ताज़ा खबर
 

मक्‍का मस्जिद मामला: बीजेपी बोली- देश से माफी मांगे सोनिया-राहुल, ओवैसी ने कहा- न्‍याय नहीं हुआ

एनआईए की विशेष अदालत से मक्का मस्जिद में विस्फोट मामले के पांचों आरोपियों के बरी होने की पृष्ठभूमि में भाजपा ने कांग्रेस की मंशा पर सवाल उठाते हुए कहा कि कुछ वोटों के लिए कांग्रेस पार्टी ने जिस प्रकार से हिन्दू धर्म को बदनाम करने का काम किया था, उसके लिए आज सोनिया गांधी और राहुल गांधी को पूरे देश से माफी मांगनी चाहिए
Author नई दिल्ली | April 16, 2018 17:14 pm
भाजपा प्रवक्ता संबित पात्रा ने संवाददाताओं से कहा कि आज कांग्रेस पार्टी के चेहरे पर से मुखौटा उतर गया है। कांग्रेस पार्टी जिस प्रकार से हिन्दू आंतकवाद के नाम पर हिन्दू धर्म को बदनाम कर तुष्टिकरण की राजनीति करने का काम कर रही थी उसका आज पर्दाफाश हो गया है ।

राष्ट्रीय जांच एजेंसी (एनआईए) की विशेष अदालत से मक्का मस्जिद में विस्फोट मामले के पांचों आरोपियों के बरी होने की पृष्ठभूमि में भाजपा ने कांग्रेस की मंशा पर सवाल उठाते हुए कहा कि कुछ वोटों के लिए कांग्रेस पार्टी ने जिस प्रकार से हिन्दू धर्म को बदनाम करने का काम किया था, उसके लिए आज सोनिया गांधी और राहुल गांधी को पूरे देश से माफी मांगनी चाहिए । भाजपा प्रवक्ता संबित पात्रा ने संवाददाताओं से कहा कि आज कांग्रेस पार्टी के चेहरे पर से मुखौटा उतर गया है। कांग्रेस पार्टी जिस प्रकार से हिन्दू आंतकवाद के नाम पर हिन्दू धर्म को बदनाम कर तुष्टिकरण की राजनीति करने का काम कर रही थी उसका आज पर्दाफाश हो गया है ।

उल्लेखनीय है कि विशेष एनआईए अदालत ने 2007 मक्का मस्जिद विस्फोट मामले में पांच आरोपियों को बरी कर दिया। उन्होंने आरोप लगाया कि कांग्रेस पार्टी ने ”भगवा आतंकवाद” शब्द गढ़कर देश के करोड़ों हिंदुओं का अपमान किया । भाजपा ने कहा कि वह अदालत के फैसले पर टिप्पणी नहीं करती लेकिन कांग्रेस पार्टी ने एनआईए की भूमिका पर सवाल उठाए हैं। उल्लेखनीय है कि कांग्रेस का कहना है कि जांच एजेंसियों की जांच पर जो एक भरोसा था, वह खत्म होता जा रहा है। दुर्भाग्य से केंद्र सरकार विरोधियों को डराने एवं धमकाने के लिए जांच एजेंसियों का दुरुपयोग कर रही है।

भाजपा प्रवक्ता संवित पात्रा ने कहा कि कांग्रेस आज कोर्ट के फैसले पर सवाल उठा रही है लेकिन 2जी घोटाला पर कोर्ट का फैसला उसके लिए ठीक था।उन्होंने कहा कि वह पूछना चाहते हैं कि कांग्रेस का यह दोहरा रवैया क्यों है। पात्रा ने कहा कि तुष्टीकरण की राजनीति और कुछ वोटों की खातिर देश के करोड़ों हिंदुओं की भावनाओं को आहत करने के लिए सोनिया गांधी और राहुल गांधी को माफी मांगनी चाहिए। भाजपा प्रवक्ता ने सवाल किया कि कुछ दिनों पहले राहुल गांधी रात के 12 बजे इंडिया गेट पहुंचे थे, क्या अब वे हिंदुओं से माफी मांगने के लिए आज रात इंडिया गेट पहुंचेंगे ? पात्रा ने आरोप लगाया कि कांग्रेस नेता एवं पूर्व केंद्रीय पी चिदंबरम और सुशील कुमार शिंदे ने ”भगवा आतंकवाद” का झूठा प्रचार कर देश के हिंदुओं का अपमानित किया था ।

उन्होंने दावा किया कि हिंदुओं को अपमानित करने का प्रशिक्षण उन्होंने सोनिया गांधी और राहुल गांधी से प्राप्त किया। भाजपा प्रवक्ता ने कहा कि अगर कांग्रेस पार्टी देश को तिल मात्र भी अपना मानती है तो इस विषय पर देश से क्षमा याचना करे । उन्होंने कर्नाटक के मुख्यमंत्री सिद्धरमैया पर भी पोपुलर फ्रंट आफ इंडिया से सांठगांठ करने का आरोप लगाया ।
उन्होंने कहा कि कर्नाटक के चुनाव में प्रदेश की जनता इसका जवाब देगी ।

वहीं एआईएमआईएम के अध्यक्ष असदुद्दीन ओवैसी ने आज आरोप लगाया कि 2007 के मक्का मस्जिद विस्फोट मामले को आतंकवाद निरोधक जांच एजेंसी एनआईए ने सही तरीके से अदालत में नहीं रखा। हैदराबाद से लोकसभा सदस्य ओवैसी ने माइक्रो ब्लॉगिंग साइट पर आरोप लगाए कि मक्का मस्जिद विस्फोट मामले में अधिकतर गवाह जून 2014 के बाद से मुकर गए और एनआईए ने या तो मामले को ठीक तरीके से अदालत में नहीं रखा जैसा कि उससे उम्मीद की जा रही थी या उसे राजनैतिक आकाओं ने ऐसा नहीं करने दिया।
ओवैसी ने कहा कि ‘‘मामले में न्याय नहीं हुआ है। अगर इस तरह से पक्षपातपूर्ण अभियोजन जारी रहा तो आपराधिक न्याय व्यवस्था पर सवाल खड़े होंगे।’’ ओवैसी ने कहा, ‘‘न्याय नहीं हुआ है। एनआईए और मोदी सरकार ने जमानत के खिलाफ अपील नहीं की जो आरोपियों को 90 दिन के अंदर दे दिए गए। यह पूरी तरह पक्षपातूपर्ण जांच थी जो आतंकवाद से लड़ने के हमारे संकल्प को कमजोर करेगी।’’ एनआईए की विशेष अदालत ने मामले में स्वामी असीमानंद सहित पांच लोगों को आज बरी कर दिया। विस्फोट में नौ लोगों की मौत हो गई थी और 58 जख्मी हो गए थे।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App