ताज़ा खबर
 

UP में फेरबदल की अटकलें! BJP के राधामोहन सिंह ने की गवर्नर से मुलाकात, जानें- क्या हुई दोनों में बात?

पूर्व कृषि मंत्री और प्रदेश प्रभारी राधामोहन सिंह ने राज्यपाल से मुलाकात के बाद संवाददाताओं से बातचीत में नेतृत्व परिवर्तन की संभावना संबंधी सवाल पर कहा "ऐसा कुछ नहीं है।"

बीजेपी नेता राधामोहन सिंह ने उत्तर प्रदेश के राज्यपाल से मुलाकात की (फोटो- Twitter- @RadhamohanBJP)

उत्तर प्रदेश की राजनीति गर्म है। सरकार और संगठन में फेबदल की अटकलों के बीच रविवार को बीजेपी के प्रदेश प्रभारी राधा मोहन सिंह ने राज्यपाल आनंदीबेन पटेल से मुलाकात कर एक बंद लिफाफा सौंपा है। हालांकि यह अभी साफ नहीं हो पाया है कि प्रदेश प्रभारी ने जो लिफाफा राज्यपाल को दिया है उसमें क्या है।

पूर्व कृषि मंत्री और प्रदेश प्रभारी राधामोहन सिंह ने राज्यपाल से मुलाकात के बाद संवाददाताओं से बातचीत में नेतृत्व परिवर्तन की संभावना संबंधी सवाल पर कहा “ऐसा कुछ नहीं है। उत्तर प्रदेश सरकार और संगठन बहुत मजबूती के साथ चल रहे हैं। देश के अंदर सबसे मजबूत संगठन और सबसे लोकप्रिय सरकार उत्तर प्रदेश में ही काम कर रही है।” राज्यपाल से मुलाकात की वजह के बारे में भाजपा उपाध्यक्ष ने बताया कि पार्टी का उत्तर प्रदेश प्रभारी बनने के बाद अभी तक राज्यपाल से मुलाकात नहीं हो पाई थी इसीलिए वह मिलने चले आए।

इस सवाल पर कि यह मुलाकात कहीं प्रदेश मंत्रिमंडल के विस्तार को लेकर तो नहीं हुई, सिंह ने कहा, ‘‘यह एक औपचारिक और व्यक्तिगत भेंट थी।’’ गौरतलब है कि उत्तर प्रदेश में नेतृत्व परिवर्तन और मंत्रिमंडल विस्तार की अटकलों के बीच भाजपा उपाध्यक्ष राधा मोहन सिंह और पार्टी के राष्ट्रीय महासचिव संगठन बीएल संतोष ने पिछले हफ्ते राजधानी लखनऊ पहुंचकर मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ, उप मुख्यमंत्री केशव प्रसाद मौर्य और डॉक्टर दिनेश शर्मा तथा प्रदेश के तमाम मंत्रियों और वरिष्ठ पदाधिकारियों से अलग-अलग बैठक की थी।

ऐसी अटकलें लग रही थी कि विधानसभा चुनाव से बमुश्किल आठ महीने पहले कोविड-19 महामारी प्रबंधन को लेकर राज्य सरकार के प्रति अदालतों के कड़े रुख से उत्पन्न असहज स्थितियों तथा कुछ अन्य कारणों से सरकार और पार्टी में नेतृत्व परिवर्तन हो सकता है।

हालांकि राधा मोहन सिंह ने इसे पूरी तरह कल्पना करार दिया था। बहरहाल, सिंह के शनिवार को अचानक दोबारा लखनऊ पहुंचने से कयासों का दौर फिर से शुरू हो गया है।

Next Stories
1 पूर्व नौकरशाहों का पीएम मोदी को खत: लक्षद्वीप में विकास के नाम पर जो हो रहा है वह…..
2 चढ़ूनी के साथ हजारों आंदोलनकारी किसान दिल्ली की ओर बढ़े, टिकैत ने कहा- सरकार को वापस लेने ही होंगे कानून
3 श्रम संहिताओं को लागू करने की तैयारी, कर्मियों के हाथ में आने वाले वेतन घटेगा, पर बढ़ेगा PF
ये पढ़ा क्या?
X