ताज़ा खबर
 

सरकार ने आयोजित किया गौशाला पर बड़ा सेमिनार, मंत्रियों को सुनने पड़े तीखे सवाल

सबसे पहला बवाल इसी बात पर हुआ कि स्वदेशी गाय के पालन-पोषण को बढ़ावा देने वाले कार्यक्रम में बांटी गई बुकलेट में लगी फोटो ही विदेशी गाय की थी।

पर्यावरण मंत्री प्रकाश जावड़ेकर, कृषि मंत्री राधा मोहन के साथ सोमवार को दिल्ली के विज्ञान भवन में (एक्सप्रेस फोटो)

केंद्र सरकार की तरफ से गाय और गौ-शाला के विकास के लिए सोमवार (16 मई) को किया गया कार्यक्रम कई वजहों से फेल हो गया। यह कार्यक्रम कृषि और पर्यावरण मंत्रालय की तरफ से करवाया गया था। जिसमें गाय की संख्या में इजाफे, दूध की पैदावार बढ़ाने और मवेशियों की स्वदेशी किस्मों के प्रति रुचि जगाने की बात की जानी थी।

Read Also: 25 गायें पाल रहे हैं मध्‍य प्रदेश के CM शिवराज सिंह चौहान, एजेंडे में है गौशाला खोलना

सबसे पहला बवाल इसी बात पर हुआ कि स्वदेशी गाय के पालन-पोषण को बढ़ावा देने वाले कार्यक्रम में बांटी गई बुकलेट में लगी फोटो ही विदेशी गाय की थी। इसके बाद वहां आए लोग दोनों मंत्रालयों के मंत्री राधा मोहन सिंह और प्रकाश जावड़ेकर के इंग्लिश में भाषण देने पर भी नाराज हो गए। इसके बाद तो विज्ञान भवन में ‘भारत माता की जय’, ‘गौमाता की जय’ के नारे गूंजने लगे।

Read Also: गौशाला को 25 लाख रुपए दान देंगी आजम खान की पत्‍नी, कहा- मैं भी हूं गौसेवक

वहीं, मंत्रियों के भाषण के दौरान लोग चिल्ला-चिल्लाकर कह रहे थे कि उन्हें गौशाला के लिए बनाई गई सरकार की किसी भी स्कीम का फायदा नहीं हो रहा है। हालांकि, इसपर कृषि मंत्री राधा मोहन ने सफाई देते हुए कहा कि उन्होंने कुछ गांवों का दौरा किया है जहां पर सरकार की स्कीम पर काम हो रहा है।

Read Also: गायों की सेवा के लिए पंजाब सरकार ने बनाया नया प्‍लान

फिर लोगों ने गौ-हत्या पर पाबंदी पर भी सवाल उठाए। इसके बाद जो कार्यक्रम शाम तक चलना था उसे चाय के एक ब्रेक के बाद ही खत्म कर दिया गया। इस कार्यक्रम में गृह मंत्री राजनाथ सिंह भी आने वाले थे जो कि किसी और काम की वजह से इसमें शामिल नहीं हो पाए।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ लिंक्डइन पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App

Next Stories
ये पढ़ा क्या?
X
Testing git commit