ताज़ा खबर
 

बोले खेल मंत्री किरेन रिजीजू- ‘नहीं बता सकता, दर्शक कब स्टेडियम में लौटेंगे’ 100 लोगों को ही एकत्र होने की इजाजत

खेल मंत्री ने कहा, "हमारा काम उस पर ध्यान देना है जो हम हासिल करना चाहते हैं। हमें लक्ष्य बनाने हैं, उन्हें काफी ऊंचा रखना है और ध्यान लगाना है कि हम क्या कर सकते हैं। मुझे लगता है कि 2028 में शीर्ष 10 में पहुंचने का लक्ष्य हासिल किया जा सकता है।"

Author नई दिल्ली | Updated: September 5, 2020 6:17 AM
केंद्रीय खेल मंत्री किरेन रिजीजू।

खेल मंत्री किरेन रिजीजू ने शुक्रवार को कहा कि वह दर्शकों की स्टेडियमों में वापसी का सही समय नहीं बता सकते जबकि सरकार ने अपने अनलॉक चार के दिशानिर्देशों में खेलों के लिए 100 लोगों तक इकट्ठा होने की अनुमति दे दी है।

पूर्व भारतीय कप्तान बाईचुंग भूटिया फुटबॉल स्कूल द्वारा डिजाइन किए गए ऐप के वर्चुअल लांच पर बोलते हुए रिजीजू ने कहा कि कोविड-19 महामारी से बने हालात ने यह कहना मुश्किल कर दिया है कि दर्शकों की स्टेडियमों में वापसी कब होगी। भारत में अभी तक कोविड-19 संक्रमितों की संख्या 39 लाख से ऊपर चली गई है।

खेल मंत्री रिजीजू ने कहा, ‘मैं इस पर (दर्शकों की स्टेडियमों में वापसी) फैसला नहीं कर पाऊंगा। मैं नहीं जानता कि अगले एक या दो महीनों में महामारी के हालात कैसे होंगे।’
रिजीजू ने कहा कि स्टेडियम में दर्शकों को अनुमति देने पर फैसला स्थानीय अधिकारियों द्वारा ही लिया जाएगा जो गृह मंत्रालय द्वारा जारी दिशानिर्देशों के अनुरूप ही होगा।

उन्होंने कहा, ‘गृह मंत्रालय ने कहा है कि राज्यों को अपने संबंधित क्षेत्रों में मौजूदा हालात के अनुसार ही फैसला करना होगा। भारत इतना विशाल देश है कि एक ही राज्य में अलग अलग क्षेत्रों में परिस्थितियां अलग अलग हैं।’

उन्होंने कहा, “इसलिये स्थानीय अधिकारी ही फैसला करेंगे लेकिन ऐसा केंद्र सरकार द्वारा बनाये गये प्रोटोकॉल के अनुसार होगा। हर किसी को प्रोटोकॉल का पालन करना होगा।”

रीजीजू ने भी स्वीकार किया कि उन्हें भारत के 2028 ओलंपिक की पदक तालिका में भारत के शीर्ष 10 में पहुंचने का अनुमान लगाने के लिये कुछ वर्गों से आलोचनाओं का सामना करना पड़ा।

उन्होंने कहा, “मैं जानता हूं कि कई लोग हैरान हो रहे हैं कि ऐसा कैसे होगा, काफी लोगों ने टिप्पणियां कीं, जो अच्छी नहीं थी। लेकिन यह लोकतांत्रिक देश है, लोगों के अपने विचार होंगे ओर हमें नहीं लगता कि हमें इन टिप्पणियों का जवाब देना चाहिए।”

खेल मंत्री ने कहा, “हमारा काम उस पर ध्यान देना है जो हम हासिल करना चाहते हैं। हमें लक्ष्य बनाने हैं, उन्हें काफी ऊंचा रखना है और ध्यान लगाना है कि हम क्या कर सकते हैं। मुझे लगता है कि 2028 में शीर्ष 10 में पहुंचने का लक्ष्य हासिल किया जा सकता है।”

महामारी के दौरान ट्रेनिंग जारी रखने में मदद करेगा ऐप
खेल मंत्री किरेन रिजीजू ने शुक्रवार को पूर्व भारतीय कप्तान बाईचुंग भूटिया फुटबॉल स्कूल द्वारा बनाया गया ‘एनजोगो’ ऐप लांच किया जो कोविड-19 महामारी के बीच युवाओं को ट्रेनिंग जारी रखने में मदद करेगा। ऐप लांच करते हुए रिजीजू ने कहा, ‘तकनीक भारत में जमीनी स्तर के खेलों में क्रांति ला सकती है।

फुटबॉल ट्रेनिंग एप ‘एनजोगो’ पूरे भारत में युवा फुटबॉलरों को ऑनलाइन कोचिंग देने में मदद करेगा जिससे देश के दूर दराज हिस्सों से भी प्रतिभा को तलाशने में मदद मिल सकती है।’ इस एप में वर्कआउट की लाइब्रेरी है जिसमें ड्रिल्स की इन बिल्ट वीडियो हैं जिसमें ऑडियो निर्देश भी हैं।

Hindi News के लिए हमारे साथ फेसबुक, ट्विटर, लिंक्डइन, टेलीग्राम पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News AppOnline game में रुचि है तो यहां क्‍लिक कर सकते हैं।

Next Stories
1 पति की हिम्मत के आगे हार गईं हजार किमी की बाधाएं, गर्भवती पत्नी की परीक्षा के लिए 12 सौ किमी की यात्रा
2 MP: मुर्हरम जुलूस निकालने पर पूर्व पार्षद पर NSA, गणेश पूजा के लिए BJP विधायक पर कुछ नहीं
3 रिया चक्रवर्ती का साथ दे रहे हो, तुम्हारे पुराने टेप्स मेरे पास हैं संजय राउत- Republic TV पर गरजे अरनब गोस्वामी
IPL 2020
X