ताज़ा खबर
 

SP कार्यकर्ता की खिंची साड़ीः सीएम के आदेश पर सीओ और थाना प्रभारी सस्पेंड

सूबे के लखीमपुर खीरी में समाजवादी पार्टी नेता अनीता यादव की साड़ी खींचे जाने की अशोभनीय घटना सामने आई है।

सपा महिला प्रस्तावक की बीच सड़क पर साड़ी खींची गई। (फोटो सोर्स – सोशल मीडिया)

उत्तर प्रदेश में पंचायत चुनाव के दौरान कई जगह हिंसा की घटनाएं पेश आई हैं। यहां तक कि सूबे के लखीमपुर खीरी में समाजवादी पार्टी नेता अनीता यादव की साड़ी खींचे जाने की अशोभनीय घटना भी सामने आई है। फिलहाल मामले में बीजेपी सांसद रेखा वर्मा के रिश्तेदार की गिरफ्तारी हुई है। सीएम के आदेश पर सीओ और थाना प्रभारी को भी सस्पेंड कर दिया गया है। मामले पर सपा अध्यक्ष अखिलेश यादव ने कहा, ‘लखीमपुर में एक बहन का अपमान हुआ है, बीजेपी से ऐसी गुंडागर्डी की उम्मीद न थी…प्रशासन गुंडों के साथ खड़ा है…ये चुनाव नहीं जीत सकते हैं, तो इस तरह की गुंडागर्दी कर रहे हैं, जो हुआ है सीएम के इशारों पर हुआ है। यूपी की जनता सबक सिखाएगी। मायावती से कुछ नहीं कहना है।’

क्या बोलीं मायावती:वहीं, बहुजन समाज पार्टी (बसपा) सुप्रीमो मायावती ने शुक्रवार को कहा कि उत्तर प्रदेश पंचायत चुनाव में पहले जिला पंचायत अध्यक्ष और अब ब्लॉक प्रमुख के चुनाव में भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) द्वारा कथित तौर पर सत्ता और धनबल का घोर दुरुपयोग तथा हिंसा की घटनाएं राज्य में समाजवादी पार्टी (सपा) के शासन की अनेक यादें ताजा कराती हैं।मायावती ने ट्वीट कर आरोप लगाया, ”उत्तर प्रदेश पंचायत चुनाव में भाजपा द्वारा पहले जिला पंचायत अध्यक्ष व अब ब्लॉक प्रमुख के चुनाव के दौरान भी सत्ता एवं धनबल का घोर दुरुपयोग तथा हिंसा की घटनाएं सपा शासन की अनेक यादें ताजा कराती हैं। इसीलिए बसपा ने इन दोनों चुनावों को नहीं लड़ने का फैसला किया है।”

मायावती ने कहा, ”अब जब उत्तर प्रदेश विधानसभा का चुनाव निकट है तो सपा प्रदेश की भाजपा सरकार के विरूद्ध जुबानी विरोध व आक्रामकता दिखा रही है जो घोर छलावा और अविश्वसनीय हैं, क्योंकि सत्ता के दुरुपयोग व हर कीमत पर चुनाव जीतने के इन्हीं हथकंडों के कारण सपा का पूरा शासनकाल चर्चाओं में रहा। जनता कुछ भी नहीं भूली।”

बसपा नेता ने कहा, ”साथ ही, बात-बात पर ‘हल्लाबोल’ के तेवर वाली सपा यहां के गरीबों, किसानों व बेरोजगारों के अधिकारों तथा दलितों, पिछड़ों व मुस्लिम समाज पर लगातार हो रहे अन्याय-अत्याचार व हिंसा आदि पर अब तक निष्क्रिय क्यों रही है? यह भी सोचने की बात है।”

राजभर ने बीजेपी को बताया गुंडों की पार्टी: मामले पर ओमप्रकाश राजभर का कहना है, ‘यूपी में लोकतंत्रा की हत्या हुई। महाभारत में जैसे चीरणहरण हुआ, वही पैटर्न बीजेपी शासन काल में दिख रहा है। ये करते कुछ, कहते कुछ हैं। जितने माफिया, गुंडा, व्यभिचारी हैं सब बीजेपी में हैं, इसका नतीजे देखने को मिल रहा है। लोकतंत्र की हत्या कर रहे हैं। सरकार बीजेपी की है, तो आरोप क्यों लगा रही है। उसके पास पुलिस है, क्यों नहीं जांच कर लेते। पाक के बम पर तुरंत बता देते हैं कि किसने क्या किया। यह तो छोटी सी घटना है। बीजेपी के लोग ये सब कराते हैं। मैं इसका प्रमाण दूंगा।’

सोशल मीडिया में भी गुस्सा: सोशल मीडिया पर यूजर्स ने मामले पर रिएक्ट किया और #updgp_निकम्मा_है ट्रेंड कराया। अनूप एमएस (@AnupSinnur) ने लिखा, ‘अगर पुलिस ईमानदारी से काम करती है तो बीजेपी के ज्यादातर कार्यकर्ता गिरफ्तार हो जाएंगे।’ रजत (@RajatDivyakirti) ने लिखा, ‘इस तरह की चीजें अगर बढ़ रही हैं तो इसके लिए कौन जिम्मेदार है।’

पंचायतों में ब्लॉक प्रमुख का हो रहा चुनाव: मालूम हो कि राज्‍य निर्वाचन आयोग के अनुसार उत्तर प्रदेश के सभी 75 जिलों के 825 क्षेत्र पंचायतों में ब्लॉक प्रमुख के चुनाव के लिए बृहस्पतिवार को पूर्वाह्न 11 बजे से अपराह्न तीन बजे तक नामांकन पत्र दाखिल करने का समय निर्धारित था और इसके बाद नामांकन पत्रों की जांच शुरू हुई। शुक्रवार को नामांकन पत्रों की वापसी और शनिवार 10 जुलाई को मतदान होना है।

Next Stories
1 WhatsApp ने कोर्ट से कहा- यूजर्स को नई निजता नीति अपनाने को न करेंगे बाध्य
2 दफ़्तर में ठाठ से बैठे ज्योतिरादित्य सिंधिया तो मजे ले लोग बोले- सचिन पायलट देख रहे हो?
3 मोदी मंत्रिमंडल विस्तार के बाद अब BJP में होगा फेरबदल, संसदीय बोर्ड में सभी अहम पद खाली
ये पढ़ा क्या?
X