ताज़ा खबर
 

सोनिया ने धर्मनिरपेक्षता की हिफाजत के लिए मांगा वोट

जम्मू कश्मीर विधानसभा चुनाव के लिए पार्टी के पक्ष में प्रचार करते हुए कांग्रेस अध्यक्ष सोनिया गांधी ने शुक्रवार को भाजपा पर निशाना साधा और कहा कि कुछ ताकतों का न तो कोई कार्यक्रम और न ही कोई नीति और सत्ता के लिए वे किसी के साथ भी हाथ मिला सकते हैं। गांधी कश्मीरी पृथकतावादियों […]

Author November 22, 2014 09:26 am
नेहरू..गांधी परिवार पर हमला जारी रखते हुए स्मृति ने कहा कि अमेठी में राहुल से हारने के बावजूद उन्होंने अपनी जेब से प्रधानमंत्री सुरक्षा बीमा योजना के तहत अमेठी के 25 हजार निवासियों का पहला प्रीमियम चुकाया है।

जम्मू कश्मीर विधानसभा चुनाव के लिए पार्टी के पक्ष में प्रचार करते हुए कांग्रेस अध्यक्ष सोनिया गांधी ने शुक्रवार को भाजपा पर निशाना साधा और कहा कि कुछ ताकतों का न तो कोई कार्यक्रम और न ही कोई नीति और सत्ता के लिए वे किसी के साथ भी हाथ मिला सकते हैं। गांधी कश्मीरी पृथकतावादियों के साथ मुलाकात करने को लेकर प्रत्यक्षत: भाजपा पर निशाना साध रही थीं।

उन्होंने यहां एक चुनावी रैली को संबोधित करते हुए लोगों से धर्मनिरपेक्षता की हिफाजत के लिए कांग्रेस के पक्ष में वोट करने का आह्वान करते हुए कहा कि लोगों को उन ताकतों से सावधान रहना चाहिए, जिनका न तो कोई कार्यक्रम है और न ही कोई नीति। ये लोग वोट बैंक और सत्ता के लिए किसी के साथ भी हाथ मिला सकते हैं। कांग्रेस अध्यक्ष ने आरोप लगाया कि भाजपा अपनी विभाजनकारी नीतियों से देश को बांट रही है।
सोनिया ने कहा कि कांग्रेस एक कैडर आधारित पार्टी है, जबकि भाजपा हर किसी की पूंजी बेच रही है। उन्होंने कहा- वे हमें जाति, नस्ल, क्षेत्र और धर्म की तर्ज पर बांट रहे हैं। आप लोगों से ज्यादा इस बात को कौन समझ सकता है कि जिनके कोई कार्यक्रम और नीतियां नहीं हैं, वे किसी के साथ भी हाथ मिलाने के लिए किसी भी स्तर तक जा सकते हैं। इसलिए आपको विभाजक राजनीति में शामिल इन लोगों से सावधान रहना चाहिए और वक्त का तकाजा यही है।
सोनिया ने कहा- कांग्रेस एक ऐसी पार्टी है, जो सभी धर्मों, जातियों और नस्ल के लोगों को विकास के रास्ते पर और उनके अधिकारों के लिए संघर्ष के रास्ते पर साथ लेकर चलती है। कांग्रेस नेता ने कहा कि सांप्रदायिक ताकतों के खिलाफ संघर्ष के लिए उनकी पार्टी ने राज्य में नेशनल कांफ्रेंस के साथ गठबंधन किया। उन्होंने कहा कि इन सांप्रदायिक ताकतों को हराने के लिए हमने यहां गठबंधन बनाया। कई बार विचारों को लेकर टकराव हुआ, लेकिन बहरहाल हम अपने एजंडे को पूरा करने और राज्य का विकास सुनिश्चित करने में सफल रहे। सोनिया ने कहा कि देश की अखंडता और धर्मनिरपेक्षता के लिए कांग्रेस को वोट दें।

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने 10 नवंबर को जम्मू कश्मीर के पूर्व पृथकतावादी सज्जाद लोन से मुलाकात की थी।
जनसभा में कांग्रेस अध्यक्ष सोनिया गांधी ने अपनी पार्टी के पूर्व सहयोगी दल नेशनल कांफ्रेंस पर पिछले छह वर्षों में पहली बार निशाना साधते हुए कहा कि हमने सरकार चलाने के लिए उन्हें पूरा समर्थन दिया लेकिन उन्होंने खाद्य सुरक्षा विधेयक सहित हमारे कार्यक्रम और योजनाओं को राज्य में लागू नहीं किया।

राज्यसभा में विपक्ष के नेता गुलाम नबी आजाद, कांग्रेस महासचिव अंबिका सोनी और प्रदेश पार्टी प्रमुख सैफुद्दीन सोज से घिरी सोनिया ने लोगों से कहा कि नेशनल कांफ्रेंस नीत सरकार ने इन कुछ कार्यक्रमों को लागू नहीं करके लोगों को लाभों से वंचित किया है।

सोनिया ने जोर देकर कहा कि कांग्रेस के एक बार फिर राज्य की सत्ता में आने पर खाद्य सुरक्षा विधेयक को लागू किया जाएगा ताकि यह सुनिश्चित हो सके कि गरीब से गरीब को भी सबसिडी वाली खाद्य सामग्री मिल सके। उन्होंने कहा कि कांग्रेस का राज्य के साथ मजबूत रिश्ता है। चाहे खुशी हो, गम हो या मुश्किल समय हो कांग्रेस पार्टी हमेशा ही जम्मू कश्मीर के लोगों के साथ रही है। हम भविष्य में भी आपके साथ रहेंगे।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App