कोरोना रोधी टीकाकरण की रफ्तार इक्कीस दिन में 44 फीसद घटी

कोरोना विषाणु संक्रमण रोधी टीकाकरण का नया चरण आरंभ होने के बाद दैनिक औसत खुराक में 21 जून से लगातार कमी देखी जा रही है।

covid 19
कोरोना की टीका लगवातीं महिला। फाइल फोटो।

कोरोना विषाणु संक्रमण रोधी टीकाकरण का नया चरण आरंभ होने के बाद दैनिक औसत खुराक में 21 जून से लगातार कमी देखी जा रही है। देश में 21 जून को टीके की नई मुहिम की जोरदार शुरुआत को बाद 11 जुलाई तक 21 दिन की अवधि में टीकाकरण की रफ्तार 44% घट गई है।
‘कोविन प्लेटफॉर्म’ पर उपलब्ध आंकड़ों के मुताबिक 21-27 जून वाले हफ्ते में हर दिन कोरोना रोधी टीके की औसतन 61.14 लाख खुराक दी गई।

इसके बाद के हफ्ते में 28 जून से चार जुलाई के बीच यह आंकड़ा कम होकर प्रतिदिन 41.92 लाख खुराक रह गया। इसके बाद, पांच से 11 जुलाई वाले हफ्ते में प्रतिदिन लगाई गई टीके की खुराक की औसत संख्या और कम होकर 34.32 लाख रह गई। राज्यों में टीकाकरण को लेकर मिलीजुली प्रवृत्ति देखने को मिली है, जिसमें कुछ राज्यों और केंद्रशासित प्रदेशों में टीकाकरण में निरंतरता है जबकि कहीं इसमें गिरावट आई है।‘कोविन पोर्टल’ के आंकड़ों के मुताबिक हरियाणा, आंध्र प्रदेश, कर्नाटक, गुजरात और छत्तीसगढ़ में 21-27 जून वाले हफ्ते से औसत दैनिक टीकाकरण में गिरावट देखी गई जबकि केरल, अंडमान निकोबार द्वीपसमूह, दादरा नागर हवेली और जम्मू-कश्मीर में दैनिक कोरोना टीकाकरण में निरंतरता देखी गई है।

असम और त्रिपुरा जैसे राज्यों में, जहां कोरोना विषाणु के नए मामलों में वृद्धि देखी जा रही है, वहां दैनिक औसत टीकाकरण में गिरावट देखी जा सकती है। इस गिरावट के बावजूद, कोरोना रोधी टीकाकरण के इससे पहले के चरण के मुकाबले यहां अब दैनिक औसत टीकाकरण अधिक है। आंकड़ों के मुताबिक 14-20 जून वाले हफ्ते में दैनिक औसत टीकाकरण 33.97 लाख था।

महाराष्ट्र ने टीके की अधिक खुराक मांगी है। महाराष्ट्र के स्वास्थ्य मंत्री राजेश टोपे ने सोमवार को कहा कि कोरोना विषाणु से बचाव के लिए राज्य की पूरी पात्र आबादी का जल्द से जल्द टीकाकरण करने के लिए प्रति माह कोरोना रोधी टीके की कम से कम तीन करोड़ खुराक की जरूरत होगी। दूसरी ओर, गुजरात सरकार के अधिकारियों ने सोमवार को कहा कि राज्य की जनता के कोरोना विषाणु से बचाव के लिए केंद्र से अब तक कोरोना रोधी टीके की पर्याप्त खुराक मिली हैं और राज्य के पास अभी टीके की करीब सात लाख खुराक और हैं। यहां के अधिकारियों ने विश्वास जताया कि राज्य के सभी पात्र लोगों को इस साल के अंत तक टीका लगा दिया जाएगा। केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय ने सोमवार को कहा कि राज्यों, केंद्रशासित प्रदेशों और निजी अस्पतालों के पास कोरोना रोधी टीके की 1.54 करोड़ से अधिक खुराक मौजूद है। इसमें बताया गया कि टीके की कुल खुराक में से 37,31,88,834 खुराक (बेकार गई खुराक समेत) का इस्तेमाल हुआ है।

सोमवार को कोरोना के 30 हजार मामले

देश में कोरोना विषाणु संक्रमण के सोमवार रात पौने ग्यारह बजे तक 30,807 मामले दर्ज किए गए जबकि संक्रमण की वजह से 537 लोगों की मौत हुई। ये आंकड़े राज्यों और केंद्रशासित प्रदेशों के स्वास्थ्य विभागों की ओर से जारी किए गए। देश में सोमवार को सभी राज्यों में आठ हजार से कम मामले दर्ज किए गए जबकि 18 राज्यों और केंद्रशासित प्रदेशों में सौ से कम मामले सामने आए।

देश में सोमवार को केरल में सबसे अधिक मामले दर्ज किए गए। केरल स्वास्थ्य विभाग के मुताबिक राज्य में कोरोना के 7,798 मामले दर्ज किए गए जबकि 100 लोगों की मौत हुई। केरल के अलावा महाराष्ट्र में 7,601, तमिलनाडु में 2,652, असम में 2,575, ओड़ीशा में 1,993, आंध्र प्रदेश में 1,578, कर्नाटक में 1,386, मणिपुर में 890, पश्चिम बंगाल में 885, तेलंगाना में 696, अरुणाचल प्रदेश में 566, छत्तीसगढ़ में 297, मेघालय में 273, त्रिपुरा में 270, मिजोरम में 190, जम्मू कश्मीर में 155, पंजाब में 119, गोवा में 108, उत्तर प्रदेश में 96, हिमाचल प्रदेश में 93, सिक्किम में 90, पुदुचेरी में 81, नगालैंड में 76, बिहार में 72, उत्तराखंड में 51, झारखंड में 49, दिल्ली में 45, राजस्थान में 33, गुजरात में 32, हरियाणा में 28, चंडीगढ़ में 10, लद्दाख में नौ, लक्षद्वीप में सात, दादर नागर हवेली व दमन दीव में दो और अंडमान निकोबार में एक मामला दर्ज किया गया।

राजस्‍थान में टीकाकरण में बाधा

राजस्थान में टीके की कमी के चलते 33 जिलों में से 25 जिलों में सोमवार को कोविड-19 टीकाकरण का सत्र आयोजित नहीं हुआ। स्वास्थ्य सचिव सिद्धार्थ महाजन ने कहा कि सोमवार को राज्य के पास केवल 10,000 खुराक थीं इसलिए राज्य के 25 जिलों में टीकाकरण सत्र कार्यक्रम नहीं हो सका।

पढें राष्ट्रीय समाचार (National News). हिंदी समाचार (Hindi News) के लिए डाउनलोड करें Hindi News App. ताजा खबरों (Latest News) के लिए फेसबुक ट्विटर टेलीग्राम पर जुड़ें।

अपडेट