ताज़ा खबर
 

नीरव की कैद के लिए जेल में बनी विशेष कोठरी, गद्दा, रजाई, बेडशीट और तकिया के साथ तीन वर्गमीटर जगह दी जाएगी

मुंबई की आर्थर रोड जेल के अधिकारी ने बताया कि नीरव मोदी को यहां लाए जाने के बाद उसे उच्च सुरक्षा वाले बैरक नंबर 12 की तीन कोठरियों में से एक में रखा जाएगा।

Author मुंबई | Updated: February 27, 2021 4:24 AM
judicial actionभगोड़ा हीरा व्यापारी नीरव मोदी। (फोटो- इंडियन एक्सप्रेस फाइल)

पंजाब नेशनल बैंक घोटाले में जालसाजी और धनशोधन के आरोपों में वांछित हीरा कारोबारी नीरव मोदी के प्रत्यर्पण के पक्ष में एक ब्रिटिश अदालत का फैसला आने के साथ ही मुंबई की आर्थर रोड जेल ने उसे रखने के लिए एक विशेष कोठरी तैयार कर ली है। एक अधिकारी ने शुक्रवार को यह जानकारी दी।

जेल अधिकारी ने बताया कि नीरव मोदी को यहां लाए जाने के बाद उसे उच्च सुरक्षा वाले बैरक नंबर 12 की तीन कोठरियों में से एक में रखा जाएगा। उन्होंने कहा कि जेल में नीरव मोदी को रखने की तैयारी पूरी कर ली गई है। प्रत्यर्पण के बाद वह जब भी भारत लाया गया, जेल की कोठरी उसके लिए तैयार है।’

ब्रिटेन के एक न्यायाधीश ने गुरुवार को कहा कि नीरव मोदी को अपने खिलाफ मामले में भारतीय अदालतों के समक्ष जवाब देना है और ऐसा कोई प्रमाण नहीं है जिससे संकेत मिलता हो कि भारत में उसके मामले की निष्पक्ष सुनवाई नहीं होगी। नीरव मोदी प्रत्यर्पण के विरूद्ध करीब दो साल की अपनी कानूनी लड़ाई हार गया। आरोपों की गंभीरता की वजह से उसे बार-बार जमानत से वंचित होना पड़ा और वह मार्च, 2019 में गिरफ्तारी के बाद से लंदन की एक जेल में है।

महाराष्ट्र के जेल विभाग ने 2019 में केंद्र को जेल की स्थिति और नीरव मोदी को रखने के लिए सुविधाओं के बारे में जानकारी दी थी। अधिकारी ने बताया कि ब्रिटेन में वेस्टमिंस्टर मजिस्ट्रेट कोर्ट में नीरव मोदी की प्रत्यर्पण सुनवाई के दौरान केंद्र ने राज्य के गृह विभाग से जेल के बारे में सूचनाएं मांगी थी। राज्य सरकार ने पत्र लिखकर केंद्र को उन सुविधाओं का आश्वासन दिया था जो वह जेल में प्रदान कर सकती है। जेल विभाग ने यह भी आश्वासन दिया था कि जिस कोठरी में नीरव मोदी को रखा जाएगा, वहां कम कैदी होंगे।

अधिकारी ने कहा कि यदि नीरव मोदी को बैरक में रखा जाता है तो उसे तीन वर्गमीटर निजी स्थान मिलेगा और वहां सूती का गद्दा, तकिया, बेडशीट और रजाई प्रदान की जाएगी। उन्होंने बताया कि जेल विभाग ने पर्याप्त रोशनी, हवादार जगह और निजी सामान के लिए भंडार सुविधा का भी आश्वासन दिया।

अधिकारी के अनुसार प्रशासन ने पहले सरकार से कहा था कि यदि भगोड़े विजय माल्या को भी ब्रिटेन से भारत लाया जाता है तो उसे भी आर्थर रोड जेल के उसी बारह नंबर बैरक में रखा जाएगा। राज्य सरकार ने केंद्र को विजय माल्या के संदर्भ में ऐसा ही आश्वासन पत्र दिया था। माल्या धनशोधन एवं धोखाधड़ी के आरोपों से घिरा है। वह मार्च, 2016 से ब्रिटेन में है।

Next Stories
1 पेट्रोल 100₹ पार होने पर बांटी मिठाई, कहा- मोदी जी ने इतिहास रच दिया; बिहार में अलग अंदाज में हुआ महंगाई का विरोध
2 AIMIM को मोदी-शाह बहुत पंसद, बंगाल में अलग रैली की क्या ज़रूरत- डिबेट में बोले पैनलिस्ट
3 बॉम्बे हाईकोर्ट ने खारिज की नितिन गडकरी की याचिका, चुनाव में गलत सूचना देने का है आरोप
ये पढ़ा क्या?
X