ताज़ा खबर
 

पुलिस को सोमनाथ भारती के ‘गुमशुदा डॉन’ की तलाश

‘कुत्ता कहां है? जांच के लिए वह बहुत जरूरी है। लेकिन वह अब तक लापता है, हमें उसे ढूंढ़ना ही होगा।’ यह दिल्ली पुलिस है, जो दिल्ली के पूर्व कानून मंत्री और आप विधायक सोमनाथ भारती के खिलाफ उनकी पत्नी लिपिका मित्रा की ओर से दायर किए गए घरेलू हिंसा के मामले में भारती के लैबरडॉर कुत्ते को हिरासत में लेने के लिए दिन-रात एक किए दे रही है।

somanth bharti, AAP, aam aadmi party, somnath bharti case, case on somnath bharti, delhi police, delhi newsदिल्‍ली के पूर्व कानून मंत्री सोमनाथ भारती

‘कुत्ता कहां है? जांच के लिए वह बहुत जरूरी है। लेकिन वह अब तक लापता है, हमें उसे ढूंढ़ना ही होगा।’

यह दिल्ली पुलिस है, जो दिल्ली के पूर्व कानून मंत्री और आप विधायक सोमनाथ भारती के खिलाफ उनकी पत्नी लिपिका मित्रा की ओर से दायर किए गए घरेलू हिंसा के मामले में भारती के लैबरडॉर कुत्ते को हिरासत में लेने के लिए दिन-रात एक किए दे रही है। सोमवार को दिल्ली की एक अदालत में सोमनाथ भारती की अग्रिम जमानत याचिका का विरोध करते हुए पुलिस ने कहा कि इस मामले की जांच में भारती के पालतू कुत्ते का मिलना बहुत अहम है क्योंकि डॉन (कुत्ते) ने कथित तौर पर सोमनाथ भारती के उकसाने पर लिपिका को काटा था। लिपिका तब गर्भवती थीं।

विशेष सरकारी अभियोजक शैलेंद्र बब्बर ने कहा, ‘मामले में शिकायत दर्ज किए जाने के बाद से ही वह (कुत्ता) लापता है। जांच में उसका मिलना बहुत जरूरी है। हमनें भारती के घर और दफ्तर पर तलाशी ली है। लेकिन कोई नतीजा नहीं निकला। हमें उसे खोजना ही है। भारती जानते हैं कि वह कहां है। कुत्ते के दांतों के निशान से यह साबित हो सकेगा कि अभियुक्त ने पीड़िता को कटवाने के लिए कुत्ते को कैसे उकसाया था।’ इस पर भारती के वकील विजय अग्रवाल ने टोकते हुए पूछा कि कल को क्या आप कुत्ते से भी सवाल-जवाब करेंगे?

अपनी शिकायत में लिपिका ने कहा है कि ‘भारती ने कुत्ते से मुझे कटवाया। जब कुत्ते ने मुझ पर हमला किया तब सोमनाथ भारती वहीं खड़े रहे और देखते रहे। कुत्ते ने मुझे पेट में और कई अन्य हिस्सों पर काटा। भारती ने क्रूरता की सारी हदें पार कर दीं और मुझे तत्काल कोई प्राथमिक चिकित्सा तक मुहैया नहीं करवाई।’

इस बीच इस मामले में भारती के खिलाफ गैर जमानती वारंट जारी कर दिया गया है। इससे पहले अदालत ने उनकी अग्रिम जमानत याचिका खारिज कर दी। अब कभी भी भारती की गिरफ्तारी हो सकती है। सूत्रों के मुताबिक भारती मंगलवार को हाई कोर्ट जाने की तैयारी कर रहे हैं। अदालत ने भारती की अग्रिम जमानत याचिका जैसे ही खारिज की, दिल्ली पुलिस ने मेट्रोपोलिटन मजिस्ट्रेट मणिका के समक्ष गैर जमानती वारंट जारी किए जाने की मांग को लेकर आवेदन दायर कर दिया, जिसे मंजूरी भी मिल गई। इसके तुरंत बाद पुलिस ने भारती की तलाश तेज कर दी है और भारती के ठिकानों पर छापेमारी शुरू कर दी गई।

बहरहाल, भारती के लिए सोमवार का दिन भागमभाग का रहा। सोमवार को वे अग्रिम जमानत के लिए अतिरिक्त सत्र न्यायाधीश संजय गर्ग की अदालत में पहुंचे। इनके वकील ने सोमनाथ भारती को एक जिम्मेदार नागरिक बताते हुए कहा कि भारती न केवल विधि के पेशे से हैं बल्कि दिल्ली के कानून मंत्री रह चुके हैं।

वे भाग नहीं सकते। लिहाजा उन्हें गिरफ्तारी से बचने के लिए अग्रिम जमानत की मंजूरी मिलनी चाहिए। उन्होंने दावा किया कि भारती पुलिस जांच में पहले से ही सहयोग देते आ रहे हैं। इसका अभियोजन पक्ष ने जोरदार विरोध किया। पुलिस ने दावा किया कि भारती पर गैर जमानती वारदात का आरोप है और प्राथमिकी दर्ज होने के बाद से ही वे अपने ठिकाने पर नहीं हैं। उन्होंने पुलिस की नोटिस को तवज्जो नहीं दी है और नोटिस पर नहीं आए।

भारती की अग्रिम याचिका अतिरिक्त सत्र न्यायाधीश संजय गर्ग ने खारिज करते हुए कहा कि विधायक के खिलाफ उनकी पत्नी लिपिका मित्रा ने यह दूसरी शिकायत दर्ज कराई है। लिपिका का आरोप है कि महिला अपराध विरोधी शाखा के समक्ष भरोसा देने के बावजूद भारती ने अपने व्यवहार में सुधार नहीं किया। भारती की अग्रिम जमानत याचिका खारिज करते हुए जज ने कहा कि यह कहना तर्कसंगत है कि शिकायतकर्ता की ओर से यह दूसरी शिकायत दर्ज कराई है।

पहले की शिकायत 17 अक्तूबर, 2011 की तिथि वाली है, जिसे महिला विरोध अपराध प्रकोष्ठ के समक्ष अपीलकर्ता (भारती) की ओर से आश्वासन दिए जाने के बाद उन्होंने (लिपिका) आगे नहीं बढ़ाया। उन्होंने कहा कि ऐसा आरोप है कि अपीलकर्ता ने अपने आचरण में सुधार नहीं किया और शिकायतकर्ता के प्रति बर्बरता जारी रखी। तथ्यों को संपूर्णता में देखते हुए अपीलकर्ता अग्रिम जमानत के हकदार नहीं हैं। इसके मुताबिक आवेदन खारिज किया जाता है।

पिछले हफ्ते भारती के खिलाफ लिपिका मित्रा की शिकायत पर पुलिस ने मामला दर्ज किया है। लिपिका ने भारती पर घरेलू हिंसा के आरोप लगाए हैं। भारती के खिलाफ द्वारका (उत्तर) के थाने में बुधवार को आइपीसी की धारा 307 (हत्या की कोशिश) और 498 (ए) (साथी के साथ क्रूरता) और 323 (जानबूझकर नुकसान पहुंचाने) के तहत प्राथमिकी दर्ज की गई।

इसी साल जून में लिपिका ने सोमनाथ भारती पर मारपीट और उत्पीड़न समेत कई गंभीर आरोप लगाए थे। इससे पहले यह मामला महिला आयोग में जा चुका है। लिपिका का कहना था कि भारती उनके साथ 2010 से मारपीट कर रहे हैं। इससे पहले भी सात जुलाई अदालत ने भारती की अंग्रिम जमानत की याचिका खारिज कर दी थी। तब उनके खिलाफ प्राथमिक दर्ज नहीं हुई थी।

Next Stories
1 बिहार में हर मतदान केंद्र पर तैनात होंगे केंद्रीय बल
2 मांझी: अब पूरी तरह संतुष्ट
3 Bihar Elections 2015 भाजपा उम्मीदवारों की पहली सूची आज: मतभेद मिटे, माने मांझी
ये पढ़ा क्या?
X