ताज़ा खबर
 

‘300 विधायक नाराज, कुर्सी बचाने के लिए योगी ने पुलिस को किया फ्री हैंड’ पुलिस की कार्रवाई पर भड़के अखिलेश यादव

सपा नेता ने कहा कि कार्ल मार्क्स के दिनों में सरकार ने प्रेस पर नकेल कस दी थी। हिटलर के वक्त उनके विश्वसनीय सलाहकार गोएबल्स ने रेडियो स्टेशनों पर नियंत्रण कर लिया था। पूछा क्या आज भी वैसा ही नहीं हो रहा है?

सपा नेता अखिलेश यादव (फोटो सोर्स- विशाल श्रीवास्तव-इंडियन एक्सप्रेस )

यूपी के पूर्व मुख्यमंत्री और समाजवादी पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष अखिलेश यादव ने कहा कि नागरिकता संशोधन कानून और राष्ट्रीय नागरिकता रजिस्टर से लोगों में नाराजगी है। कहा कि गांवों में जाकर चुनाव परिणामों के बारे में पूछने पर लोग कहते हैं कि यह समझ से परे है कि गठबंधन हार गया। बोले केंद्र ने नोटबंदी का फैसला लिया तो कहा था कि यह जनता के हित में है, लेकिन इसके नतीजे सामने हैं। इसी तरह का फैसला जीएसटी का था। अब तो बड़े-बड़े अर्थशास्त्री भी इन फैसलों से बड़े आर्थिक संकट की बात कहने लगे हैं। बैंकिंग व्यवस्था बिगड़ गई है। एनपीए बढ़ रहा है। पूछा कि आप इसके चक्रव्यूह से कैसे निकलेंगे?

बोले पीएम अपने सीएम को नहीं पहचान पाए : इंडियन एक्सप्रेस से बात करते हुए अखिलेश यादव ने बताया कि अगर वे सीएम होते तो किसी भी नेता को विरोध करने से नहीं रोकते। अपने कार्यकाल के बारे में बोलते हुए कहा कि “मुजफ्फरनगर की घटना के दौरान कुछ अपवादों को छोड़कर मैंने किसी भी नेता को वहां जाने से नहीं रोका था। मैंने तो यह भी कहा था कि मैं गरीबों की भलाई में किसी भी सुझाव का समर्थन करूंगा।” पीएम मोदी के कपड़ों से पहचान वाली टिप्पणी पर बोले “अगर कपड़े से लोगों को पहचान सकते हैं तो प्रधानमंत्री जी अपने बगल के लोगों को नहीं पहचान सके। अगर कपड़ों से पहचान सकते हैं तो कैसे नहीं पाए कि हमारे मुख्यमंत्री जी कि विचारधारा क्या कहती है।”

Hindi News Today, 31 December 2019 LIVE Updates: देश-दुनिया की हर खबर पढ़ने के लिए यहां करें क्लिक

आरोप बीजेपी संविधान से खेल रही है : सपा मुखिया ने कहा कि मैंने सुना है कि जेपी आंदोलन या लोहिया के आह्वान के समय कैसे लोग एक आवाज पर बाहर निकलते थे। लेकिन मैंने पहली बार देखा कि अब लोग विरोध में घर से बाहर खुद निकल रहे हैं। ये वे लोग हैं जो भारत माता से प्रेम करते हैं। जो महसूस करते हैं कि हमारे संविधान और इसकी प्रस्तावना के साथ खेल किया जा रहा है। हर जाति और धर्म के लोग बाहर निकल रहे हैं। पूरा भारत बाहर निकल रहा है। बीजेपी इन्हें पहचान नहीं पा रही है।

कहा यूपी में हिटलर जैसा शासन : बोले कार्ल मार्क्स के दिनों में भी जब वह अपने विचारों को जनता के बीच ले जाना चाहता था, तब सरकार ने प्रेस पर नकेल कस दी थी। हिटलर के वक्त उनके विश्वसनीय सलाहकार गोएबल्स ने रेडियो स्टेशनों पर नियंत्रण कर लिया था। पूछा क्या आज भी वैसा ही नहीं हो रहा है? कहा कि सीएम योगी से उनके 300 से ज्यादा विधायक नाराज हैं। वह अपनी कुर्सी बचाने के लिए पुलिस को फ्री हैंड छोड़ दिए हैं।

Next Stories
1 CAA Protest: असम में हजारिका- जुबिन गर्ग के गीत बने विरोध गान, कोलकाता में पुजारियों ने निकाला मार्च
2 ‘राहुल गांधी मूर्ख ही नहीं, मूर्खों में सबसे बड़े’ बीजेपी MP नायाब सिंह सैनी के बिगड़े बोल, कहा- लोगों को गुमराह कर रहा विपक्ष
3 ‘भारत में रहेंगे और बोलेंगे पाकिस्तान जिंदाबाद, नहीं चलेगा’ मेरठ के एसपी के समर्थन में उतरे केंद्रीय मंत्री गिरिराज सिंह
ये पढ़ा क्या?
X