scorecardresearch

जिनपिंग ने हमें दिया पाकिस्तान जैसा दर्जा, ईरान भी दिखा रहा आंख, स्वामी ने पूछा- चीन के कहने पर क्यों छोड़ी अपनी जमीन

Chinese intrusion in Arunachal Pradesh: भारत और चीन की सेनाओं ने पूर्वी लद्दाख सेक्टर में पेट्रोलिंग पॉइंट-15 (PP-15) के पास गोगरा हाइट्स-हॉट स्प्रिंग्स इलाके में डिसइंगेजमेंट प्रक्रिया पूरी कर ली है।

जिनपिंग ने हमें दिया पाकिस्तान जैसा दर्जा, ईरान भी दिखा रहा आंख, स्वामी ने पूछा- चीन के कहने पर क्यों छोड़ी अपनी जमीन
बीजेपी नेता सुब्रमण्यम स्वामी (फोटो- द इंडियन एक्सप्रेस)

Chinese intrusion in Arunachal Pradesh: पूर्व राज्यसभा सांसद सुब्रमण्यम स्वामी ने फिर एक बार केंद्र की मोदी सरकार पर निशाना साधा है. उन्होंने सवाल उठाया कि चीन के कहने पर हमने अपनी जमीन क्यों छोड़ी? भाजपा नेता का कहना है कि जिनपिंग ने हमें पाकिस्तान जैसा दर्जा दिया है।

सुब्रमण्यम स्वामी ने शनिवार (17 सितंबर) को अपने ट्विटर अकाउंट पर लिखा, “हमने हाल ही में चीन की मांग पर अपना क्षेत्र क्यों खाली किया? पीटी को याद हो सकता है कि विदेश मंत्रालय ने मीडिया को बताया था कि यह पीएम मोदी और शी जिनपिंग की बैठक के लिए था जो हुई नहीं थी। शी जिनपिंग ने पुतिन से कहा कि भारत को पाकिस्तान के बराबर कर देना चाहिए. यहां तक ​​कि ईरान ने भी मोदी को व्यापार पर अल्टीमेटम दिया था।”

चीन वही करता है जो करना चाहता है: इससे पहले स्वामी ने एक ट्वीट को रिट्वीट कर लिखा था, “चीन वही करता रहता है जो वह करना चाहता है, लेकिन भारत क्या कभी उसके खिलाफ कार्रवाई करने जा रहा है। क्या वह चीन के खिलाफ भारतीय क्षेत्र पर अवैध कब्जा, आतंकी देश पाकिस्तान का समर्थन करने के लिए आवाज उठाएगा?”

विपक्ष लगातार केंद्र पर हमलावर: अरुणाचल प्रदेश में चीनी घुसपैठ को लेकर विपक्ष लगातार केंद्र पर हमलावर है। कांग्रेस नेता राहुल गांधी ने ट्विटर पर लिखा था कि प्रधानमंत्री ने बिना किसी लड़ाई के चीन को 1000 वर्ग किलोमीटर जमीन दी है। क्या भारत सरकार बता सकती है कि इस क्षेत्र को कैसे फिर से वापस लिया जाएगा? वहीं, अरुणाचल प्रदेश के सीएम पेमा खांडू ने राज्य में चीनी घुसपैठ से साफ इनकार किया है। सीएम खांडू ने कहा कि चीन की सभी गतिविधियां उनके क्षेत्र में चल रही हैं। विपक्ष के दावे गलत हैं। मैं विश्वास के साथ कहता हूं कि अरुणाचल में चीनी घुसपैठ नहीं हुई है।

वहीं, सुब्रमण्यम स्वामी ने भी 13 सितंबर 2022 को ट्वीट कर कहा था, “मोदी सरकार के हवाले से भारतीय मीडिया में आई खबरों पर चीनी हंस रहे हैं कि भारत और चीन एलएसी के दोनों ओर खाली कर दिए हैं। सच्चाई: चीन भारतीय जमीन से हट गया है और भारत भारतीय जमीन से हट गया है। इस प्रकार, चीन का दावा है: “जो मेरा है वह मेरा है और जो तुम्हारा है वह भी मेरा है।”

पढें राष्ट्रीय (National News) खबरें, ताजा हिंदी समाचार (Latest Hindi News)के लिए डाउनलोड करें Hindi News App.

अपडेट