ताज़ा खबर
 

भाजपा सांसद ने कहा- बीजेपी नेतृत्‍व के बारे में श‍िवसेना की श‍िकायत जायज, खुद हमारे नेताओं को भी है श‍िकायत

शिवसेना लगातार प्रदेश में मुख्यमंत्री की कुर्सी की मांग पर अड़ी है। पार्टी ने साफ तौर पर कह दिया है कि वह मुख्यमंत्री की कुर्सी से कोई समझौता नहीं करेगी। चुनाव से पहले भाजपा और शिवसेना के बीच 50-50 फॉर्मूले को लेकर तय हुआ था।

Author नई दिल्ली | Published on: November 6, 2019 8:14 PM
भारतीय जनता पार्टी के वरिष्ठ नेता सुब्रमण्यम स्वामी। (financial express)

महाराष्ट्र में सरकार बनाने के लिए राजनीतिक पार्टियों में चल रही खींचतान के बीच भारतीय जनता पार्टी के वरिष्ठ नेता सुब्रमण्यम स्वामी ने अपना पक्ष रखा है। स्वामी ने दोनों पार्टियों को हिंदुत्व ताकतों की एकता के लिए धैर्य रखने को कहा है। उन्होंने कहा कहा है कि शिवसेना को बीजेपी के साथ सरकार बना लेनी चाहिए। बता दें मतगणना के बाद शिवसेना लगातार प्रदेश में मुख्यमंत्री की कुर्सी की मांग पर अड़ी है। पार्टी ने साफ तौर पर कह दिया है कि वह मुख्यमंत्री की कुर्सी से कोई समझौता नहीं करेगी। चुनाव से पहले भाजपा और शिवसेना के बीच 50-50 फॉर्मूले को लेकर तय हुआ था।

शिवसेना की मांग को भाजपा ने खारिज कर दिया और मुख्यमंत्री की कुर्सी देने से इनकार कर दिया। जिसके बाद एक ट्वीट कर सुब्रमण्यम स्वामी ने लिखा “मैं शिवसेना से आग्रह करता हूं कि वह बीजेपी के साथ मिलकर सरकार बनाने का रास्ता निकाले। यह सच है कि शिवसेना को भाजपा नेतृत्व के बारे में वास्तविक शिकायतें हैं, क्योंकि भाजपा में कई दिग्गज भी हैं। लेकिन हिंदुत्व ताकतों की एकता के मकसद के लिए हमे एक दशक और धैर्य रखने की जरूरत है, लिहाजा बेहतर है कि इसे बर्दाश्त किया जाए।

गौरतलब है कि महाराष्ट्र की 288 सीटों वाले विधानसभा में बीजेपी को 105, शिवसेना को 56, एनसीपी को 54, कांग्रेस को 44 और अन्य को 29 सीटें मिली हैं। सरकार बनाने के लिए बहुमत का आकंड़ा 146 है। इस तरह से बीजेपी-शिवसेना गठबंधन के पास बहुमत के आंकड़े हैं, लेकिन सीएम पद और 50-50 फॉर्मूले पर बात नहीं बन पाने के कारण अभी तक नई सरकार का गठन नहीं हो पाया है।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ लिंक्डइन पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App

Next Stories
1 टीपू जयंती नहीं मनाने पर कर्नाटक की भाजपा सरकार को हाईकोर्ट की फटकार- एक दिन में कैसे ले लिया फैसला, फिर से कीजिए विचार
2 एक्शन चाहिए, मेडिटेशन नहीं- मंदी, महंगाई और आतंक के मोर्चे पर यशवंत सिन्हा का नरेंद्र मोदी सरकार पर हमला
3 कर्मचारियों के लिए वीआरएस योजना लाई BSNL, लगभग एक लाख कर्मचारी निशाने पर
जस्‍ट नाउ
X