ताज़ा खबर
 

2019 लोकसभा चुनाव में हिंदुत्व और राम मंदिर होगा बीजेपी का अहम मुद्दा: बीजेपी सांसद सुब्रमण्यम स्वामी

सुब्रमण्यम स्वामी ने कहा कि अगला चुनाव पार्टी अपने मूल सिद्धांत यानी हिंदुत्व पर लड़ेगी। इस शो के एंकर ने जब सुब्रमण्यम स्वामी से पूछा कि इस लड़ाई में शिवेसना आपके साथ नहीं है, तो इसपर जवाब देते हुए सुब्रमण्यम स्वामी ने कहा कि अभी शिवेसना हमसे भले ही नाराज है लेकिन वो उस वक्त हमारे साथ आ ही जाएगी।

बीजेपी के वरिष्ठ नेता और राज्यसभा सासंद सुब्रमण्यम स्वामी (Photo: PTI)

भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) के सांसद सुब्रमण्यम स्वामी ने कहा है कि भाजपा 2019 का लोकसभा चुनाव हिंदुत्व के मुद्दे पर ही लड़ेगी। सुब्रमण्यम स्वामी एक न्यूज चैनल के कार्यक्रम में बोल रहे थे। सुब्रमण्यम स्वामी ने कहा कि अगला चुनाव पार्टी अपने मूल सिद्धांत यानी हिंदुत्व पर लड़ेगी। इस शो के एंकर ने जब सुब्रमण्यम स्वामी से पूछा कि इस लड़ाई में शिवेसना आपके साथ नहीं है, तो इसपर जवाब देते हुए सुब्रमण्यम स्वामी ने कहा कि अभी शिवेसना हमसे भले ही नाराज है लेकिन वो उस वक्त हमारे साथ आ ही जाएगी।

इस शो में जब एंकर ने सुब्रमण्यम स्वामी से सवाल पूछा कि क्या उनकी पार्टी 2019 में विकास के मुद्दे को आगे नहीं रखेगी। इसपर जवाब देते हुए सुब्रमण्यम स्वामी ने पूर्व प्रधानमंत्री अटल बिहारी वाजपेयी समेत देश के कुछ प्रधानमंत्रियों के शासन काल के बारे में चर्चा करते हुए कहा कि उनके विचार से डेवलपमेंट (विकास) का मुद्दा दूसरे नंबर पर आता है। इसलिए इस बार चुनाव में हिंदुत्व का मुद्दा ही पहले स्थान पर रहेगा। इस शो में कांग्रेस नेता अभिषेक मनु सिंघवी भी मौजूद थे। सुब्रमण्यम स्वामी ने यहां कर्नाटक की गठबंधन सरकार को लेकर भी निशाना साधा। बीजेपी सांसद ने कहा कि कांग्रेस जिस गठबंधन में यहां है वो ज्यादा दिनों तक नहीं टिक पाएगी। सुब्रमण्यम स्वामी ने कहा कि यह सरकार पांच साल नहीं चलेगी।

सुब्रमण्यम स्वामी ने कहा कि उन्हें भरोसा है कि इस साल राम मंदिर के निर्माण का काम भी शुरू हो जाएगा। आपको बता दें कि हिंदुत्व और राम मंदिर यह दोनों एक ऐसा मुद्दा है जो हर बार चुनाव आते ही अचानक बाहर आ जाता है। भारतीय जनता पार्टी ने पिछले लोकसभा चुनाव में राम मंदिर के मुद्दे को अपने मेनिफेस्टो में शामिल किया था। पार्टी ने कानूनी तरीके से राम मंदिर बनवाने की बात भी कही थी। हालांकि फिलहाल राम मंदिर तो नहीं बना है लेकिन यह साफ हो चुका है कि बीजेपी अगले चुनाव में इस मुद्दे को एक फिर जोर-शोर से उठाएगी।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App