scorecardresearch

रोहिंग्या मामलाः हरदीप पुरी पर बरसे बीजेपी के पूर्व सांसद, मोदी से की कैबिनेट से बाहर करने की मांग, कहा- ये हिंदुत्व का नुकसान

Rohingyas: रोहिंग्या शरणार्थियों को फ्लैट प्रदान किए जाने की बात पर बीजेपी नेता सुब्रमण्यम स्वामी ने केंद्रीय मंत्री हरदीप सिंह पुरी को मंत्रालय से बाहर करने की मांग की है।

रोहिंग्या मामलाः हरदीप पुरी पर बरसे बीजेपी के पूर्व सांसद, मोदी से की कैबिनेट से बाहर करने की मांग, कहा- ये हिंदुत्व का नुकसान
केंद्रीय मंत्री हरदीप सिंह पुरी (फोटो- द इंडियन एक्सप्रेस)

रोहिंग्या शरणार्थियों को फ्लैट दिए जाने की बात कहकर केंद्रीय आवास और शहरी मामलों के मंत्री हरदीप सिंह पुरी बुरी तरह घिर गए हैं। इस बात पर बीजेपी नेता और पूर्व राज्यसभा सांसद सुब्रमण्यम स्वामी ने भी हरदीप सिंह पुरी पर अपनी भड़ास निकाली है और कहा कि केंद्रीय मंत्री के इस बयान ने बीजेपी के हिंदुत्व को नुकसान पहुंचाया है। उन्होंने तो पुरी को मंत्रालय से बर्खास्त करने तक की बात कह ड़ाली है।

उन्होंने ट्वीट कर कहा कि हरदीप सिंह पुरी को मंत्रालय से बर्खास्त कर देना चाहिए। उन्होंने रोहिंग्या शरणार्थियों के लिए अपार्टमेंट के निर्माण का आदेश देकर राष्ट्रीय हितों का उल्लंघन किया है।

हरदीप सिंह पुरी ने क्या कहा था

हरदीप सिंह पुरी ने बुधवार को ट्वीट करके कहा था कि रोहिंग्या शरणार्थियों को बाहरी दिल्ली के बक्करवाला में अपार्टमेंट में स्थानांतरित कर दिया जाएगा और उन्हें बुनियादी सुवधाएं एवं पुलिस भी प्रदान की जाएगी। उनके इस ट्वीट पर दिल्ली की आप सरकार ने विरोध जताया है और कहा कि दिल्ली के लोग इसकी इजाजत नहीं देंगे। वहीं, पुरी के ट्वीट पर सोशल मीडिया पर भी बवाल मच गया है और बीजेपी नेतृत्व की काफी आलोचना हो रही है।

डॉ नीमो नाम के एक ट्विटर यूजर ने लिखा, “मैं एक ब्राह्मण हूं, मेरा परिवार आजादी के बाद से बीजेपी को वोट दे रहा है, लेकिन अब हम सभी ने सर्वसम्मति से किसी भी चुनाव में बीजेपी को वोट नहीं देने का फैसला किया है।”

विश्व हिंदू परिषद ने भी उठाए सवाल

विश्व हिंदू परिषद ने भी इस पर सवाल उठाए हैं और केंद्र सरकार से इस मुद्दे पर पुनर्विचार करने एवं रोहिंग्याओं को आवास प्रदान करने के बजाय वापस भेजने की व्यवस्था करने का आग्रह किया है।

वहीं, गृह मंत्रालय ने स्पष्ट किया कि रोहिंग्या घुसपैठिए हैं और उन्हें उनके देश वापस भेजा जाएगा। तब तक वो लोग डिटेंशन सेंटर में ही रहेंगे। मंत्रालय ने यह भी कहा कि रोहिंग्याओं को दिल्ली या कहीं भी फ्लैट देने या कोई भी सुविधा प्रदान करने का कोई प्रावधान नहीं किया गया है।

पढें राष्ट्रीय (National News) खबरें, ताजा हिंदी समाचार (Latest Hindi News)के लिए डाउनलोड करें Hindi News App.

अपडेट