वैक्सिनेशन सर्टिफिकेट पर नरेंद्र मोदी की तस्वीर हास्यास्पद- भाजपा सांसद बोले, पूछा- स्वास्थ्य मंत्रालय ने अनुमति ली थी?

मोदी सरकार के कटु आलोचक और भारतीय जनता पार्टी (BJP) के वरिष्ठ नेता सुब्रमण्यम स्वामी ने एक बार फिर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी पर निशाना साधा है। स्वामी ने ट्वीट वैक्सिनेशन सर्टिफिकेट पर लगी पीएम की तस्वीर को हास्यास्पद बताया और पूछा कि क्या सर्टिफिकेट पर उनकी तस्वीर लगाने के लिए स्वास्थ्य मंत्रालय ने उनसे अनुमति ली थी?

Afghanistan, taliban,kabul, india, pm modi,BJP,subramanian swamy, jansatta
सुब्रमण्यम स्वामी ने एक बार फिर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी पर निशाना साधा है।

मोदी सरकार के कटु आलोचक और भारतीय जनता पार्टी (BJP) के वरिष्ठ नेता सुब्रमण्यम स्वामी ने एक बार फिर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी पर निशाना साधा है। स्वामी ने ट्वीट वैक्सिनेशन सर्टिफिकेट पर लगी पीएम की तस्वीर को हास्यास्पद बताया और पूछा कि क्या सर्टिफिकेट पर उनकी तस्वीर लगाने के लिए स्वास्थ्य मंत्रालय ने उनसे अनुमति ली थी?

भाजपा नेता ने गुरुवार को ट्वीट कर ‘डेक्कन हेराल्ड’ की एक रिपोर्ट शेयर की। जिसमें कहा गया है कि वैक्सीन सर्टिफिकेट पर पीएम मोदी की तस्वीर के चलते विदेश जाने वाले भारतीयों को परेशानी का सामना करना पड़ रहा है। इस रिपोर्ट को शेयर करते हुए स्वामी ने लिखा, “मुझे लगता है कि वैक्सिनेशन सर्टिफिकेट पर मोदी की तस्वीर हास्यास्पद है। क्या स्वास्थ्य मंत्रालय ने उनकी पूर्व अनुमति ली थी?

स्वामी के इस ट्वीट पर यूजर्स भी अपनी प्रतिक्रिया दे रहे हैं। एक यूजर ने लिखा, “मेरे दादा की उम्र 90 साल है और वे कहते हैं मोदी की तस्वीर हमें याद दिलाती है कि अगर इस स्थिति में कांग्रेस होती तो देश का क्या होता।” एक यूजर ने लिखा, “वो हमारे हीरो हैं तो उनकी तस्वीर से क्या दिक्कत है।”

कुछ दिन पहले सुब्रमण्यम स्वामी ने मोदी सरकार से सवाल पूछा था कि अफगानिस्तान सरकार में मंत्री बनने वालों को क्या अब आतंकी लिस्ट से बाहर करने को भारत मंज़ूरी देगा। स्वामी के मुताबिक तालिबान की अंतरिम सरकार के कम से कम 14 सदस्य संयुक्त राष्ट्र सुरक्षा परिषद की ब्लैक लिस्ट में हैं।

अफगानिस्तान के 33 सदस्यीय मंत्रिमंडल में चार ऐसे नेता शामिल हैं जो ‘तालिबान फाइव’ में शामिल थे। उन्हें गुआंतानामो जेल में रखा गया था। उनमें मुल्ला मोहम्मद फाजिल (उप रक्षामंत्री), खैरूल्लाह खैरख्वा (सूचना एवं संस्कृति मंत्री), मुल्ला नूरुल्लाह नूरी (सीमा एवं जनजातीय विषयक मंत्री) और मुल्ला अब्दुल हक वासिक (खुफिया निदेशक) शामिल हैं। इस समूह के पांचवें सदस्य मोहम्मद नबी उमरी को हाल में पूर्वी खोस्त प्रांत का गवर्नर नियुक्त किया गया।

पढें राष्ट्रीय समाचार (National News). हिंदी समाचार (Hindi News) के लिए डाउनलोड करें Hindi News App. ताजा खबरों (Latest News) के लिए फेसबुक ट्विटर टेलीग्राम पर जुड़ें।

अपडेट