Taking U turn is second nature of Rahul Gandhi: Subramaniyan Swamy - Jansatta
ताज़ा खबर
 

सुब्रमण्‍यम स्‍वामी ने कहा- कायर हैं राहुल गांधी, कांग्रेस को बचाने के लिए छोड़ दें राजनीति

स्‍वामी ने राहुल को सलाह दी कि वह भारत की सबसे पुरानी राजनैतिक पार्टी का भविष्‍य बचाने के लिए राजनीति छोड़ दें।

आरोप था कि राहुल गांधी ने अपने भाषण के जरिए आरएसएस की छवि को नुकसान पहुंचाया है।

भारतीय जनता पार्टी (BJP) के नेता सुब्रमण्‍यम स्‍वामी ने कांग्रेस उपाध्‍यक्ष राहुल गांधी पर निशाना साधा है। उन्‍होंने कहा है कि राष्‍ट्रीय महत्‍व के प्रमुख मुद्दों पर ‘यू टर्न’ लेना राहुल का स्‍वभाव है। स्‍वामी ने राहुल को सलाह दी कि वह भारत की सबसे पुरानी राजनैतिक पार्टी का भविष्‍य बचाने के लिए राजनीति छोड़ दें। राहुल गांधी द्वारा महात्‍मा गांधी की हत्‍या के लिए राष्‍ट्रीय स्‍वयंसेवक संघ को जिम्‍मेदार ठहराने वाले बयान पर बहस के संदर्भ ने एएनआई से बात करते हुए स्‍वामी ने कहा, ”वह एक बड़े कायर हैं और यू टर्न लेना उनका दूसरा स्‍वभाव है। मुझे लगता है कि उनका कोई राजनैतिक भविष्‍य नहीं है और कांग्रेस का भविष्‍य बचाने के लिए उन्‍हें राजनीति छोड़ देनी चाहिए। इस बारे में निश्चिंंत नहीं कि उन्‍होंने ही यह ट्वीट किया, शायद उनके कार्यालय से किसी ने ट्वीट किया होगा।” गुरुवार को राहुल गांधी ने एक ट्वीट में कहा था, ”मैं कभी भी आरएसएस के नफरतभरे और विभाजनकारी एजेंडा से लड़ना नहीं छोड़ूंगा। मैंने जो कहा था उसके एक-एक शब्‍द पर कायम हूं।”

राहुल से जुड़ा ताजा विवाद तब शुरू हुआ, जब उनके वकील कपिल सिब्‍बल ने सुप्रीम कोर्ट को बताया कि राहुल ने कभी भी आरएसएस को महात्‍मा गांधी की हत्‍या के लिए जिम्‍मेदार नहीं ठहराया, बल्कि उसके (संघ के) कुछ लोगों द्वारा ऐसा किया गया, यह कहा था। राहुल का पक्ष आने के बाद जस्टिस दीपक मिश्रा और जस्टिस आरएफ नारायणन की बेंच ने कहा कि अगर शिकायतकर्ता इस पक्ष पर सहमत हो जाता है तो वह बयान को रिकॉर्ड में लेगी और याचिका का निपटारा हो जाएगा। अपनी शिकायत में आरएसएस भिवंडी के सचिव राजेश महादेव कुंते ने आरोप लगाया था कि राहुल गांधी ने पिछले साल 6 मार्च को महाराष्‍ट्र के सोनाले में हुई चुनावी रैली में कहा था कि ”आरएसएस के लोगों ने गांधीजी को मारा।” उनका आरोप था कि राहुल गांधी ने अपने भाषण के जरिए आरएसएस की छवि को नुकसान पहुंचाया है।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App