ताज़ा खबर
 

बीजेपी से सवाल पूछने में राहुल गांधी ने कर दी बड़ी गलती, मोदी सरकार पर साधा न‍िशाना, पर उल्‍टा पड़ा ताना

कांग्रेस उपाध्यक्ष राहुल गांधी ट्विटर पर एक बार फिर से ट्रोल किए जा रहे हैं। जिसके बाद से सोशल मीडिया यूजर्स उनका जमकर मजाक उड़ा रहे हैं।
कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी। (फाइल फोटो)

कांग्रेस उपाध्यक्ष राहुल गांधी ट्विटर पर एक बार फिर से ट्रोल किए जा रहे हैं। जिसके बाद से सोशल मीडिया यूजर्स उनका जमकर मजाक उड़ा रहे हैं। राहुल गांधी इन दिनों ट्विटर पर देश के पीएम नरेंद्र मोदी के खिलाफ जमकर हल्ला बोल रहे हैं। वह लगातार अपने ट्वीट के माध्यम से मोदी सरकार के काम करने के तरीकों पर सवाल उठा रहे हैं। लेकिन मंगलवार को किए एक ट्वीट में राहुल गांधी से एक बड़ी भूल हो गई। जिसके बाद सोशल मीडिया पर वह लगातार ट्रोल हो रहे हैं। दरअसल, राहुल गांधी ने ट्वीट के जरिए पीएम मोदी के खिलाफ कुछ सवाल उठाए। इन सवालों में रहुल के आकड़ों में बड़ी गड़बड़ थी। जिसके बाद केंद्रीय मंत्री जितेंद्र सिंह ने राहुल गांधी पर चुटकी लेते हुए कहा कि पहले आप अपना ज्ञान बढ़ाइए। लगता है आपने ट्वीट करने से पहले होमवर्क ठीक तरीके से नहीं किया है। महंगाई के मुद्दे पर मोदी सरकार को कटघरे में लाने वाले राहुल गांधी ने अपने ट्वीट में सरकार के कामों का हिसाब मांगते हुए ट्वीट किया।

OFFICE OF RG (फोटो सोर्स- ट्विटर)

राहुल ने लिखा ’22 सालों का हिसाब #गुजरात_मांगे_जवाब। प्रधानमंत्रीजी-7वां सवाल। इसके नीचे उन्होंने शायरा अंदाज में बीजेपी सरकार पर तंज कसना शुरू कर दिया। राहुल गांधी ने अपने ट्वीट के साथ एक ग्रैफिक्स का प्रयोग किया गया था। जिसमें साल दर साल बढ़ती मंहगाई के आकड़ों को दिखाया गया। लेकिन इन आकड़ों में चीजों के बढ़ते दामों को लेकर जो प्रतिशत दिखाया गया था वो रियल के मुकाबले काफी ज्यादा थे।

(फोटो सोर्स- ट्विटर)

उदाहरण के तौर पर अगर ग्रैफिक्स में सिलिंडर की कीमत 2014 में 414 रुपए बताई गई, जो 2017 तक बढ़ते हुए 742 रुपए हो गई है। अगर प्रतिशत की बात करें तो पुरानी कीमत और नए दाम में 79 प्रतिशत का फर्क है। लेकिन ग्रैफिक्स में इसे 179 प्रतिशत दिखाया गया है। इसी तरह दूसरी चीजों की कीमतों में भी ऐसा ही है। इसके बाद से लोगों ने राहुल गांधी के गणित के ज्ञान पर सवाल दागने शुरू कर दिए। ट्वीट करने के लगभग तीन घंटे बाद राहुल गांधी ने इसमें सुधार करते हुए प्रतिशत के बजाय बढ़त्तोरी दामों का फर्क रुपयों में दर्ज किया।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App

  1. No Comments.