ताज़ा खबर
 

तस्लीमा नसरीन ने पोस्ट की एआर रहमान की बेटी की बुर्के में फोटो, लिखा- मेरा दम घुटता है, खातिजा ने दिया करारा जवाब

खातिजा ने तसलीमा नसरीन की ट्वीट का स्कीनशॉट शेयर किया और लिखा कि यहां देश में काफी कुछ हो रहा है और लोग महिला के पहनावे के एक कपड़े से चिंतित हैं।

लेखिका तलसीमा नसरीन। (Express File Photo)

जानी-मानी लेखिका तलसीमा नसरीन ने संगीतकार एआर रहमान की बेटी खातिजा की बुर्के में फोटो पोस्ट कर लिखा कि इससे मेरे दम घुटता है। इसके बाद खातिजा ने भी उन्हें करारा जवाब दिया। तसलीमा ने ट्वीट किया, “मुझे ए आर रहमान का संगीत बहुत पसंद है। लेकिन जब भी मैं उनकी प्यारी बेटी को देखती हूं, मुझे घुटन महसूस होती है। यह वास्तव में निराशाजनक है कि एक सांस्कृतिक परिवार में शिक्षित महिलाएं भी बहुत आसानी से ब्रेनवॉश हो सकती हैं।” इस ट्वीट को अब तक 1800 से ज्यादा बाद रिट्वीट किया चुका है। छह हजार से ज्यादा लोगों ने इसे लाइक किया है।

खातिजा टि्वटर पर नहीं हैं लेकिन इंस्टाग्राम पर वे काफी एक्टिव रहती हैं। यहां उनके 33 हजार से ज्यादा फॉलोअर हैं। उन्होंने तसलीमा नसरीन की ट्वीट का स्कीनशॉट शेयर किया और लिखा, “यहां देश में काफी कुछ हो रहा है और लोग महिला के पहनावे के एक कपड़े से चिंतित हैं, जो वह पहनना चाहती है।”

खातिजा ने आगे लिखा, “प्रिय तसलीमा नसरीन, मुझे खेद है कि आपको मेरे पहनावे से घुटन महसूस होती है। कृपया कुछ ताजी हवा प्राप्त करें, क्योंकि मैं जो कुछ भी करती हूं, उसके लिए मुझे गर्व है। मैं आपको सुझाव देती हूं कि वास्तविक नारीवाद का अर्थ जानने के लिए गूगल करें क्योंकि यह न तो अन्य महिलाओं को परेशान करता है और न हीं उनके पिता को इस मुद्दे पर लाता है।”

खातिजा ने नसरीन के ट्वीट के संबंधित कई कहानियां अपने इंस्टाग्राम प्रोफाइल शेयर की और इस पर अपनी प्रतिक्रिया दी। उनमें से ज्यादातर उसकी पंसद, इच्छा और स्वतंत्रता को लेकर थे। हालांकि इसके बाद नसरीन ने फिर से अपने ट्वीट में खतीजा का जिक्र नहीं किया, लेकिन उन पर परोक्ष रूप से कटाक्ष किया।

नसरीन ने ट्वी किया, “धर्म से मुक्ति के बिना धर्म की कोई स्वतंत्रता नहीं हो सकती।” एक और ट्वीट में तसलीमा ने कहा, “बुर्कावालियां सशक्त हैं। युद्ध शांति है। स्वतंत्रता गुलामी है। अनभिज्ञता ही शक्ति है।”

Next Stories
1 6-7 पुलिसकर्मी थे तैनात फिर भी सैन्यकर्मी दलित दूल्हे की बारात पर हुई पत्थरबाजी, अगड़ी जाति के लोग घोड़ी चढ़ने का कर रहे थे विरोध
2 बीपीसीएल के निजी हाथों में जाने का रास्ता साफ
3 उड़ गई टोपी, गुम हुआ मफलर; माथे पर मंगल टीका
Coronavirus LIVE:
X