ताज़ा खबर
 

Kerala Solar Scam: मुख्‍य आरोपी सरिता का दावा- चांडी से पारिवारिक रिश्‍ते, घर के किचन तक थी पहुंच

केरल के सीएम ओमन चांडी सोलर पैनल घोटाले की मुख्‍य आरोपी सरिता से अपने रिश्‍तों को कई बार नकार चुके हैं।

द इंडियन एक्सप्रेस से बात करते हुए सरिता ने कहा,” मैं उनके( चांडी) और उनके परिवार के लिए अंजान नहीं थी। मुझे किसी भी समय उनके घर आने-जाने की इजाजत थी। मैं उनके घर अक्सर आती-जाती रहती थी।”

सोलर स्कैम की मुख्य आरोपी सरिता एस नायर ने केरल के मुख्यमंत्री ओमन चांडी से अपने कथित संबंधों को लेकर नए दावे किए हैं। करीब हफ्ते भर पहले जांच आयोग के सामने चांडी ने कहा था कि वो सरिता से सिर्फ तीन बार ही मिले हैं। उनके इस बयान पर सरिता ने दावा किया है कि उनके केरल के मुंख्यमंत्री ओमन चांडी से पारिवारिक रिश्ते रहे हैं और वो उनके घर भी अक्सर आती-जाती रही हैं।

द इंडियन एक्सप्रेस से बात करते हुए सरिता ने कहा,” मैं उनके( चांडी) और उनके परिवार के लिए अंजान नहीं थी। मुझे किसी भी समय उनके घर आने-जाने की इजाजत थी। मैं उनके घर अक्सर आती-जाती रहती थी। उनके घर में किचन तक मेरी पहुंच थी। मेरा घर और उनके बंगले में सिर्फ दो किलोमीटर का फासला था।” इस दावे के विषय में जब चांडी से बात की गई तो उन्होंने इस दावे को खारिज करते हुए कहा कि मीडिया इन दिनों सरिता के आरोपों को जरूरत से ज्यादा तवज्जो दे रही है।

सरिता का कहना है कि 2011 में सोलर स्कैम मामले में धोखाधड़ी के आरोप में 6 महीने जेल में बिताने के बाद जब वो बेल पर बाहर आई थीं, उसी समय ओमन चांडी और उनके परिवार के साथ उनकी निकटता बढ़ी थी। उन्होंने कहा, “2011 के आखिरी महीनों में उनकी पत्नी मारियामा बेहद बीमार हो गई थीं। डाक्टर ने उन्हें बेड रेस्ट की सलाह दी थी। तब मैं उन्हें देखने अक्सर उनके घर जाया करती थी। बीमारी के उन दिनों में मैं उनकी सेवा करना चाहती थी लेकिन निजी कामों के कारण मैं बेहद व्यस्त थी लेकिन फिर भी जब भी संभव हो पाता था मैं उन्हें देखने जरूर जाती थी। मुझे वहां सब लक्ष्मी नाम से पुकारते थे। मेरे दोस्त और पारिवारिक लोग मुझे इसी नाम से पुकारते हैं। मुझे मुख्यमंत्री आवास में प्रवेश पाने के लिए कभी पास की भी आवश्यकता नहीं पड़ी क्योंकि मैं वहां पारिवारिक सदस्य जैसी थी। अगस्त 2012 में मारीयामा ने एक प्रार्थना सभा का आयोजन किया था जिसमें बेहद करीबी महिलाएं ही शामिल हुई थी। मैं भी उस सभा में शामिल हुई थी यहां तक कि मेरे लिए भी प्राथना की गई थी।”

चांडी के पोते का भी जिक्र
सरिता ने बताया कि  चांडी की बेटी मारिया का बेटा घर आने वाले सभी लोगों के साथ फुटबॉल खेलता था। वहां अक्सर काफी लोगो आते जाते रहते थे। मैंने कभी पूरे परिवार को एक साथ लंच करते नहीं देखा। हर कोई अपने काम में व्यस्त रहता था जिसको जब जरूरत होती थी वो किचन में जाकर खुद खाना ले लेता था। सरिता ने एक और वाक्य का जिक्र करते हुए बताया, “2013 की एक सुबह जब मैं अपने होम टॉउन से लौट रही थी तब चांडी ने 7.30-8 बजे के करीब अपने गनमैन के फोन से कॉल करवाकर चाय के लिए बुलाया था। लेकिन अपने दूसरे कामों के चलते मैं उस दिन नहीं पहुंच पाई थी। मैं दो बार अपनी बेटी के साथ भी उनके घर जा चुकी हूं।”

Read Also: बीजेपी ने सोनिया और राहुल पर लगाया चांडी को सरंक्षण देने का आरोप

बयान बदलते रहे हैं चांडी
स्लोर स्कैम के आरोपो में फंसी सरिता ने शुरुआती जांच में चांडी को अपने पिता जैसा बताया था। साथ ही उनसे किसी प्रकार की व्यवसायिक मदद नहीं लेने की बात कही थी, लेकिन 27 जनवरी को जांच आयोग के सामने सरिता ने यह कह कर सबको चौंका दिया कि उन्होंने सोलर पॉवर प्रोजेक्ट पाने के लिए ओमन चांडी को 1.90 करोड़ रुपये की रिश्वत दी थी। अब तक चांडी सरिता के साथ अपने कथित संबंधो को बारे में करीब आधा दर्जन बार बयान बदल चुके हैं। सबसे पहले चांडी ने कहा कि वो सरिता एस नायर को बिल्कुल नहीं जानते लेकिन उनके साथ एक फोटो सार्वजनिक होने के बाद उन्हें अपने बयान से पीछे हटना पड़ा। तब उन्होंने माना कि वो सरिता को लक्ष्मी नायर के नाम से जानते हैं लेकिन इससे ज्यादा वो उनके बारे में कुछ नहीं जानते। इसके बाद सरिता ने जांच आयोग के सामने बयान दिया कि वो 27 दिसंबर 2012 को चांडी से दिल्ली में मिली थी और इसी दिन उन्होंने दिल्ली में चांडी के निजी सहयोगी थॉमस कुरुविला को 1.10 करोड़ी रुपए दिए थे।

Read Also: महिला से संबंधों के चलते सीएम के बेटे की ब्‍लैकमेलिंग

Next Stories
ये पढ़ा क्या?
X