ताज़ा खबर
 

Bank Strike 2020 Date, Timings: 31 जनवरी से दो दिन की हड़ताल पर सरकारी बैंक कर्मचारी, प्रभावित रहेगा काम-काज

Bank Strike Tomorrow on 31st January 2020: एआईबीओसी के अध्यक्ष सुनील कुमार ने कहा कि इससे पहले मुख्य श्रमायुक्त के साथ बैठक बेनतीजा रही थी। सार्वजनिक क्षेत्र के बैंक र्किमयों का वेतन संशोधन नवंबर, 2017 से लंबित है।

bank strike, bank strike tomorrow, bank strike 2020, bank strike in jan 2020, bank strike news, bank strike today, bank strike today news, bank strike 31 jan 2020, bank strike on 31 jan 2020, bank strike news, bank strike in indiaBank Strike: तस्वीर का इस्तेमाल सिर्फ प्रस्तुतिकरण के लिए किया गया है। (एक्सप्रेस आर्काइव फोटो)

Bank Strike Tomorrow on 31st January 2020: सार्वजनिक क्षेत्र के बैंकों के कर्मचारी शुक्रवार से दो दिन ही हड़ताल पर रहेंगे, जिससे सामान्य बैंकिंग कामकाज प्रभावित हो सकता है। वेतन संशोधन को लेकर प्रबंधन के साथ बातचीत में सहमति नहीं बनने के बाद बैंक यूनियनों ने हड़ताल का आह्वान किया है।

भारतीय स्टेट बैंक (एसबीआईक) सहित विभिन्न बैंकों ने अपने ग्राहकों को सूचित कर दिया है कि हड़ताल से उनका सामान्य बैंकिंग परिचालन प्रभावित हो सकता है।

सरकारी बैंकों की हड़ताल ऐसे समय हो रही है, जबकि शुक्रवार से संसद का बजट सत्र शुरू हो रहा है। शनिवार को वित्त वर्ष 2020-21 का बजट पेश किया जाना है।

यूनाइटेड फोरम आफ बैंक यूनियंस (यूएफबीयू) ने हड़ताल का आह्वा किया है। इसमें आल इंडिया बैंक आफिसर्स कनफेडरेशन (एआईबीओसी), आल इंडिया बैंक एम्पलाइज एसोसिएशन (एआईबीईए) और नेशनल आर्गेनाइजेशन आफ बैंक वर्कर्स (एनओबीडब्ल्यू) सहित नौ बैंक यूनियनें शामिल हैं।

एआईबीओसी के अध्यक्ष सुनील कुमार ने कहा कि इससे पहले मुख्य श्रमायुक्त के साथ बैठक बेनतीजा रही थी। सार्वजनिक क्षेत्र के बैंक र्किमयों का वेतन संशोधन नवंबर, 2017 से लंबित है।

एआईबीईए के महासचिव सी एच वेंकटचलम ने कहा कि भारतीय बैंक संघ (आईबीए) के साथ हमारी मांगों को लेकर आज हुई बैठक विफल रही है। ऐसे में हम शुक्रवार से दो दिन की हड़ताल पर जा रहे हैं।

यूएफबीयू ने एक परिपत्र में आरोप लगाया है कि आईबीए वेतन संशोधन की उनकी मांग पर सख्त रवैया अपना रहा है। एनओबीडब्ल्यू के उपाध्यक्ष अश्विनी राणा ने कहा कि यूएफबीयू की 13 जनवरी को मुंबई में हुई बैठक में हम इस नतीजे पर पहुंचे थे कि हमें अपनी मांगों के समर्थन में अपने आंदोलन को तेज करना होगा।

Hindi News के लिए हमारे साथ फेसबुक, ट्विटर, लिंक्डइन, टेलीग्राम पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News AppOnline game में रुचि है तो यहां क्‍लिक कर सकते हैं।

Next Stories
1 VIDEO: डिबेट में मौलाना पर भड़के JDU नेता, ‘आग मत लगाएं, पेट्रोल लेकर बैठे हैं आप’; मिला जवाब- हमने मुस्लिमों का ठेका नहीं ले रखा है
2 मर्डर के दोषी ने बेटी का बर्थडे मनाने बच्चों को बुलाया था अपने घर, फिर बना लिया बंधक, नौ घंटे के ड्रामे का पुलिस ने किया यूं खात्मा
3 केंद्रीय मंत्री ने लगवाए थे गोली मारो के नारे, जामिया में मारी गोली, AAP के अमानतुल्लाह खान ने कहा- अनुराग ठाकुर के लोगों का है काम