ताज़ा खबर
 

मोदी का मुखौटा हैं सुब्रमण्यम स्वामी: कांग्रेस

नेशनल हेरल्ड मामले की पृष्ठभूमि में कांग्रेस ने शनिवार को सरकार पर अभूतपूर्व स्तर की बदले की राजनीति करने का आरोप लगाया और प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी पर निशाना साधते हुए कहा कि शिकायतकर्ता सुब्रमण्यम स्वामी उनका मुखौटा हैं..
Author नई दिल्ली | December 20, 2015 01:08 am
राज्यसभा में विपक्ष के नेता गुलाम नबी आजाद

नेशनल हेरल्ड मामले की पृष्ठभूमि में कांग्रेस ने शनिवार को सरकार पर अभूतपूर्व स्तर की बदले की राजनीति करने का आरोप लगाया और प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी पर निशाना साधते हुए कहा कि शिकायतकर्ता सुब्रमण्यम स्वामी उनका मुखौटा हैं। कांग्रेस अध्यक्ष सोनिया गांधी और उपाध्यक्ष राहुल गांधी के नेशनल हेराल्ड मामले के सिलसिले में यहां एक अदालत के समक्ष मौजूद होने के ठीक पहले कांग्रेस के अनेक वरिष्ठ नेताओं ने मीडिया को संबोधित किया और राजग सरकार, खासकर मोदी पर निशाना साधा। इन नेताओं में गुलाम नबी आजाद, मल्लिकार्जुन खरगे, आनंद शर्मा और रणदीप सुरजेवाला शामिल थे। आजाद ने कहा कि मोदी सरकार की ओर से निशाना बनाए जाने को लेकर कांग्रेस भयभीत नहीं है और साथ ही इस बात पर जोर दिया कि पार्टी पर जितना निशाना बनाया जाएगा, पार्टी उतनी जल्दी सत्ता में लौटेगी।

राज्यसभा में विपक्ष के नेता ने कहा- भाजपा सरकार अभूतपूर्व स्तर की बदले की राजनीति कर रही है। देश ने इस तरह की राजनीति कभी नहीं देखी। हम लड़ाई लड़ेंगे। सुब्रमण्यम स्वामी को मोदी का मुखौटा बताते हुए उन्होंने कहा कि कांग्रेस नेतृत्व को अदालत में घसीटने के लिए भाजपा नेता को बंगला देकर पुरस्कृत किया गया है जबकि वे कोई सांसद या सरकारी अधिकारी नहीं हैं। आजाद ने कहा- उन्हें (स्वामी को) जेड श्रेणी की सुरक्षा दी गई है और एक सरकारी बंगला दिया गया है। वे संसद सदस्य नहीं हैं, न ही सीमावर्ती राज्य से हैं। वे किसी आतंकवादी संगठन के खतरे का सामना नहीं कर रहे हैं। कांग्रेस नेतृत्व को अदालत में घसीटने के लिए पुरस्कार के तौर पर बंगला दिया गया है।

उन्होंने कहा कि जब से भाजपा केंद्र की सत्ता में आई है देश ने एक अभूतपूर्व किस्म की बदले की राजनीति देखी है। उन्होंने इस संबंध में हिमाचल के मुख्यमंत्री के खिलाफ सीबीआइ के छापे, अरुणाचल में कांग्रेस सरकार को गिराने की साजिश और दिल्ली सचिवालय पर छापेमारी का उल्लेख किया। उन्होंने कहा-चुनाव से पूर्व भाजपा ने कांग्रेस मुक्त भारत का आह्वान किया था, अब वे भारत को विपक्ष मुक्त बनाने का प्रयास कर रहे हैं। आजाद ने कहा कि सरकार की किसी कारवाई से कांग्रेस भयभीत नहीं हैं। उनकी पार्टी सरकार के खिलाफ सड़क के साथ-साथ अदालत में लड़ने को तैयार है। इस संदर्भ में उन्होंने इंदिरा गांधी का हवाला दिया जिन्हें विरोधियों ने जेल भेजा था और उनके खिलाफ शाह आयोग गठित किया था।

उनका कहना था- हमें देश की न्यायपालिका और संविधान में पूरा भरोसा है। लोकसभा में कांग्रेस के नेता मल्लिकार्जुन खड़गे ने भी कहा कि कांग्रेस का न्यायपालिका में पूरा विश्वास है। राज्यसभा में कांग्रेस के उपनेता आनंद शर्मा ने सरकार पर मुख्य विपक्षी दल के खिलाफ बदले की राजनीति करने के लिए सरकारी एजंसियों और तंत्रों के दुरुपयोग का आरोप लगाया।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App

  1. No Comments.