ताज़ा खबर
 

रजत शर्मा, अनुपम खेर का नाम राज्‍यसभा के लिए तय, सिद्धू, सलीम खान, सुब्रमण्‍यम स्‍वामी पर भी चर्चा: रिपोर्ट्स

सरकार को राज्‍यसभा से जीएसटी समेत कई अहम बिल पास कराने हैं। इसके लिए उसे गैर एनडीए व गैरयूपीए (सपा, एआईएडीएमके, बीएसपी, बीजेडी आदि) का समर्थन चाहिए होगा।

सर्वदलीय बैठक के बाद संसद भवन से बाहर निकलते प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के साथ सीपीआई नेता डी राजा (File Photo)

भाजपा ने राज्‍यसभा में मनोनयन के जरिए भरी जानी वाली सीटों के लिए सांसदों के नाम जल्‍द ही घोषित करने का फैसला किया है। अपुष्‍ट खबरों के मुताबिक सोमवार (25 अप्रैल) को संसद सत्र शुरू होने से पहले यह एलान हो सकता है। इन खबरों के अनुसार सुब्रमण्‍यम स्‍वामी, मलयाली अभिनेता सुरेश गोपी, पत्रकार स्‍वप्‍नदास गुप्‍त, ओलिंपिक मेडल विजेता मैरीकॉम, अर्थशास्‍त्री नरेंद्र जाधव, पूर्व सांसद व क्रिकेटर नवजोत सिंह सिद्धू, अभिनेता सलमान खान के पिता सलीम खान, पत्रकार रजत शर्मा और अभिनेता अनुपम खेर में से ये सीटें भरी जा सकती हैं। राज्‍यसभा में 12 मनोनीत सदस्‍य होते हैं। अभी सात सीटें खाली हैं। अपुष्‍ट खबरों में बताया जा रहा है कि रजत शर्मा और अनुपम खेर के नाम पर भी चर्चा हो रही है।

Read Also: असम-कांग्रेस ने जीती राज्यसभा की दोनों सीटें, बताया विधानसभा चुनाव की झलक

वैसे तो मनोनीत सदस्‍य किसी पार्टी के नहीं होते, लेकिन वोटिंग के वक्‍त अमूम वे सरकार के पक्ष में ही मतदान करते हैं। ऐसे में पांच सदस्‍यों के मनोनयन से राज्‍यसभा में भाजपा की स्थिति मजबूत होगी। संविधान के मुताबिक सदस्‍यों का मनोनयन राष्‍ट्रपति करते हैं। साहित्‍य, कला, विज्ञान, समाजसेवा आदि क्षेत्रों में महारत रखने वाले लोगों को राज्‍यसभा सदस्‍य मनोनीत किया जा सकता है। व्‍यावहारिक तौर पर उन्‍हीं सदस्‍यों को राष्‍ट्रपति मनोनीत करते हैं, जिन्‍हें सत्‍ताधारी पार्टी चाहती है।

Read Also: अनुपम खेर की कहानी: सौ रुपए चुरा कर गए थे एक्‍टर बनने, तुतलाने के चलते छूट गई थी गर्लफ्रेंड

सरकार को राज्‍यसभा से जीएसटी समेत कई अहम बिल पास कराने हैं। इसके लिए उसे गैर एनडीए व गैरयूपीए (सपा, एआईएडीएमके, बीएसपी, बीजेडी आदि) का समर्थन चाहिए होगा। नए सदस्‍यों के मनोनयन से राज्‍यसभा में बिल पारित कराने में सरकार की विपक्ष पर निर्भरता पर कोई खास अंतर नहीं पड़ेगा, लेकिन जुलाई में 54 सीटों के लिए होने वाले चुनाव में भाजपा की स्थिति जरूर थोड़ी मजबूत होगी।

Read Also: अनुपम खेर बोले- किसी और बाल्‍टी से तो पीएम मोदी का चमचा कहलाना अच्‍छा

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App