ताज़ा खबर
 

सपा नेता अबु आजमी का करण जौहर पर निशाना- इतने बड़े हो, शादी नहीं कर सकते, सरोगेसी क्‍या नाटक है

सपा नेता अबु आजमी ने फिल्‍ममेकर करण जौहर के सरोगेसी के जरिए पिता बनने पर निशाना साधा है।

abu azmi, karan johar, karan johar fatherhood, abu azmi target karan johar, karan johar children, karan johar surrogacy, karan johar newsसपा नेता अबु आजमी ने फिल्‍ममेकर करण जौहर के सरोगेसी के जरिए पिता बनने पर निशाना साधा है।

सपा नेता अबु आजमी ने फिल्‍ममेकर करण जौहर के सरोगेसी के जरिए पिता बनने पर निशाना साधा है। उन्‍होंने मीडियाकर्मियों से इस बारे में कहा, ”इतने बड़े हो गए, शादी नहीं कर सकते? कोर्इ बीमारी है तो एडॉप्‍ट कर लो। सरोगेसी का क्‍या नाटक है ये?” बता दें कि करण जौहर ने चार मार्च को टि्वटर के जरिए बयान जारी कर बताया था कि वे सरोगेसी के जरिए दो जुड़वा बच्‍चों के पिता बने हैं। उन्‍होंने अपने बच्‍चों का नाम यश और रूही बताया था। 7 फरवरी को सरोगेसी के जरिए वे जुड़वां बच्चों के पिता बने थे। बच्चों का बर्थ रजिस्ट्रेशन इस शुक्रवार को हुआ।

रजिस्ट्रेशन में करण जौहर को बच्चों का पिता बताया गया, लेकिन मां के नाम का जिक्र नहीं है। करण जौहर ने अपने ट्विटर अकाउंट पर एक ओपन लेटर लिखा जिसमें उन्होंने अपने बच्चों के नाम का जिक्र करते हुए लिखा- ‘मेरी लाइफ में रूही और यश की एंट्री हो गई है और अब ये दोनों मेरी जिंदगी बन गए हैं। इसके लिए मैं मेडिकल साइंस का शुक्रिया कहूंगा। मेरे लिए ये बहुत भावुक पल है। अब मेरी जिम्मेदारियां और बढ़ गई हैं।’ इनका जन्म मुंबई के अंधेरी स्थित मसरानी हॉस्पिटल में हुआ है। मालूम हो कि बॉलीवुड सुपरस्टार शाहरुख खान का तीसरा बेटा अबराम भी जून 2013 में इसी अस्पताल में पैदा हुआ था। इसके अलावा 2016 में तुषार कपूर ने भी अविवाहित रहते हुए सरोगेसी से लक्ष्य के जन्म की घोषणा की थी।

अबू आजमी पहले भी विवादित बयान दे चुके हैं। उन्‍होंने बेंगलूरू में नए साल के जश्न में हुई पार्टी में लड़कियों से हुई छेड़छाड़ पर कहा था कि बेंगलूरू में लड़कियों के साथ हुई छेड़छाड़ के लिए उनके छोटे कपड़ों को जिम्मेदार बताया। आजमी ने कहा, ‘जो हुआ वह गलत था, केस रजिस्टर होना चाहिए। लेकिन अगर आज हम लड़के-लड़कियों के साथ बाहर जाने पर कुछ बोलेंगे तो हमें पुराने जमाने का कहा जाने लगेगा। लेकिन हमारी संस्कृति में पुरुष-महिलाओं के बीच औचित्य होना चाहिए। लेकिन आज के जमाने में महिला जितना नग्न रहती हैं उन्हें उतना ही उन्हें मॉडर्न और पढ़ा-लिखा कहा जाता है। यह देश में ज्यादा ही बढ़ रहा है। यह हमारी संस्कृति पर धब्बे की तरह है।’ आजमी यहीं नहीं रुके। उन्होंने सलाह दी कि महिलाओं को परिवार के साथ ही बाहर निकलना चाहिए।

Hindi News के लिए हमारे साथ फेसबुक, ट्विटर, लिंक्डइन, टेलीग्राम पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News AppOnline game में रुचि है तो यहां क्‍लिक कर सकते हैं।

Next Stories
1 राजदीप सरदेसाई ने बीएचयू वीसी के पीएम मोदी के रोड शो में शामिल होने की खबर पर मांगी माफी, कहा- तस्‍वीरें गलत निकली
2 उरी हमला: आतंकियों के गाइड नहीं थे पकड़े गए पाकिस्‍तानी छात्र, छेड़खानी के बाद पिटाई से बचने के लिए पार किया बॉर्डर
3 8 दिन की बच्ची के लिए रक्षक बने पीएम नरेंद्र मोदी, एयरलिफ्ट कर बचाई गई जान
यह पढ़ा क्या?
X