ताज़ा खबर
 

सुशांत सिंह राजपूत के पिता से मिले CM मनोहर लाल खट्टर, IPS जीजा के घर भेंट के बीच रो पड़ीं बहन, जानें सुसाइड केस का हरियाणा कनेक्शन

सुशांत के परिजन को सीएम ने सांत्वना दी है और आश्वस्त किया है कि पूरा मामला सीबीआई के पास ट्रांसफर होने के बाद अब उन्हें न्याय जरूर मिलेगा। इसी बीच, महाराष्ट्र के गृह मंत्री अनिल देशमुख ने कहा है कि राज्य सरकार सुशांत केस में सुप्रीम कोर्ट के निर्देशों अनुसार आगे बढ़ेगी।

Author Edited By अभिषेक गुप्ता फरीदाबाद/पटना | Updated: August 8, 2020 5:01 PM
Sushant Singh Rajput Suicide Case, Sushant Singh Rajput Suicideसुशांत सिंह के परिजन से शनिवार को फरीदाबाद में भेंट करते हुए हरियाणा के मुख्यमंत्री मनोहर लाल खट्टर। (फोटोः ANI)

बॉलीवुड एक्टर सुशांत सिंह राजपूत के सुसाइड केस को लेकर हरियाणा के मुख्यमंत्री मनोहर लाल खट्टर शनिवार को अभिनेता के पिता और उनकी बहन रानी सिंह से मिले। यह भेट फरीदाबाद में सुशांत के जीजा और फरीदाबाद के पुलिस कमिश्नर ओपी सिंह के यहां हुई।

रिपोर्ट्स के मुताबिक, सीएम बल्लभगढ़ में एक स्कूल का उद्घाटन करने गए थे। कार्यक्रम के बाद वह सुशांत के जीजा के घर पहुंचे और वहां पर केके सिंह से मिले।

सूत्रों ने बताया कि सीएम के साथ बातचीत के दौरान पिता ऐक्टर के पिता खामोश रहे, जबकि बहन जज्बाती हो रोने लगीं। हालांकि, सुशांत के परिजन को सीएम ने सांत्वना दी है और आश्वस्त किया है कि पूरा मामला सीबीआई के पास ट्रांसफर होने के बाद अब उन्हें न्याय जरूर मिलेगा।

हरियाणा से भी है केस का कनेक्शनः सुशांत सुसाइड केस का कनेक्शन महाराष्ट्र और बिहार के अलावा हरियाणा से भी है। बिहार के सीएम नीतीश कुमार के जुड़े सूत्रों के हवाले से रिपोर्ट्स में बताया गया था कि हाल ही में हरियाणा के सीएम ने नीतीश को फोन कर उनसे राज्य में एक एफआईआर कराने का आग्रह किया था।

अंग्रेजी न्यूज साइट ‘ThePrint’ को एक सूत्र ने बताया था- सुशांत की मौत की सीबीआई जांच के लिए बिहार में बढ़ती अराजकता के बीच नीतीश कुमार महसूस कर रहे थे। उन्होंने खट्टर की सलाह ली।”

सुशांत के जीजा के इशारे पर खट्टर ने नीतीश को किया था फोन?: खबर के मुताबिक, बिहार बीजेपी के नेताओं का यह मानना है कि खट्टर ने वरिष्ठ आईपीएस अधिकारी ओपी सिंह के इशारे पर फोन किया था, जो कि सुशांत के जीजा हैं और सीएम के करीबी माने जाते हैं।

वहीं, खुद खट्टर का भी बिहार से जुड़ाव है। हरियाणा के सीएम बनने से पहले वह राजनीति में गुमनाम चेहरा थे। यूपी में तब वह आरएसएस के प्रचारक थे और कुछ-कुछ अंतराल पर बिहार जाते थे। इसी दौरान वह बिहार के कई नेताओं के संपर्क में आए और आज उनके वहां अच्छे संबंध माने जाते हैं।

‘बिहार पुलिस की जांच सही दिशा में तेजी से बढ़ी थी’: सुशांत केस के लिए मुंबई जाने के बाद क्वारंटीन किए गए आईपीएस अधिकारी विनय तिवारी ने कहा कि दो अगस्त को उन्हें पृथक-वास में रखे जाने से पहले तक मामले में बिहार पुलिस की जांच काफी तेजी से और सही दिशा में आगे बढ़ रही थी।

शुक्रवार देर रात पटना हवाईअड्डे पर उन्होंने निराशा जताते हुए कहा कि यात्रा की पहले से जानकारी होने के बावजूद मुंबई में ‘‘कोई उन्हें लेने हवाईअड्डा नहीं आया।’’ बता दें कि तिवारी सुशांत केस में अभिनेत्री रिया चक्रवर्ती के खिलाफ दर्ज प्राथमिकी की जांच के लिए रविवार को मुंबई पहुंचे थे, जहां उन्हें कोविड-19 महामारी के मद्देनजर पृथक-वास में रहने के लिए कहा गया था। तिवारी को शुक्रवार को बिहार लौटने की अनुमति दी गई थी।

Hindi News के लिए हमारे साथ फेसबुक, ट्विटर, लिंक्डइन, टेलीग्राम पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News AppOnline game में रुचि है तो यहां क्‍लिक कर सकते हैं।

Next Stories
1 केंद्र की कोयले की आत्मनिर्भर योजना के खिलाफ चार राज्यों ने पीएम मोदी को लिखी चिट्ठी, आदिवासी नेताओं ने भी आशियाना छिनने का किया विरोध
2 ‘पार्टी कैंडिडेट से बेहतर लगा भगवा उम्मीदवार, तो दे दिया वोट’, दो कांग्रेसी विधायकों ने दिया शो काउज नोटिस का जवाब
3 सर्वे: देश के 10 लोकप्रिय मुख्यमंत्रियों में भाजपा का सिर्फ एक चेहरा, टॉप पर योगी आदित्यनाथ, जानें- सबसे नीचे कौन?
ये पढ़ा क्या?
X