ताज़ा खबर
 

अखिलेश बनाएंगे होटल तो मुलायम खोलेंगे लाइब्रेरी, प्रशासन को भेजा नक्‍शा

उच्चतम न्यायालय के आदेश पर लखनऊ के पॉश इलाके में स्थित अपने सरकारी बंगले खाली करने के बाद सपा अध्यक्ष अखिलेश यादव और उनके पिता मुलायम सिंह यादव ने उसी इलाके में अपनी जमीन पर क्रमश: एक गेस्ट हाउस और लाइब्रेरी खोलने के लिये लखनऊ विकास प्राधिकरण (एलडीए) में नक्शा दाखिल किया है।

Author नई दिल्ली | July 5, 2018 5:27 PM
अखिलेश यादव और मुलायम सिंह यादव

उच्चतम न्यायालय के आदेश पर लखनऊ के पॉश इलाके में स्थित अपने सरकारी बंगले खाली करने के बाद सपा अध्यक्ष अखिलेश यादव और उनके पिता मुलायम सिंह यादव ने उसी इलाके में अपनी जमीन पर क्रमश: एक गेस्ट हाउस और लाइब्रेरी खोलने के लिये लखनऊ विकास प्राधिकरण (एलडीए) में नक्शा दाखिल किया है। एलडीए के अधिकारियों ने आज बताया कि विक्रमादित्य मार्ग स्थित पूर्व मुख्यमंत्री अखिलेश के भूखण्ड संख्या 1 ए पर गेस्ट हाउस ‘हिबिस्कस हेरिटेज‘ बनाने के लिये 28 जून को नक्शा दाखिल किया गया था। इसी तरह उनके पूर्व मुख्यमंत्री पिता मुलायम सिंह यादव ने एक अन्य प्लॉट पर लाइब्रेरी बनाने के लिये नक्शा प्रस्तुत किया है।

ऐसी खबरें आयी थीं कि अखिलेश अपनी जमीन पर एक होटल का निर्माण कराने जा रहे हैं लेकिन उनके करीबी विधान परिषद सदस्य आनंद भदौरिया ने इससे इनकार किया है।
भदौरिया ने कहा कि वह संस्थागत जमीन है और वहां पर गेस्ट हाउस बनेगा, ना कि होटल। चूंकि अखिलेश और मुलायम दोनों की ही जमीन हाई सिक्योरिटी जोन में आती है लिहाजा नक्शा पास करने से पहले विभिन्न विभागों से अनापत्ति प्रमाणपत्र लेना होगा।

HOT DEALS
  • Micromax Vdeo 2 4G
    ₹ 4650 MRP ₹ 5499 -15%
    ₹465 Cashback
  • Lenovo K8 Plus 32GB Venom Black
    ₹ 8925 MRP ₹ 11999 -26%
    ₹1339 Cashback

एलडीए के अधिशासी अभियंताओं ने इस मामले को लखनऊ नगर निगम के चीफ आर्किटेक्ट के पास भेजा है। साथ ही महानिदेशक (सुरक्षा), राज्य सम्पत्ति अधिकारी और लखनऊ जल संस्थान के महाप्रबंधक और एलडीए के नुजूल भू अधिकारी से अनापत्ति प्रमाणपत्र मांगे गये हैं। अखिलेश और उनकी पत्नी ने वर्ष 2005 में विक्रमादित्य मार्ग पर करीब 23 हजार वर्गफुट की जमीन 39 लाख रुपये में खरीदी थी। अब इसकी कीमत करोड़ों में पहुंच चुकी है।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App