ताज़ा खबर
 

‘लेटर बम’ गिरा कांग्रेस से नाराजगी जताने वाले नेताओं को मनाएंगी सोनिया गांधी? मुलाकात के लिए शनिवार का दिन मुकर्रर

अभी यह साफ नहीं है कि इस बैठक में राहुल गांधी और प्रियंका गांधी मौजूद रहेंगे कि नहीं, लेकिन मीटिंग में कई ऐसे नेताओं के रहने की संभावना जताई जा रही है जो असंतुष्ट गुट के नहीं हैं।

कांग्रेस अध्यक्ष सोनिया गांधी। (फोटो- इंडियन एक्सप्रेस)

कांग्रेस पार्टी में उच्च स्तरीय संगठनात्मक बदलाव समेत कई मुद्दों को लेकर पिछले अगस्त में पत्र लिखकर आवाज उठाने वाले पार्टी के कथित असंतुष्ट नेताओं को मनाने और पार्टी को एकजुट करने के लिए अध्यक्ष सोनिया गांधी आखिरकार आगे आ ही गईं। इसको लेकर वह एक बैठक करने जा रही हैं। इसमें पार्टी के कथित ‘विद्रोहियों’ और ‘असंतुष्टों’ को साथ में बैठाकर सभी मुद्दों पर चर्चा की जाएगी।

बताया जा रहा है कि लगातार विद्रोह और कार्यकर्ताओं के गिरते मनोबल को देखते हुए सोनिया गांधी ने इस शनिवार को इन नेताओं से मिलने का वक्त दिया है। हालांकि पत्र में हस्ताक्षर करने वाले सभी असंतुष्ट नेता इस बैठक में शामिल नहीं हो पाएंगे। केवल 5 या 6 लोगों का कोर ग्रुप ही मौजूद रहेगा। इस पूरी कवायद के पीछे मध्य प्रदेश के पूर्व सीएम कमल नाथ की सक्रियता को प्रमुख वजह मानी जा रही है। सूत्रों के मुताबिक इसके लिए कमलनाथ कई दिनों से सोनिया गांधी को राजी करने में जुटे हैं।

कुछ समय पहले पार्टी के 23 नेताओं के हस्ताक्षर से सामूहिक रूप से एक पत्र लिखा गया था। इस पत्र में पार्टी में संगठनात्मक बदलाव करने और अन्य मुद्दों को लेकर आवाज उठाई गई थी। अब शनिवार की बैठक में इस मुद्दे पर आपसी सुलह की कोशिश करने के साथ ही असंतुष्ट नेताओं की नाराजगी भी दूर करने का प्रयास किया जाएगा। अभी यह साफ नहीं है कि इस बैठक में राहुल गांधी और प्रियंका गांधी मौजूद रहेंगे कि नहीं, लेकिन मीटिंग में कई ऐसे नेताओं के रहने की संभावना जताई जा रही है जो असंतुष्ट गुट के नहीं हैं।

सूत्रों का कहना है कि कमलनाथ ने अगस्त में लिखे गए पत्र में तथाकथित असंतुष्ट नेताओं के उस मुद्दे पर अपनी सहमति जताई है, जिसमें पार्टी के पतन की बात कही गई है। पत्र में “सक्रिय और वर्तमान नेतृत्व” पर विचार करने का आह्वान किया गया था।

Next Stories
1 गौरव भाटिया ने कहा- राहुल गांधी नहीं आते इसलिए नहीं हो रहा संसद सत्र, डिबेट में कांग्रेस प्रवक्ता ने दिया जवाब
2 किसान आंदोलन: ‘3 कानून बिना वोटिंग राज्यसभा में कराया पास’, इतना बोल CM अरविंद केजरीवाल ने विधानसभा में फाड़ दिया कृषि बिल
3 Whatsapp ने दिया झटका! नए साल में ये Android और iOS Phone यूजर्स नहीं कर पाएंगे इस्तेमाल
ये पढ़ा क्या?
X