फिर पांच अगस्त को कार्यक्रम के दिन राम लला की प्रतिमा को पहनाए जाने वाले हरे रंग के वस्त्रों पर सवाल उठे। इसी बीच, एक वीडियो सामने आया है, जो प्रभु राम और हरे रंग से जुड़ा है।

क्लिप में Sudarshan News के सीएमडी और एडिटर-इन-चीफ सुरेश चव्हाण अयोध्या जा रह थे। इसी बीच, उन्हें कुछ लोग मिले। इन लोगों ने चव्हाण को राम दरबार का एक फोटो भेंट किया, जो कि हरे रंग की पन्नी में पैक था। जैसे ही उनके पास यह भेंट आई, उन्होंने सामने वाले शख्स से कहा- हटाओ इसे…राम जी का दे रहो हो, वह भी हरा रंग लगाकर।

चव्हाण के यह कहते ही उनके साथ मौजूद लोग और अन्य हंसने लगे। फौरन भेंट देने वाले शख्स ने हरे रंग की पन्नी को फाड़कर फेंक दिया और उसके बाद बीच सड़क पर फोटो सेशन होने लगा। आम लोगों के साथ एक पुलिस अफसर ने भी इस फोटो सेशन में हिस्सा लिया।

घटना के बाद खुद चव्हाण ने अपने टि्वटर हैंडल से इस वीडियो को शेयर किया। 27 सेकेंड्स की इस क्लिप के साथ उन्होंने लिखा, “जब हरा रंग मेरे सामने आया…वह भी अयोध्या जाते हुए।” हालांकि, इस वीडियो को रीट्वीट करते हुए कई लोगों ने उन्हें ट्रोल भी किया। किसी ने पुलिस के रवैये पर सवाल उठाए तो कोई बोला-

पत्रकार @vijaita ने लिखा, “यह तो देश की पुलिस का हाल है। निराशाजनक।” @TrueInd26978997 के हैंडल से कहा गया- जब हरे रंग के पेड़-पौधे दिखते होंगे, तब इनके दिल पर क्या गुजरती होगी भला?

@niiravmodi के अकाउंट से कहा गया, “पांच अगस्त को राम जी हरे रंग का ही वस्त्र पहनेंगे, तब तक यह वीडियो डिलीट मत करना।”

@Zimmy786Jamal ने लिखा- योगी आदित्यनाथ से बोलकर पर्यावरण को नारंगी करा दें या फिर राम से बोल कर भगवा रंग करा लें। दोनों के अंदर दम है तो? ऐसे काम किया करें, जिससे खुद शर्मिंदा न होना पड़े। नारंगी गोश्त खाएंगे, लेकिन हरी सब्जी खाएंगे? ये दोहरापन है।

Hindi News के लिए हमारे साथ फेसबुक, ट्विटर, लिंक्डइन, टेलीग्राम पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News AppOnline game में रुचि है तो यहां क्‍लिक कर सकते हैं।

Next Stories
1 राम मंदिर भूमिपूजन: सबा नकवी ने लिखा लेख, संबित पात्रा ने बताया नेहरूवादी अभारतीय सोच
2 राम मंदिर: रामदेव ने नरेंद्र मोदी को श्रेय देते हुए कहा श्रद्धेय, बीजेपी सांसद ने कहा था- इसमें नहीं पीएम का कोई रोल
3 राम मंदिर भूमि पूजन: मुहूर्त तय करने वाले पंडित ने कहा- मिल रही जान की धमकी, मिली सुरक्षा
IPL 2020: LIVE
X