ताज़ा खबर
 

PM मोदी की अपील पर लाइट बंद करने से नहीं होगी ग्रिड फेल, ऊर्जा मंत्रालय ने किया साफ

प्रधानमंत्री मोदी ने लोगों से अपील की है कि 5 अप्रैल को वे अपने घरों की लाइट 9 मिनट के लिए बंद करें, इसके बाद से ही राज्यों की बिजली कंपनियों में ग्रिड फेल होने का डर फैलने लगा।

Edited By कीर्तिवर्धन मिश्र नई दिल्ली | Updated: April 4, 2020 5:31 PM
पीएम मोदी ने अपने संबोधन में देशवासियों से भावुक अपील की और उन्हें कोरोना के खिलाफ एकजुट रहने को कहा था। (एएनआई इमेज)

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने गुरुवार को देशवासियों से घर की लाइट बंद कर छतों और बाल्कनी पर दीए, टॉर्च या मोबाइल फ्लैशलाइट से रोशनी करने की अपील की। पीएम ने कहा था कि कोरोनावायरस और लॉकडाउन के अंधेरे के बीच एकजुट होकर अंधकार को प्रकाश से चुनौती दें। पीएम मोदी की इस अपील पर जहां अलग-अलग राज्यों के इलेक्ट्रिसिटी बोर्ड्स ने चिंता जताई थी, वहीं महाराष्ट्र के ऊर्जा मंत्री ने पीएम के उलट कहा था सभी लोगों को एक साथ लाइट बंद करने की जरूरत नहीं है, क्योंकि बिजली की खपत बढ़ने-घटने से ग्रिड फेल हो सकती है। इन बयानों के बीच अब खुद ऊर्जा मंत्रालय ने सफाई जारी की है।

ऊर्जा मंत्रालय ने शनिवार को बयान जारी कर कहा, “कुछ जगहों पर ऐसा डर जताया गया है कि एक साथ लाइट बंद करने के दौरान ग्रिड में अस्थिरता आ सकती है और वोल्टेज में उतार-चढ़ाव से बिजली से चलने वाले उपकरण खराब हो सकते हैं। यह डर बेवजह है।”
Coronavirus से जुड़ी जानकारी के लिए यहां क्लिक करें: कोरोना वायरस से बचना है तो इन 5 फूड्स से तुरंत कर लें तौबा | जानिये- किसे मास्क लगाने की जरूरत नहीं और किसे लगाना ही चाहिए |इन तरीकों से संक्रमण से बचाएं | क्या गर्मी बढ़ते ही खत्म हो जाएगा कोरोना वायरस?

ऊर्जा मंत्रालय ने आगे कहा, “भारत की इलेक्ट्रिसिटी ग्रिड मजबूत और स्थिर है और किसी भी तरह के वेरीएशन (बदलावों) से निपटने के लिए जरूरी इंतजाम और प्रोटोकॉल जारी कर दिए गए हैं। प्रधानमंत्री की सीधी अपील घरों की लाइट 9 बजे से 9:09 बजे तक बंद करने की है। उनकी अपील में न तो स्ट्रीट लाइट और न ही घर में लगे कंप्यूटर, टीवी, पंखे, फ्रिज और एसी बंद करने के लिए कहा गया है। सिर्फ लाइट बंद करने की अपील की गई है।”

“इसके अलावा हॉस्पिटल और कई जरूरी सेवाओं जैसे- सार्वजनिक स्थानों, नगरपालिकाओं से जुड़ी सेवा, दफ्तरों, पुलिस स्टेशनों और उत्पादन से जुड़ी फैसिलिटीज में लाइट्स जलती रहेंगी। प्रधानमंत्री ने लोगों से सिर्फ अपने घरों की बत्ती बंद करने के लिए कहा है। सभी स्थानीय संस्थानों को लोगों की सुरक्षा के लिए सड़कों पर लाइट जलाए रखने के लिए कहा गया है।”

क्या कहा था पीएम ने?
पीएम ने कहा था कि 5 अप्रैल को हम सबको मिलकर कोरोना के कोरोनावायरस से उभरे संकट के अंधकार को चुनौती देनी है। उसे प्रकाश की ताकत का परिचय कराना है। हमें 130 करोड़ देशवासियों की महाशक्ति का जागरण करना है। देशवासियों को महासंकल्प को नई ऊंचाइयों पर ले जाना है। पीएम मोदी के इस ऐलान के बाद बिजली कंपनियों में ग्रिड फेल होने का डर पैदा हो गया।

Next Stories
1 26 सवालों के बदले दिल्ली पुलिस को मौलाना साद का सिर्फ एक जवाब- अभी सेल्फ क्वारंटीन में हूं, बाकी मरकज खुलने के बाद
2 मस्जिद-मस्जिद भटक रही दिल्ली पुलिस, छापेमारी में निकले 400 से ज्यादा जमाती, कोरोना संक्रमित होने की आशंका
3 पीएम मोदी के आह्वान पर सियासी रार, महाराष्ट्र के बिजली मंत्री की उल्टी अपील- सारे लोग न करें बत्ती गुल!
ये पढ़ा क्या?
X