ताज़ा खबर
 

राम मंदिर पर मेरा विरोध किया तो सरकार गिरा दूंगा, बीजेपी सांसद की पार्टी को धमकी

'मेरे दो विपक्षी हैं, एक तो मोदी सरकार और दूसरी योगी सरकार। क्या वह दोनों मेरा विरोध करने का दम दिखा पाएंगे? अगर उन्होंने ऐसा किया, तो मैं सरकार गिरा दूंगा। हालांकि मुझे पता है कि वो विरोध में नहीं आएंगे'।

भारतीय जनता पार्टी के सांसद सुब्रमण्यम स्वामी (फोटो सोर्स : ANI)

भारतीय जनता पार्टी के सांसद सुब्रमण्यम स्वामी ने केंद्र की मोदी सरकार को और उत्तर प्रदेश की योगी सरकार को खुली चेतावनी दे दी है। स्वामी की यह चेतावनी अयोध्या के राम मंदिर निर्माण को लेकर है। स्वामी ने कहा है कि, अगर राम मंदिर पर केंद्र और यूपी गवर्नमेंट मेरी खिलाफत करती हैं तो वह सरकार गिरा देंगे।

राम मंदिर पर पहले से ही घिरी बीजेपी सरकार के सामने उठ रही मांग के बीच भाजपा के फायरब्रांड नेता स्वामी ने चेतावनी देते हुए कहा कि, अगर हमारा राम मंदिर का मामला जनवरी में सूचीबद्ध हो जाता है, तो हम दो हफ्ते में जीत जाएंगे। मेरे दो विपक्षी हैं, एक तो मोदी सरकार और दूसरी योगी सरकार। क्या वह दोनों मेरा विरोध करने का दम दिखा पाएंगे? अगर उन्होंने ऐसा किया, तो मैं सरकार गिरा दूंगा। हालांकि मुझे पता है कि वो विरोध में नहीं आएंगे।

2014 में ऐतिहासिह बहुमत पाकर केंद्र की सत्ता में आई भारतीय जनता पार्टी की सरकार पर राम मंदिर जल्द बनाने को लेकर दबाव काफी समय से डाला जा रहा है। राष्ट्रीय स्वंय सेवक संघ के मुखिया मोहन भागवत मोदी सरकार से मंदिर के लिए बिल लाने की मांग कर चुके हैं। साथ ही सरकार के करीब माने जाने वाले योग गुरु बाबा रामदेव भी सरकार जल्द मंदिर बनाने को कह चुके हैं। हालांकि सरकार इस पर कोर्ट में मामला लंबित होने का हवाला देकर चुप्पी साध लेती है।

बीते महीने नवंबर के आखिर में विहिप की तरफ से इसी मुद्दे पर अयोध्या में भव्य रैली भी की गई थी। इसमें शिवसेना मुखिया के उद्धव ठाकरे के अलावा हजारों शिवसैनिक भी शामिल हुए थे। वहीं अब फिर 9 दिसंबर को विश्व हिंदू परिषद दिल्ली के राम लीला मैदान में धर्म संसद का आयोजन करने जा रही है। रैली का मकसद संसद में शुरू होने जा रहे शीत कालीन सत्र में सरकार पर दबाव बनाकर विधेयक लाना है। रैली में करीब 2 लाख राम भक्तों के पहुंचने की संभावना है।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ लिंक्डइन पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App